Thursday, April 25, 2024
राष्ट्रीय

कृषि कानूनों पर किसानों को मिली बड़ी जीत, 18 मिनट के संबोधन में पीएम ने देश से माफी मांगी

कृषि कानूनों की वापसी को लेकर 1 साल से चल रहे किसानों के आंदोलन के आगे आखिरकार केन्द्र की मोदी सरकार झुक गई है। आज प्रकाश पर्व के मौके पर पीएम नरेन्द्र मोदी ने किसानों की मांग मान ली। पीएम मोदी ने आज सुबह देश के नाम अपने संबोधन में न केवल तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की बात कही बल्कि इन कानूनों पर देश से माफी भी मांगी। पीएम ने कहा कि हम देश के छोटे और मझौले किसानों के हित में कानून लाये थे लेकिन शायद हम अपनी बात समझाने में नाकाम रहे। पीएम ने कहा कि इसी महीने शुरू होने संसद सत्र में कृषि बिल वापस करने की प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी। पीएम की इस घोषणा के बाद न केवल दिल्ली बॉर्डर पर किसानों ने जश्न मनाया बल्कि पूरे देश में किसान खुशी से झूम उठे। लेकिन किसान यूनियन के अध्यक्ष राकेश टिकैत ने कहा है कि आंदोलन तत्काल वापस नहीं होगा, हम उस दिन का इंतजार करेंगे जब कृषि कानूनों को संसद में रद्द किया जाएगा । टिकैत ने सरकार से अपील की है कि वह किसानों के दूसरे मुद्दों पर भी बातचीत करे। 2014 से लेकर अब तक का यह पहला मामला है जब प्रधानमंत्री अपने किसी फैसले से पीछे हटें हैं। पांच राज्यों के चुनावों से पहले यह मोदी सरकार का बड़ा डैमेज कंट्रोल माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *