Home उत्तराखंड अजेय त्रिवेंद्र रचेंगे इतिहास : कुछ तो बात होगी, कुछ तो ख़ास...

अजेय त्रिवेंद्र रचेंगे इतिहास : कुछ तो बात होगी, कुछ तो ख़ास होगा CM त्रिवेंद्र में, हर बार शिकस्त खाते हैं साजिश रचने वाले

देहरादून। उत्तराखंड राज्य बने हुए 20 साल हो गए है, लेकिन यहाँ की राजनिति कभी स्थिर नही रही है। जब जब कोई मुख्यमंत्री बना है, उसे हटाने के रोज नए षड्यंत्र रचे जाते है। किसी न किसी बहाने राजनीतिक चर्चाएं गर्म रहती है, ताकि सरकार को अस्थिर किया जा सके। आज भी ऐसा ही हुआ, जब तेजी से सोशल मीडिया और कुछ चैनलों में प्रायोजित खबरे चलाई गई कि सीएम त्रिवेंद्र बदले जा सकते है। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी त्रिवेंद्र के विरोधी पस्त हुए है।

सीएम त्रिवेंद्र भले ही गली गली में जाकर भुट्टे न खाते हो, किसी दुकान पर जाकर जलेबी न खाते हो, लेकिन वो कभी अपने लोगो को झूठे वादे करके बेवकूफ नही बनाते है। सीएम की छवि बेहद ही सरल और स्पष्ठवादी रही है। शायद यही कारण है कि कुछ लोग उन्हें पसन्द न करते हो, लेकिन सीएम त्रिवेंद्र अपनी माटी और राज्य के विकास के लिए वचनबद्ध है। जब से त्रिवेंद्र सीएम बने है, तब से उनके विरोधी उनको सत्ता से बाहर करने में लगे हुए है, जिसके लिए समय-समय पर ऐसी अफवाहें चलाई जाती रही है, की सीएम अब हटे तब हटे। अब जबकि त्रिवेंद्र सरकर अपने चार साल पूरे करने जा रही है और एनडी तिवारी के बाद त्रिवेंद्र ही ऐसे सीएम होंगे, जो पांच साल का कार्यकाल पूरा करेंगे, तब फिर से ऐसी अफवाहें फैलाई जा रही है कि राज्य में नेतृत्व परिवर्तन होने जा रहा है।

अब राज्य की जनता भी समझ चुकी है कि राज्य में प्रचंड बहुमत की त्रिवेंद्र सरकार ही मजबूत नेतृत्व दे सकती है। आज देहरादून में केवल कोर ग्रुप की बैठक आयोजित हुई, जिस पर त्रिवेंद्र के विरोधी सक्रिय हुए और खूब अफवाहें फैलाई गई। लेकिन फिर वही हुआ, जो इन 4 सालों में हुआ, त्रिवेंद्र अजेय है और उनके विरोधी पस्त है।

आखिर क्यों बदले जाए त्रिवेंद्र रावत

आज उत्तराखण्ड गर्म है सायद वहाँ सर्दी चली गयी, आज हर ओर मुख्यमंत्री बदलवाने की दुकानें सजी थी, सायद जब उत्तराखंड बना तब हमारे शहीदो ओर माताओ ने ये नही सोचा था कि जिस राज्ये को बनाने के लिए उन्होंने संघर्ष किया है वहाँ बाहरी लुटेरे आकर लूट करेंगे और हमारे लोग तमाशा देखेंगे,काश हर बार राज्ये में इस तरह से दुकाने न सजती तो हम भी बोहत आगे निकल गए होते ।

आखिर क्यों आज इस तरह की हवा चली क्या किसी का भी दिल्ली से आना ये संकेत है कि मुख्यमंत्री बदलेगा। आखिर क्यों बदले जाए त्रिवेंद्र रावत, क्या इसलिए कि उन्होंने भ्रस्टाचार कम कर दिया या बाहरी लुटेरो की दुकान बंद करदी या यूं कहें कि चंद लोगो की जो भीड़ सचिवालय में दलाली करने की दलालो की फ़ौज खत्म करदी, इसलिए मुख्यमंत्री बदल दे, या गैरसैण को राजधानी बना दी, इसलिए मुख्यमंत्री बदला जाए या सादगी गलत है हर ओर झुटे वादे ओर बाते होनी चाहिए, इसलिए मुख्यमंत्री बदला जाए, आखिर दलालो का प्रवेश खोल दिया जाए उत्तराखंड को लूटने दिया जाए सायद तब सबको सही लगेगा, ये जो मुख्यमंत्री बदलने की दुकान है ये चंद दलालो की है। आखिर क्या जनता ने कोई मांग की है या कोई बड़ा घोटाला सामने आया हो, ये अलग है कि कुछ नासमझ अधिकारी गलती कर रहे है तो उनको हटाने की जगह सीधा निसाना मुख्यमंत्री क्यों ?

क्या उन अधिकारियों की जांच की मांग नही होनी चाहिए कि कही वो ही तो ये खेल नही खेल रहे, आखिर ऐसा ईमानदार मुख्यमंत्री जिस पर कोई आरोप नही है । जिसको जनता भी सज्जन ओर ईमानदार कहती हो जिसको माताओ ओर बेटियों की चिंता हो, जिसको यहाँ के युवाओं का दर्द हो, उसको इन चंद गलत अधिकारियों और दलालो की भेट नही चढ़ने दिया जाना चाहिए, उत्तराखंड के वो चिंतक और लोग जो वास्तव में उत्तराखंड का हित चाहते है उनको आगे आना चाहिए, नही तो चंद बाहरी लोग जो आजकल परेसान है वो वापस आकर राज़ करेंगे और आप सब तमाशा देखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कल से खाना नहीं खाया है, भूखा हूं… मिठाई की दुकान में मिला मासूम चोर का खत

जैसलमेर में एक दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां मिठाई की दुकान में घुसे चोर ने मिठाई खाई और जाते हुए दुकानदार के नाम...

मध्य प्रदेश में बड़ा हादसा, मुरैना के पास सुखोई-30 और मिराज-2000 क्रैश, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

शनिवार सुबह बड़ा हादसा हुआ। एयरफोर्स के दो फाइटर प्लेन सुखोई-30 और मिराज-2000 एयरक्रॉफ्ट आपस में टकराकर क्रैश हो गए। भास्कर को मिली अब...

अडानी ग्रुप के शेयरों में गिरावट आज भी जारी, हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से मची तबाही

एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के दूसरे नंबर के धनकुबेर गौतम अडानी ने शायद सपने में भी नहीं सोचा होगा कि एक दिन...

कैप्टन अमरिंदर हो सकते हैं महाराष्ट्र के अगले राज्यपाल, भगत सिंह कोश्यारी की छुट्टी, आदेश जारी, पुष्टि होनी बाकी

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह महाराष्ट्र के अगले गवर्नर हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, इसकी तैयारी हो गई है और इसको...

अंडर-19 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची भारतीय महिला क्रिकेट टीम

साउथ अफ्रीका में खेला जा रहे अंडर-19 महिला टी20 विश्व कप में भारतीय महिला अंडर-19 टीम ने इतिहास रच दिया। पहले टी20 विश्व कप...

उत्तराखंड पहुंचे पंडित धीरेन्द्र शास्त्री, “बोले कायदे में रहोगे तो फायदे में रहोगे”

अपने दावों के कारण कई दिनों से चर्चा में आए बाबा बागेश्वर धाम धीरेंद्र शास्त्री उत्तराखंड पहुंचे हैं। इंटरनेट मीडिया पर वीडियो जारी कर...

उत्तराखंड में फिर बदलेगा मौसम का मिजाज, 29 से बर्फबारी के आसार

उत्तराखंड में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बीते दिनों हुई बर्फबारी के बाद पहाड़ से लेकर मैदान तक ठिठुरन और बढ़ गई है। वहीं, मैदानी...

रोडवेज की हड़ताल से परेशान यात्री, पहले यूपी फिर उत्तराखंड पहुंच रहे यात्री

उत्तराखंड रोडवेज की बसों से सफर करने वाले हजारों यात्रियों को आज भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रोडवेज की हड़ताल के चलते उत्तराखंड...

उत्तराखंड में 25 लाख में बिकी खाकी, दरोगा भर्ती कांड में विजिलेंस की जांच आगे बढ़ी

विजिलेंस अब दरोगा भर्ती धांधली के आरोपियों की संपत्तियों की जांच में जुट गई है। बताया जा रहा है कि मुख्य आरोपी पंतनगर विवि...

जोशीमठ संकट के बीच बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तारीख का एलान, इस दिन खुलेंगे धाम के कपाट

बसंत पंचमी के मौके बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तारीख का एलान हो गया है. उत्तराखंड के चार धामों में एक भगवान बद्री...