Sunday, March 3, 2024
कोविड 19राष्ट्रीय

ख़त्म नहीं हुआ है कोरोना का कहर, कोरोना संक्रमण के मामलों में अब भी हो रहा है उतार-चढ़ाव

कोरोना केस : कोरोना संक्रमण के मामलों में उतार-चढ़ाव अभी भी जारी हैं जहां पिछले कई दिनों में कोरोना के नए मामलें सामने आये हैं जिससे चिंता और बढ़ गयी है। बीते 24 घंटो में भी 20 हजार से ज्यादा नए मामले आये हैं, जबकि 318 लोगों ने अपनी जाने गवाई हैं। अच्छी खबर यह है की 24 हजार से भी ज्यादा मरीज ठीक भी हुए हैं। किसी दिन मरीजों के संक्रमण के मामले रफ़्तार से बढ़ रहे है तो किसी रोज केस काम भी हो रहे है। इस साल, भारत ने अप्रैल और मई के बीच कोविड केसलोएड में हानिकारक वृद्धि देखी, जब मामले एक दिन में बढ़कर 4 लाख हो गए। हालांकि, जैसे ही टीकाकरण अभियान ने जून के बाद से गति पकड़ी, परिणामस्वरूप संक्रमण का संचरण धीमा होता देखने को मिला …

भारतभर में नवरात्रि त्यौहार की शुरुआत हो चुकी है, ऐसे में सभी को सचेत रहने की जरूरत हैं। अगर पिछले हफ्ते की बात करे तो कोरोना के नए मामले 15 हजार के नीचे आ गए थे, लेकिन पिछले तीन दिनों से कोरोना की रफ़्तार तेज होती दिख रही है। मंगलवार को भी कोरोना के मामले 18 हजार के आसपास थे, लेकिन बुधवार को कोरोना के नए मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई। फिलहाल राहत की बात यह है कि एक्टिव केस के मामलों में गिनती कम होती जा रही है इसके साथ ही ठीक होने वाले मरीजों की संख्या में भी सुधार हुआ है। अब पूरे देश भर में एक्टिव केस सिर्फ 2.44 लाख के आसपास रह गए हैं, वहीँ अबतक ठीक हुए लोगों की संख्या कुल 3.32 करोड़ है। अब तक कुल कोरोना टीका 92.63 करोड़ हैं। बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए-22,431 हजार,   कुल ठीक हुए- 24,602 हजार,  कुल मौतें-318, कुल टीका-43.09 लाख है।

फिलहाल, देश में सबसे ज्यादा मामले केरल में ही हैं। राज्य में बुधवार को 12,616 ताजा कोरोनावायरस के मामले सामने आए और 134 लोगों की मौत हुई। दूसरी ओर, महाराष्ट्र में 24 घंटे में 2,876 नए कोरोनावायरस पॉजिटिव मामले सामने आए।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, आंध्र प्रदेश (8,754), असम (4,245), हिमाचल प्रदेश (1,477), जम्मू-कश्मीर (1,065), कर्नाटक (11,848), केरल (1,22,996), महाराष्ट्र (36,767), मणिपुर (1,777), ओडिशा (4,591), मेघालय (1,310), मिजोरम (16,075), तमिलनाडु (16,637) और पश्चिम बंगाल (7,91) ऐसे राज्य हैं जहां हजार से अधिक सक्रिय मामले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *