Saturday, May 18, 2024
राष्ट्रीय

पीएम मोदी जेवर एयरपोर्ट का करेंगे शिलान्यास, दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट है जेवर

जेवर में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट उर्फ़ जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास करेंगे। जेवर एयरपोर्ट उत्तरप्रदेश का पांचवां इंटरनेशनल एयरपोर्ट है और दुनिया का चौथा सबसे बड़ा एयरपोर्ट है। 6200 हेक्टेयर में यह एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट होगा। खास बात यह कि यह प्रदूषण से मुक्त होगा। प्रधानमंत्री एयरपोर्ट के शिलान्यास के बाद प्रदर्शनी देखेंगे। इसमें एयरपोर्ट की विकास यात्रा के बारे में फिल्म भी दिखाई जाएगी। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के चलते पुलिस आज सुबह से ही सतर्क है और विरोध का एलान करने वालों को सुबह से ही उनके घर में नजरबंद कर रखा है। वहीं कई बसें भी जेवर कस्बे के लोगों को लाने के लिए तैनात हैं। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के शिलान्यास समारोह की तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं। पीएम मोदी दोपहर 12 बजे शिलान्यास स्थल पर आएंगे। इस एयरपोर्ट से सितंबर 2024 अंत तक एक रनवे के साथ उड़ान सेवाएं प्रारंभ हो सकती है।

 

  • जानिए जेवर एयरपोर्ट की खासियत – 
  • 29 हजार 650 करोड़ रुपए की लागत से तैयार
    नॉएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के निर्माण का कार्य यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (YEIDA) को सौंपा गया है। साथ ही इसे विकसित करने की जिम्मेदारी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल को दी गई है। उत्तर प्रदेश सरकार ने फरवरी 2021 में इस एयरपोर्ट के निर्माण के लिए 2,000 करोड़ रुपए के बजट का ऐलान किया था। जबकि इस एयरपोर्ट को तैयार होने में करीब 29 हजार 650 करोड़ रुपए की लागत आएगी।
  • एक साथ उड़ान भर सकेंगे 178 विमान
    जेवर एयरपोर्ट का निर्माण 5,845 हेक्टेयर जमीन पर हो रहा है। इस एयरपोर्ट की विशेषता यह है कि यहां के एक साथ करीब 178 विमान उड़ान भर सकेंगे। जेवर एयरपोर्ट के लिए पहले चरण में 1334 हेक्टेयर जमीन पर निर्माण कार्य होगा। एयरपोर्ट का निर्माण कार्य चार चरणों में पूरा होगा।
  • जेवर एयरपोर्ट पर होंगे 5 रनवे
    जेवर एयरपोर्ट पर कुल 5 रनवे विकसित किए जाएंगे। शुरुआत में इस एयरपोर्ट से हर साल लगभग 1 करोड़ 20 लाख यात्री हवाई उड़ान भरेंगे। ऐसा अनुमान जताया गया है कि पहले ही साल यहां करीब 40 लाख यात्रियों की आवाजाही हो सकती है। जेवर एयरपोर्ट के सितंबर 2024 में शुरू होने की संभावना जताई जा रही है। दिल्‍ली के इंदिरा गांधी अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा से जेवर एयरपोर्ट की दूरी करीब 70 किलोमीटर है। ऐसे में दिल्‍ली एयरपोर्ट के एयर ट्रैफिक को कम करने के लिए जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट (NIA) काफी मददगार साबित हो सकता है।
  • जेवर एयरपोर्ट बनने के बाद उत्तर प्रदेश में बढ़ेगा निवेश
    उत्तर प्रदेश मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने दावा किया है कि पहले चरण में लगभग 10,000 करोड़ रुपए का निवेश आने की संभावना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कहना है कि जेवर एयरपोर्ट बनने से नोएडा तथा ग्रेटर नोएडा समेत पूरे जिले में करीब 34 से 35 हजार करोड़ रुपए का निवेश होने से रोजगार मिलने की उम्मीद बढ़ जाएगी। इन जिलों में नौकरियों के बंपर अवसर मिलेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *