Monday, April 22, 2024
अंतरराष्ट्रीयअल्मोड़ाउत्तर प्रदेशउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19चमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदिल्लीदेहरादूननैनीतालपंजाबपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरबिहारराष्ट्रीयरुद्रप्रयागहरिद्वार

कोरोना Alert – पौष्टिक खाने का ये फार्मूला बनेगा आपका सुरक्षा कवच 

कोरोना के खौफ के बीच डॉक्टर्स कहते हैं कि हमारे आहार के पोषक तत्व  ही हमारे लिए सेफ्टी गार्ड की भूमिका निभाते हैं डायटिशन की माने तो किसी भी संक्रमण से बचाव की शक्ति हमारे शरीर के अंदर ही है, जो फल-सब्जियों और अनाज में मौजूद पोषक तत्वों से बढ़ाई जा सकती है। लिहाज़ा बेहद आक्रामक हो चुके कोरोना संक्रमण से बचने के लिए आपको बताते है क्या होना चाहिए आपके ब्रेकफास्ट , लंच , डिनर का परफेक्ट और पौष्टिक मेन्यू  –

 Breakfast : इस समय आपको ज्यादातर फल और ताज़ी सब्जियों से बने खाने का ही प्रयोग करना चाहिए 

डॉक्टर्स बताते हैं कि दोपहर का खाना 1.30 से 2.00 बजे तक आपको कर लेना चाहिए। क्यूंकि इस समय तक सुबह के नाश्ते में मिली ऊर्जा ख़त्म होने लगती है लिहाज़ा ये समय शाम तक के लिए ऊर्जा इकठ्ठा करने का होता है।

 

इस दौरान आपको क्या खाना चाहिए –
’दोपहर की थाली में दाल, रोटी, सब्जी, दही, सलाद सब शामिल हो। हरे पत्तेदार सब्जियां पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं इसलिए जब आप रोटी बना रहे हों तो उसमें भी पालक और दूसरी पत्तीदार सब्जी डाल सकते हैं। ’विटामिन ए और सी से भरपूर मौसमी फल-सब्जियों को ही आप प्रार्थमिकता दें तो फायदा रहेगा …. जैसे-जैसे कद्दू, नींबू, सेब…..  नींबू और पुदीने का पानी पिएंं हो सके तो कच्ची हल्दी का एक टुकड़ा रोज खाएंं।

’हरे पत्तेदार सब्जियों में फाइटोन्यूट्रिएंट्स, विटामिन के, विटामिन सी, बीटा कैरोटीन, सेलेनियम आदि की प्रचुर मात्रा होती है, जो प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाती हैं।
’अंगूर सहित दूसरे फलों में प्रोटीन, फाइबर, होता है। हल्दी में लिपोपोलीसैचिरिड नामक तत्व होता है जो इम्यून बेहतर करता है।

क्या लें
’इस वक्त तुलसी, अदरक, लौंग व दालचीनी वाली चाय या ग्रीन टी इस बीमारी से लड़ने के लिए जरूरी है।
’नारियल पानी/ लस्सी में अजवाइन डालकर पीना भी फायदेमंद होगा। साथ ही बेसन/मूंग दाल का चीला भी अच्छा विकल्प है।
’रोटी में मिस्सी या मिश्रित रोटी लें। अंकुरित अनाज या फल भी ले सकते हैं। इससे शरीर में प्रोटिन बढ़ेगा। 


’ग्रीन-टी में विटामिन सी, पॉलीफेनोल्स के अलावा एंटी ऑक्सिडेंट जैसे कई औषधीय गुण पाए जाते हैं। ये शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। ये एंटी ऑक्सिडेंट बैक्टीरिया और वायरस को खत्म करने में भी मददार होते हैं। जो शरीर के लिए बेहतर है।
’अंकुरित अनाज एंटी ऑक्सीडेंट और विटामिन ए, बी, सी, ई से भरपूर होते हैं। इनमें फॉस्फोरस, आयरन, कैल्शियम, जिंक और मैग्नीशियम जैसे पौष्टिक तत्व भी पाए जाते हैं, जो हमारी स्वास्थ्य रक्षक कोशिकाओं को कोरोना से लड़ने में मदद करते हैं।

डिनर : खाने में डेयरी उत्पाद ज्यादा लें
डिनर हमेशा सूर्यास्त से पूर्व होना फायदेमंद है। अगर अगर ऐसा संभव ना हो तो रात्रि भोजन एवं सोने के बीच  तीन घंटे का अंतर जरूर रखें।

क्या खाएं
डिनर में पनीर एवं अंडे की भुर्जी फायदेमंद रहेगी। इसके अलावा सोने से पहले एक गिलास उबला हुआ दूध इलायची, काली मिर्च या हल्दी डालकर लें। दूध में ओट्स भी ले सकते हैं।

क्यों
’दूध और दूसरे डेयरी उत्पाद में विटामिन बी प्रचुर मात्रा में होता है। इसके साथ ही इनमें मौजूद गुड बैक्टीरिया बीमार होने से बचाते हैं।

विटामिन-के: फेफड़ों को नष्ट होने से बचाता है
शोधकर्ताओं का मानना है कि चीज में मिलने वाला विटामिन-के रक्त का थक्का जमने और फेफड़ों को नष्ट होने से बचाता है।
क्या खाएं :
विटामिन के-1 : पालक, ब्रोकोली, ब्लूबेरी के अलावा मौसमी फलों-सब्जियों में भी
विटामिन के-2: चीज मुख्य स्रोत, फरमेंटेड जापानी सोयाबीन नैटो भी बेहतर। विटामिन के-2 लेना ज्यादा बेहतर, यह आसानी से शरीर में अवशोषित हो जाता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *