Friday, June 14, 2024
festivalउत्तर प्रदेशराज्य

प्रयागराज में पुराहितों को मिल रही अनोखी दक्षिणा, जानिए क्या मिला दान में

प्रयागराज – उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में हर साल होने वाला माघ मेला जनवरी से शुरू हो चूका है। इस मेले में हिस्सा लेने के लिए दूर-दूर से श्रद्धालु आते हैं। हर साल बड़ी संख्या में लोग यहां एक महीने के कल्पवास में रहने के लिए आते हैं। कल्पवास का मतलब एक माह तक संगम के तट पर रहते हुए वेदाध्ययन और ध्यान पूजा करना है। कल्पवास पौष माह के 11वें दिन से प्रारंभ होकर माघ माह के 12वें दिन तक किया जाता है। मान्यता है कि कल्पवास करने से एक कल्प का पुण्य प्राप्त होता है।

इस दौरान यहां दान की भी प्रथा है और ये दान शैया दान के तहत दिए जाते हैं। जानकारी के लिये बता दें यहां से विदा होने से पहले लोग तीर्थ पुरोहितों को अपनी सामर्थ्य के अनुसार दान करते हैं। जिसकी मान्यता है कि कल्पवासी यहां जितना दान करता है उसे परलोक में उतना ही ज्यादा सुख मिलता है। खास बात यह है कि इस साल माघ मेले में आए श्रद्धालु तीर्थ पुरोहितों को दान में स्कूटी, स्मार्टफोन, लेपटॉप, फ्रिज, एलईडी टी.वी जैसी वस्तुओं का दान कर रहे हैं। बता दें की इन श्रद्धालुओं में विदेशी लोग भी शामिल है। पहले के समय में अमीर लोग हाथी घोड़े दान में दिया करते थे लेकिन अब श्रद्धालुओं ने दैनिक उपयोग की चीजें दान करना शुरू कर दिया है। अब तो कई बार कल्पवासी तीर्थ पुरोहितों से उनकी जरूरत की चीजों के बारे में पहले ही पूछ लेते हैं। ताकि वे उनकी जरूरत के मुताबिक वह चीज उन्हें दान कर सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *