Saturday, April 13, 2024
अल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19चमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदेहरादूननैनीतालपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरराजनीतिराज्यराष्ट्रीयरुद्रप्रयागहरिद्वार

“उत्तराखंड रैबार” में जानिए किसने भेजा पीएम मोदी को सब्जी का टोकरा 

दीपावली मिलन समारोह में अधिकारियों ने दी सीएम को बधाई 
 
धनतेरस और दीपावली के खुशियों को साझा करने के लिए आज मुख्यमंत्री आवास अलग ही रंग में दिखाई दिया …. प्रदेश के सभी बड़े अधिकारी और शासन के मुखिया मुख्य सचिव ओम भी गुलदस्ते के साथ सीएम आवास पहुंचे और दीपावली मिलन के अवसर पर मुख्यमंत्री को बधाई दी।  इस दौरान सीएम हाउस में सभी सीनियर आईएएस, आईपीएस एवं आईएफएस अधिकारियों ने धनतेरस एवं दीपावली की एक दूसरे को शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने भी सभी अधिकारियों  को धनतेरस व दीपावली की बधाई देते हुए उनके कामकाज की सराहना की। इस ख़ास कार्यक्रम में जहाँ  मुख्य सचिव ओम प्रकाश मौजूद रहे वहीँ  अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, मनीषा पंवार, प्रमुख सचिव आनन्द वर्धन, पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी, डीजी लॉ एण्ड ऑर्डर अशोक कुमार, प्रमुख वन संरक्षक रंजना काला एवं वरिष्ठ अधिकारी कोरोना चुनौती के बीच थोड़ी देर के लिए ही सही लेकिन एक दूसरे के साथ त्यौहार के रंग में नज़र आये 

दीपावली के पटाखों से कोरोना हो सकता है ज्यादा घातक

कोरोना को लेकर लापरवाही अब उत्तराखंड पर भारी पड़ रही है। पहाड़ से लेकर मैदान तक, हर दिन मामले बढ़ रहे हैं। एक दिन पहले की बात करें तो उत्तराखंड में 451 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई थी । त्योहारी सीजन होने के कारण इस वक्त बाजारों में भारी भीड़ है। पुलिस टीम लगातार बाज़ारों में लोगों से शारीरिक दूरी का पालन करने की अपील कर रही है और लोगों से मास्क पहनने का सख्ती से पालन करने की बात समझा रहे हैं। लेकिन फिर भी लोग समझ नहीं पा रहे हैं कि इतनी सख्ती के बाद भी आखिर कैसे कोरोना के मामले तेजी से बढऩे लगे हैं। वहीँ डॉक्टर्स बताते हैं कि दीवाली पर जलने वाले पटाखों का धूंआ कोरोना वायरस को कई गुना घातक बना सकता है ….  पटाखों के धूएं से बनने वाला एलोशॉल जब वायरस के संपर्क में आएगा तो इससे वायरस को और ताकत मिलेगी। जिससे संक्रमित मरीज को गंभीर परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। लिहाज़ा हमारी भी अपील है कि आप पटाखों का इस्तेमाल करने से परहेज़ करें और कोरोना को रोकने में अपनी भागीदारी दें 

दीवाली से पहले लेटर बम फोड़ने वाले भाजपाई लाखीराम कौन हैं ?

उत्तराखंड की सियासत में लेटर बम अक्सर फूटते रहे हैं। भाजपा हो या कांग्रेस दोनों ही पार्टियों में बड़े बड़े नेताओं ने हमेशा पहाड़ से एक लेटर दिल्ली के आलाकमानों के दरबार में फोड़ते रहे हैं। इसी कड़ी में भाजपा नेता एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री लाखीराम जोशी ने जो लेटर बम मोदी दरबार में फोड़ा था वो अब उन्हें महंगा पड़ता दिख रहा  है और आज उन्हें भाजपा से निलंबित कर दिया गया है इतना ही नहीं पार्टी ने उन्‍हें कारण बताओ नोटिस भी थमा दिया है  जिसमें उनसे सात दिन के भीतर जवाब मांगा गया है। अब आपको ये बताने की ज़रूरत नहीं कि अचानक ये सब क्यों हुआ .. क्यूँकि बीते दो दिनों से एक चिट्ठी ने ये सारा बवाल खड़ा कर दिया है जो जुड़ी है सीधे मुख्यमंत्री से जिसमें उन्होंने प्रदेश सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए नेतृत्‍व परिवर्तन का प्रधानमंत्री से आग्रह किया गया है। पूर्व विधायक ने कहा कि इस तरह किसी का निष्कासन नहीं किया जा सकता। व्यवस्था के अनुसार पहले नोटिस देना पड़ता है। उसके बाद ही निष्कासन होता है… पुराने भाजपाई जोशी साल 1991 में टिहरी का चुनाव जीत कर विधान सभा पहुंचे थे हांलाकि 1993 में विधानसभा टिहरी का चुनाव हार गए लेकिन वापसी करते हुए फिर एक बार साल 1996 में टिहरी विधायक चुने गए इसके बाद साल  2000 में जब उत्तराखंड उत्तरप्रदेश से अलग हुआ तो  2001 की  अंतरिम सरकार में मंत्री भी बने थे …. इसके बाद कई साल गुमनामी में रहने वाले पूर्व मंत्री  जोशी का एक लेटर उन्हें प्रदेश में सुर्ख़ियों में ला चुका है  … देखना होगा की अब अपने बागी तेवर दिखने वाले जोशी पार्टी फॉर्म पर क्या सफाई पेश करेंगे और क्या पार्टी को वो मंजूर होगा ? 

उत्तराखंड कांग्रेस ने पीएम मोदी को भेजा सब्जियों का टोकरा  

दीपावली की खरीददारी के बीच कांग्रेसी महिला नेताओं ने आज देहरादून में प्रदर्शन और विरोध का नया तरीका अपनाया और लगातार बढती मंहगाई को मुद्दा बनाते हुए  उत्तराखण्ड महिला कांग्रेस के द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को मुख्यमंत्री के माध्यम से मंहगी सब्जियों का एक टोकरा भेजा है महिला कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भाजपा के शासन में मंहगाई अपने चरम पर है तथा आम आदमी का जीना दूभर हो चुका है। भाजपा नेतृत्व ने चुनाव के समय देश की जनता से मंहगाई पर नियंत्रण करते हुये आम आदमी को राहत देने का वायदा किया परन्तु आज मंहगाई घटने के बजाय दिन-दूनी रात चैगुनी वृद्धि कर रही है। कांग्रेसी महिला नेत्रियों  ने दीपावली पर इस तरह के अनोखे विरोध के साथ ही ये भी कहा कि सब्जी, अनाज, रसोई गैस, के दामों में लगातार हो रही वृद्धि से आम जन पीड़ित है। खाने पीने की चीजे  दाल, अनाज के दामों में कई गुना वृद्धि हो चुकी है। केन्द्र और उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि यह सरकार आम जनता की न होकर कुछ सरमायेदारों की सरकार है। मंहगाई की मार झेल रही गरीब जनता पर केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा लगातार मंहगाई का बोझ डालकर अब उसके पेट पर लात मारने का काम किया जा रहा है। ऐसे में अब महिलाएं सड़कों पर उतरेंगी और सरकार को मजबूर करेंगी कि वो जनता को राहत देने वाला फैसला करें   

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *