Thursday, April 25, 2024
अंतरराष्ट्रीय

World Food Day 2021: जानिए 16 अक्टूबर को क्यों मनाया जाता है विश्व खाद्य दिवस

16 अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र संघ की 1945 में खाद्य एवं कृषि संगठन का स्थापना दिवस है, इसी के सम्मान में विश्वभर में प्रतिवर्ष विश्व खाद्य दिवस मनाया जाता है। इसके अलावा वर्ल्ड फ़ूड प्रोग्राम और अंतर्राष्ट्रीय कृषि विकास कोष द्वारा भी इसे व्यापक रूप से मनाया जाता है। दरअसल, विश्व खाद्य दिवस की नींव 1979 में 20वें महासम्मेल में रखी गई थी, खाद्य और कृषि संगठन (FAO) के सदस्य राज्यों ने इसका प्रस्ताव रखा था।

संयुक्त राष्ट्र संगठन (UN Organization) की महासभा के 5 नवंबर 1980 को इसकी पुष्टि की, सदस्यों राज्यों के प्रस्ताव पर सहमति के बाद 16 अक्टूबर 1981 को विश्व खाद्य दिवस घोषित किया गया, इसके बाद से हर साल 16 अक्टूबर को वर्ल्ड फूड डे के रूप में मनाया जाता है।

भोजन हर एक व्यक्ति का मौलिक अधिकार है, चाहे कोई व्यक्ति गरीब तबके का भी क्यों न हो, खाने पर सब का हक़ है। खाने को हर व्यक्ति का बुनियादी अधिकार मानते हुए आज का दिन मनाया जाता है। कोई भी व्यक्ति भूका नहीं रहना चाइये। लोगों को खाने की एहमियत समझाने के साथ-साथ खाने की बर्बादी को रोकना भी विश्व खाद्य दिवस को मनाने के पीछे की एक वजह है…

1965 में हुई थी भारतीय खाद्य निगम की स्थापना
भारतीय खाद्य निगम भारत सरकार द्वारा निर्मित और संचालित एक वैधानिक निकाय है । इसके शीर्ष अधिकारी को अध्यक्ष के रूप में नामित किया जाता है जो आईएएस कैडर का एक सिविल सेवक होता है । इसकी स्थापना 1965 में हुई थी और इसका प्रारंभिक मुख्यालय चेन्नई में था । बाद में इसे नई दिल्ली ले जाया गया… राज्यों की राजधानियों में इसके क्षेत्रीय केंद्र भी हैं। राज्य के महत्वपूर्ण क्षेत्र जिला केंद्रों के रूप में भी काम करते हैं.. इसका मुख्य कार्य खाद्यान्न एवं अन्य खाद्य पदार्थों की खरीद, भंडारण, परिवहन, वितरण और बिक्री करना है..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *