Saturday, May 18, 2024
अल्मोड़ाउत्तर प्रदेशउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19चमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदेहरादूननैनीतालपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरराजनीतिराज्यराष्ट्रीयरुद्रप्रयागहरिद्वार

यूपी और उत्तराखंड के मुख्यमंत्रियों ने बर्फ़बारी के बीच बद्री केदार में पूजा की , शीतकाल के लिए हुए बंद हुए कपाट 

आज भैया दूज है और विश्व प्रसिद्ध भगवान केदारनाथ के कपाट इस शुभ अवसर पर शीतकाल के लिए बंद हो गए हैं। अब आने वाले छह महीनों तक भगवान भोलेनाथ के दर्शन पंचगद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में भक्त कर सकेंगे। कपाट बंद होने के मौके पर जहाँ उत्तराखंड के मुख़्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत मौजूद सराहे वहीँ उत्तर प्रदेश के सीएम ने भी आज धाम में पूजा अर्चना कर आशीर्वाद लिया .. इस मौके पर केदारनाथ धाम में भारी बर्फबारी भी हुई।

आपको बता दें कि सुबह तड़के तीन बजे से मंदिर में विशेष पूजा अनुष्ठान आरम्भ हुआ और  मुख्य पुजारी शिव शंकर लिंग ने विधिवत अनुष्ठान संपन्न कराया । इसके बाद सुबह लगभग 8 बजकर 35 मिनट पर मंदिर का मुख्य कपाट पुलिस प्रशासन, देवस्थानम बोर्ड के अधिकारियों की मौजूदगी में बाबा केदार के जयकारे के साथ बंद कर दिए गए।

इसके बाद केदार बाबा की उत्सव डोली ने मंदिर की परिक्रमा की, जिसके बाद केदार बाबा की डोली अपने प्रथम पड़ाव रामपुर के लिए रवाना हो गई। इस अवसर पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत भी मौजूद थे मंदिर के कपाट बंद होने के अवसर पर पूरी केदार पुरी केदार बाबा के जयकारों से गूंज उठी। 

कपाट बंद होने के मौके पर केदार घाटी में  पर लगभग डेढ़ से दो हजार भक्त मौजूद थे, 18 नवंबर को पंच गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में भगवान विराजमान हो जाएंगे, जहां छह महीनों तक भक्तों भोले बाबा के दर्शन कर सकेंगे। कपाट बंद होने के मौके पर केदारनाथ में भारी बर्फबारी हुई। रविवार रात्रि से ही केदारनाथ में हल्की बूंदाबांदी और बर्फबारी होने लगी थी,  लेकिन सुबह तड़के 4:00 बजे से लगातार बर्फबारी का दौर चल रहा है, छह इंच से ऊपर बर्फ अब तक जम चुकी है।

योगी आदित्यनाथ ने एकीकृत मंदिर में की पूजा

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने केदारनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की, वही केदारनाथ मंदिर के कपाट बंद होने को लेकर सुबह तड़के 3:00 बजे से मंदिर में पूजा में चल रही है। आज सुबह लगभग 3:30 बजे योगी आदित्यनाथ केदारनाथ मंदिर पहुंचे तथा सुबह 6:00 बजे तक उन्होंने मंदिर में पूजा की। इसके बाद वह अपने विश्राम ग्रह गढ़वाल विकास निगम के अतिथि गृह में चले गए। वही मंदिर के कपाट बंद होने को लेकर सुबह से ही मंदिर के अंदर गर्भ ग्रह की पूजाएं मुख्य पुजारी शिव शंकर के द्वारा संपन्न कराई जा रही हैं। सुबह 8:30 बजे पूरे विधि विधान से केदारनाथ भगवान के कपाट शीतकाल के लिए बंद हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *