Tuesday, July 23, 2024
अंतरराष्ट्रीयउत्तर प्रदेशउत्तराखंडराष्ट्रीयस्पेशल

पीताम्बरी हुयी भगवान् राम की अयोध्या – 5 अगस्त को राम नाम से गूंजेगा आकाश 

चंद घंटो बाद दुनिया देखेगी जब अयोध्या में भगवान् श्री राम की विशाल जन्म भूमि पर मंत्रोच्चार के साथ शुरू होगा राम मंदिर के निर्माण का महायज्ञ …. एक ऐसे इतिहास को लोग करवट लेते देखेंगे जिसके लिए राम के अनुनायियों ने कई दशकों का लंबा संघर्ष किया है ….. सरयू के तट पर शंख बजेंगे राम नाम के जयकारे लगेंगे और पूरा भारत राममय हो जायेगा …..  जी हाँ अयोध्या में राम मंदिर का 5 अगस्त को भूमि पूजन होना है। भूमि पूजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत 200 विशेष मेहमान शामिल होंगे। भूमि पूजन के साथ राम मंदिर का निर्माण भी शुरू हो जाएगा। प्रशासन और राम जन्म भूमि न्यास ने भूमि पूजन की तैयारियां जोर शोर से शुरू कर दी हैं। कहीं अयोध्या पीली नजर आ रही है तो कहीं गुलाबी ….. 

 

सिर्फ अयोध्या ही नहीं आस पास के गांव भी रामनाम के सागर में डूब गए हैं। पूरी शहर को ‘पेंट माय सिटी’ अभियान के साथ पेंट किया जा रहा है। जय भीम टीवी पर हम आपको दिखा रहे हैं अद्भुत अयोध्या की ताज़ा रौनक और विश्व के सबसे बड़े पल की गवाह बनने से पहले कैसी दिख रही है राम जन्म भूमि… सबसे पहले आपको बता दें की अयोध्या को शुभ माने जाने वाले पीले रंग से रंगा जा रहा है। पूरे शहर में सड़क के दोनों तरफ के मकानों को पेंट किया जा रहा है। वहीं, दुकानों और चौराहों पर भी भगवान् राम से जुडी रंगत लौट आई है।  अयोध्या में जगह जगह पर भगवान राम और उनसे जुड़ीं या अन्य देवी देवताओं की पेंटिंग बनाई जा रही हैं।अवध यूनिवर्सिटी के फाइल आर्ट की 70 छात्राएं अयोध्या को सजाने में अपना सहयोग दे रही हैं। ये छात्राएं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का रोली चंदन तिलक लगाकार स्वागत करेंगी। अयोध्या में 25 केंद्र बनाए गए हैं। इनमें 4 अगस्त से रामचरित मानस का पाठ शुरू होगा। इसके अलावा मंदिर निर्माण के लिए मध्यप्रदेश, हिमाचल, असम, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक और बंगाल समेत अन्य राज्यों से 51 नदियों का जल लाया जा रहा है। इसके अलावा डाक के माध्यम से देश के तीर्थ स्थलों से मिट्टी भी लाई जा रही है। (भूमि पूजन के प्रसाद के लिए लड्डू भी बनाए जाने लगे हैं…… 

जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन करने अयोध्या आएंगे तो उन्हें हर तरफ त्रेता युग के जैसी तस्वीर देखने को मिलेगी। हर तरफ बहुरंगी छटा बिखेरे जाने की तैयारियां जोर-शोर से चल रही हैं । इस पल को ऐतिहासिक बनाने के लिए 3 से 5 अगस्त तक  दीपोत्सव मनाने की भी तैयारी चल रही है …. लिहाज़ा अयोध्या में सरयू के तटों पर लाखों दीप जलाए जलाएंगे। आपको यहाँ ये भी बता दें की जब  5 अगस्त को भूमि पूजन के दिन रामलला दर्शन देंगे उस वक़्त उन्हें हरे रंग का नवरत्न जड़ित वस्त्र पहनाया जाएगा ….  भगवान राम के अलावा तीनों भाई लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न और साथ-साथ हनुमानजी को भी नई पोशाक पहनाई जाएगी…

सुरक्षा भी इस भव्य आयोजन में बहुत बड़ी चुनौती है लिहाज़ा टॉप लेवल की सिक्योरिटी लगायी गयी है चप्पे चप्पे पर ड्रोन से निगरानी शुरू हो चुकी है इसके साथ ही कार्यक्रम के दौरान छतों पर स्नाइपर भी तैनात किए जा रहे हैं….

राम जन्मभूमि और हनुमानगढ़ी जाने वाले मार्ग के दोनों तरफ सभी भवनों की दीवारों पर त्रेता युग की झलक दिखलाते हुए रामायण कालीन प्रसंगों की आकृतियों को उकेरा जा रहा है। कहीं भगवान राम, सीता, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्नन, हनुमान जी और ऐसे ही त्रेता युग से जुड़ी तस्वीरों को आकृति प्रदान की जा रही है। इसके लिए कलाकारों की फौज जुटी हुई है। 

अब आपको ये भी बता देते हैं की इस भव्य राम मंदिर का स्वरुप कैसा होगा ..  एक शिखर और 5 मंडप वाले 3 मंजिला मंदिर में कुल 17 हिस्से होंगे. इन्हें शिखर, गर्भगृह, कलश गोपुरम रथ, मंडप और अर्थ मंडप, परिक्रमा तोरण, प्रदक्षिणा अधिष्ठान जैसे वर्गों में बांटा गया है. इसी मॉडल को आम जनता के लिए भी रखा जाएगा.

यानी भगवान् राम के बहुप्रतीक्षित भव्य मंदिर की आधारशिला का महा पर्व एक अद्भुत घटना होगी जिसको सिर्फ हमारे भारत देश में ही नहीं दुनिया के करोड़ों करोड़ लोग अपनी आँखों से सजीव देखेंगे 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *