Wednesday, July 17, 2024
उत्तराखंडदेहरादूनराष्ट्रीय

भारतीय सैन्य अकादमी पासिंग आउट परेड 2021 : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ली सलामी

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए शुक्रवार की श्याम को देहरादून पहुंचे। शुक्रवार को राष्ट्रपति कोविंद के देहरादून पहुंचने पर उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) गुरमीत सिंह, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने उनका जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर स्वागत किया। वर्ष 1971 से भारत पाकिस्तान के तीसरे युद्ध की जीत को 50 वर्ष पूरे होने के अवसर पर आयोजित हो रही परेड को यादगार बनाने की तैयारी कई दिनों पहले से की जा रही थी। भारतीय सैन्य अकादमी की परेड शनिवार 11 दिसंबर को आयोजित की गयी। जिसमे राष्ट्रपति ने आईएमए की पासिंग आउट परेड की समीक्षा की… साथ ही, पासिंग आउट परेड में हो रहे जेंटलमैन कैडेटों से सलामी ली।

आपको बता दें कि 8 दिसंबर को सीडीएस बिपिन रावत के निधन पर राजकीय शोक के चलते अकादमी को बीते दिन कमांडेंट परेड (फुल ड्रेस रिहर्सल परेड) को स्थगित करना पड़ा, साथ ही मुख्य पासिंग आउट परेड की पूर्व संध्या पर आयोजित होने वाले दो अन्य कार्यक्रम भी रद्द करने पड़े। इसके बाद पीओपी को सादगी से आयोजित करने का निर्णय लिया गया।

राष्ट्रपति सहित कमांडेंड लेफ्टिनेंट जनरल हरिन्द्र सिंह और स्क्वार्ड ऑफ ऑनर विजेता अनमोल गुरुंग भी परेड में मौजूद रहे। कार्यक्रम के दौरान आइएमए गीत ”भारत माता तेरी कसम तेरे सक्षक बनेगें हम” पर एकसाथ कदमताल करते जेंटलमैन कैडेट ड्रिल स्क्वायर पर पहुंचे। वहीँ, आइएमए में अंतिम पग भरते ही थलसेना को मिले 319 युवा अफसर, जो भारतीय सेना का हिस्सा बन गए। इसके साथ ही 68 विदेशी कैडेट भी पास आउट हुए। समारोह के दौरान राष्ट्रपति ने सभी कैडेट्स को पुरुस्कार से सम्मानित किया। आइएमए की पासिंग आउट परेड में राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने सीडीएस जनरल बिपिन रावत को याद किया। उन्होंने कहा कि हमारा झंडा हमेशा ऊंचा रहेगा, क्योंकि दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत जैसे बहादुर, यहीं से प्रशिक्षित हुए थे।

 

राष्ट्रपति ने इन्हें किया अवॉर्ड से सम्मानित :

• स्वॉर्ड ऑफ ऑनर – एसीए अनमोल गुरुंग
• ऑर्डर ऑफ मेरिट में स्वर्ण पदक – एसीए अनमोल गुरुंग
• रजत पदक – बीओ तुषार सपरा
• कांस्य पदक – बीसीए आयुष रंजन
• चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ बैनर – केरेन कॉय
• बांग्लादेश ट्रॉफी – बीओ सांगे फेनडेन दोरजी (भूटान)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *