Saturday, May 18, 2024
उत्तराखंडराज्य

पुष्पांजलि बिल्डर्स के खिलाफ मुकदमा दर्ज़ , फ्लैट्स के नाम पर करोड़ों हड़प कर गायब होने का आरोप   

एक घर हो सपनो का …. एक आशियाना हो जिसमें लोग अपने ख्वाबों का रंग भर सके …. ये वो मुकाम है जिसको पाने के लिए लोग अपने ज़िंदगी भर की पूंजी खपा देते हैं ….. लेकिन देश में आये दिन ऐसी खबरे भी सामने आती रहती हैं जिसमें हज़ारों लोगों के सपनों पर भू माफिया और नामी गिरामी बिल्डर आग लगा रहे हैं….. 

एक ऐसा ही हाई प्रोफाइल मामला उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सामने आया है जिसमें दो चार नहीं अस्सी से ज्यादा लोगों के साथ करोङों का घपला कर पुष्पांजलि बिल्डर का डायरेक्टर दीपक मित्तल गायब है …. देहरादून के सबसे पॉश इलाके राजपुर रोड पर पुष्पांजलि बिल्डर्स के डायरेक्टर दीपक मित्तल की टीम ने ओर्चिड पार्क अपार्टमेंट्स बनाने की शुरूआत की और जब ढांचा खड़ा होने लगा तो पुष्पांजलि बिल्डर्स ने फ्लैट बुकिंग के नाम पर देश के कई राज्यों से कस्टमर तैयार किया और उनसे लग्जरी फ्लैट के नाम पर पहले तो करोड़ों रुपये इकठ्ठा किया और फिर जब कस्टमर्स ने कंस्ट्रक्शन साइट पर काम बंद पाया तो इन्क्वारी शुरू की लेकिन उनको कोई संतोषजनक जवाब बिल्डर्स की तरफ से नहीं मिला

 जल्द ही फ्लैट बुकिंग के नाम पर लाखों रूपये जमा कर चुके लोगों को समझ गया की उनके साथ धोखा किया जा रहा है लिहाज़ा पहले तो जमा किये रूपये वापस मांगे गए लेकिन महीनों बीत जाने के बाद जब फिर भी बात नहीं बनी तो बाकायदा पुष्पांजलि बिल्डर्स के डायरेक्टर दीपक मित्तल और उनके सहयोगियों के खिलाफ राजपुर रोड थाने में मुकदमा दर्ज़ कराया गया

जय भीम टीवी ने पुषपांजलि बिल्डर और उनकी  टीम पर सबसे पहला मुकदमा दर्ज़ करने वाली शिकायतकर्ता कविता भाटिया से एक्सक्लूसिव बात की जिसमें उन्होंने बिल्डर का पूरा काला चिटठा खोल कर बताया …. पीड़ित कविता भाटिया ने सीओ डालनवाला को पत्र लिखा था कि आरोपित बिल्डर दीपक मित्तल ने फ्लैट बुकिंग के नाम पर उनसे 57 लाख 95 हजार रुपये ले लिए और अब वह पैसे लेकर फरार हो गया है … जांच के बाद आरोप सही पाए जाने पर सीओ डालनवाला की देखरेख में एसआइटी गठित की, जिसमें इंस्पेक्टर देवेंद्र सिंह चौहान, राजपुर के थानाध्यक्ष राकेश शाह उप निरीक्षक विजय सिंह को शामिल किया है …..

इस हाई प्रोफाइल फ्रॉड के सामने आते ही डीआईजी अरुण मोहन जोशी  घपलेबाजी की जांच के लिए सीओ डालनवाला विवेक कुमार की देखरेख में एसआइटी गठित की और जल्द से जल्द पुष्पांजलि बिल्डर की मैनेजमेंट से पूंछताछ कर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए …. मामले पर डीआइजी अरुण मोहन जोशी  ने मीडिया को बताया कि अभी आरोपित की लोकेशन दुबई रही है। जब जय भीम टीवी ने ओर्चिड पार्क में बने इस खंडहर नुमा बिल्डिंग का दौरा किया तो वहां पुष्पांजलि के खंडहर नुमा ढांचा ही मिला जबकि दीपक मित्तल ने दावा किया था कि ओर्चिड पार्क अपार्टमेंट्स में आठ टावर बनाया जाएगा जिसमें  300 फ्लैट होंगे लेकिन आज क्या हालात हैं ये हम आपको दिखा रहे हैं 

 

जय भीम टीवी ने मामले में बनायीं गयी एसआईटी के हेड और सीओ डालनवाला विवेक कुमार से बात की तो उन्होंने जल्द कारवाही करने की बात कही है…

 

ये ऐसा पहला मामला नहीं है जब कस्टमर से फ्लैट बुकिंग के नाम पर लाखों करोड़ों हड़प कर कोई बिल्डर गायब हो गया हो …. इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि देहरादून में ज़मीन और फ्लैट्स से जुड़े धोखाधड़ी के मामले बड़ी संख्या में रोजाना पुलिस की चौखट पर पहुँच रहे हैं …. आलम ये है कि लोगों में बिल्डर्स के खिलाफ अविश्वास लगातार बढ़ने लगा है दबी जुबान कई एक्सपर्ट्स ये भी मानते हैं की यही हाल रहा तो और भी कई बिल्डर्स फरार हो जाए तो कोई हैरानी नहीं होगी 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *