Tuesday, September 27, 2022
Home उत्तर प्रदेश NHAI - क्या आप जानते है राष्ट्रीय राजमार्ग पर क्या हैं आपके...

NHAI – क्या आप जानते है राष्ट्रीय राजमार्ग पर क्या हैं आपके अधिकार ? पढ़िए पूरी जानकारी 

नेशनल हाई वे ……. जहाँ हवा से बातें करती हैं आपकी लग्ज़री गाड़ियां …… न कोई बाधा न कोई जाम का झाम ….. सुरक्षा , स्वास्थ्य सेवाएं और इमर्जेन्सी सेवाओं को चाक चौबंद रखने के लिए  सरकार, सड़को  तथा राजमार्गो  से गुजरने वाले यात्रियों से सड़क कर यानी रोड टैक्स वसूला जाता है ….. आपको यहाँ ये जानना भी ज़रूरी है कि ये रोड टैक्स भी कई तरह के होते है जिनका निर्धारण राज्य सरकारओं के अंतर्गत होता है इन्हीं टैक्स प्रक्रिया में एक टैक्स है यातायात कर यानि  टोल टैक्स

राष्ट्रीय राजमार्ग पर अगर आप ट्रेवल कर रहे हैं तो आपको सुरक्षा और इमरजेंसी में हेल्थ फैसिलिटी मुहैया कराने की जिम्मेदारी टोल वसूलने वाली इन्ही कंपनियों की होती है।

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण यानि एनएचएआई और निर्माण कंपनी में निर्धारित समय तक सड़क यात्रियों से टोल वसूलने का अधिकार मिलता है इसके साथ ही तय होता है कि यात्रियों को क्या सुविधाएं दी जानी हैं लेकिन ये सच्चाई है कि ज्यादातर एनएच पर सरकारी नियमानुसार आपको यात्रा के दौरान न तो सुविधाएं मिलती हैं और न ही सुरक्षा , हालत ये है कि ज्यादातर निर्माण कंपनियां नियमों का पालन नहीं करतीं और सरकार भी इस मामले में सख्ती नहीं करती

अब आपको हम बताते हैं कि टोल टैक्स वसूलने वाली कंपनी की आपके प्रति क्या ज़िम्मेदारी है –


– पेट्रोलिंग की व्यवस्था के साथ टोल प्लाजा पर कंट्रोल रूम बनाए जाने चाहिए
– एनएच बनाने करने वाली कंपनी का खुद का टेलीकॉम सिस्टम होना ज़रूरी है
यात्रियों के लिए हाईवे के किनारे बूथ होंने चाहिए जहां से फोन करके आप कंट्रोल रूम से मदद ले सके

अगर आपकी सुविधाओं की बात करें तो वो भी जान लीजिये ——
किसी भी हाईवे पर एंबुलेंस में पैरामेडिकल स्टाफ, मेडिकल किट और डॉक्टर होने चाहिए ताकि दुर्घटना की हालत में मरीज़ को तुरंत मदद मिल सके।
एक और बेहद ख़ास निर्देश है कि एनएच पर मेडिकल एड पोस्ट हो जिसमे जीवन रक्षक दवाइयां उपलब्ध कराने की सुविधा हो।
इसके अलावा एनएच के किनारे रोशनी की पूरी व्यवस्था, सीसीटीवी कैमरे और क्रेन की व्यवस्था करना भी इन्ही टोल प्लाजा कंपनी की जिम्मेदारी होती है लेकिन दिल्ली मेरठ , लखनऊ , बुलंदशहर और गोरखपुर  से लेकर देहरादून तक अगर आप अपने अधिकारों को खोजेंगे तो पता चलेगा कि टोल प्लाज़ा पर टैक्स वसूलने वाली कम्पनी सरकरी नियमों की धज्जियां उड़ा रही हैं और सरकार आपके अधिकारों की लिस्ट बनाकर बेफिक्र हो गयी है।  

क्योंकि एग्रीमेंट के मुताबिक यात्री सुविधाओं की निगरानी की जिम्मेदारी एनएचएआई के प्रोजेक्ट डायरेक्टर की होती है। इसकी मासिक रिपोर्ट सड़क परिवहन मंत्रालय व एनएचएआई को भेजी जानी चाहिए। लेकिन इन नियमों का पालन किया ही नहीं जा रहा है। 

 

लेकिन फ़ास्ट टैग के भी कुछ ऐसे नियम हैं जिससे आप अनजान है तो जय भारत टीवी वो नियम भी आपको बता रहा है ऐसा ही एक नियम है जिसके मुताबिक आप फास्टैग लेने के बाद भी बिना पैसे दिए टोल प्लाजा पर पार कर सकते हैं ….. जी हाँ  ……  इस बारे में बहुत ही कम लोगों को जानकारी होगी…….  अगर टोल प्लाजा की रीडिंग मशीन आपके फास्टैग को स्कैन या रीड नहीं कर पाती तो आपको कोई भी चार्ज नहीं देना होगा……   नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के नेशनल हाईवे फी डिटर्मिनेशन ऑफ रेट्स एंड कलेक्शन अमेंडमेंट रूल के मुताबिक, अगर किसी गाड़ी पर फास्टैग लगा हुआ है और उसमें बैलेंस भी है लेकिन, टोल नाके पर इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन इन्फ्रास्ट्रक्चर की खराबी के कारण आपके फास्टैग से पेमेंट नहीं हो पाता है तो गाड़ी को बिना किसी भुगतान के टोल प्लाजा से गुज़रने दिया जाएगा. इस तरह के ट्रांजेक्शन के लिए वीकल यूज़र को जीरो ट्रांजेक्शन रसीद दी जाएगी….. लेकिन जानकारी के अभाव में कई टोल प्लाजा इस नियम को ठेंगा दिखाते हुए जाम और तकनीकी खराबी के बावजूद आपकी जेब पर डाका डालते हैं और आपको खबर ही नहीं होती है …

आरटीआई कार्यकर्ता एडवोकेट हरिओम जिंदल को जवाब देते हुए खुद एनएचएआई ने बताया कि अगर किसी गाडी को 2 मिनट 50 सेकेंड से ज्यादा समय तक इंतज़ार करना पड़ता है तो वो बिना टैक्स चुकाए जा सकता है। यानी अगर आपके इंतज़ार का वक़्त तीन मिनट से ज्यादा का हुआ तो आप मुफ्त में टोल प्लाजा से निकल सकते हैं। इस मामले में जब हमने देहरदून में मौजूद एनएचएआई के रीजिनल अफसर वी एस खैरा से पूछा तो उन्हीने बताया कि टोल प्लाजा के निर्धारित दायरे में रहने वालों को भी रियायत दी जाती है क्यूंकि उनका टोल प्लाजा से आना जाना लगातार होता है ऐसे में एमएसटी प्रणाली की तरह उनका भी मासिक पास बनाया जाता है जिस पर उन्हें छूट दी जाती है।

एनएचएआई के कई ऐसे सख्त नियम है जिसका टोल प्लाजा मैनेजमेंट कोई पालन नहीं करती है जैसे पीक आवर्स में कतार में 6 गाड़ियां ही एक लेन में हो सकती हैं , टोल लेन बूथों की संख्या इस प्रकार रखनी चाहिए जिससे पीक आवर फ्लो पर हर एक  वाहन को 10 सेकंड से ज्यादा का सेवा समय न लगे , इतना ही नहीं अगर आपकी वेटिंग टाइम 3 मिनट से ज्यादा है, तो टोल लेन की संख्या बढ़ाये जाने का भी नियम बना हुआ है लेकिन हक़ीक़त क्या है ये आप बखूबी जानते हैं।

अब अगर टोल प्लाजा पर छूट की बात करें तो जिस गाडी में प्रेजिडेंट , पीएम , वाइस प्रेजिडेंट चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया , गवर्नर लोक सभा स्पीकर , सेंटर मिनिस्टर जैसे वीवीआईपी सफर कर रहे हों उनको पूरे भारत में टोल टैक्स से छूट दी जाती है …… इसके अलावा भारत के किसी राज्य की विधान सभा के अध्यक्ष एक उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीशआर्मी कमांडर या वाइस-चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ और अन्य सेवाओं में समकक्ष राज्य सरकार के मुख्य सचिव  परमवीर चक्र, अशोक चक्र , महा वीर चक्र, कीर्ति चक्र , वीर चक्र , शौर्य चक्र जैसी मान्यता के पुरस्कार विजेताओं को भी टोल प्लाजा पर छूट दी जाती है। अब अगर टोल प्लाजा पर छूट की बात करें तो जिस गाडी में प्रेजिडेंट , पीएम , वाइस प्रेजिडेंट चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया , गवर्नर लोक सभा स्पीकर , सेंटर मिनिस्टर जैसे वीवीआईपी सफर कर रहे हों उनको पूरे भारत में टोल टैक्स से छूट दी जाती है …… इसके अलावा भारत के किसी राज्य की विधान सभा के अध्यक्ष एक उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीशआर्मी कमांडर या वाइस-चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ और अन्य सेवाओं में समकक्ष राज्य सरकार के मुख्य सचिव  परमवीर चक्र, अशोक चक्र , महा वीर चक्र, कीर्ति चक्र , वीर चक्र , शौर्य चक्र जैसी मान्यता के पुरस्कार विजेताओं को भी टोल प्लाजा पर छूट दी जाती है।

तो ये हमने आपको बताया कि क्या हैं आपके अधिकार और आपकी सुरक्षा के लिए एनएचएआई के बनाये गए वो नियम कायदे जिनका टोल प्लाजा मैनेजमेंट पालन ही नहीं करते हैं यानी आपकी जेब से न सिर्फ अवैध वसूली होती है बल्कि आपकी जान से भी खिलवाड़ करने में टोल प्लाज़ा संचालक कोई रहम नहीं बारात रहे हैं।  इसीलिए हम कह रहे हैं ……

जागो देश जागो  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सिंगिंग रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल’13 पर लगा फेक होने का आरोप, एक कंटेस्टेंट के साथ हुआ भेदभाव!

सोनी टीवी का सिंगिंग रियलिटी शो 'इंडियन आइडल' को विशाल ददलानी, नेहा कक्कड़ और हिमेश रेशमिया जज कर रहे हैं। इंडियन आइडल 13 की...

रायपुर पुलिस के हाथ लगे ऐसे चोर, बिना चाबी के दो पहिया वाहनों की कर रहे थे चोरी

रायपुर थाना पुलिस ने तीन ऐसे युवकों को पकड़ा है, जो महंगी बाइक व स्कूटर चलाने का शौक पूरा करने के लिए दोपहिया वाहनों...

नवरात्रि का दूसरा दिन आज, नव शक्तियों के दूसरे स्वरूप माता ब्रह्मचारिणी की आज करें पूजा अर्चना

शारदीय नवरात्रि का आज दूसरा दिन है। नवरात्रि के दूसरे दिन देवी के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की पूजा-अर्चना की जाती है। मां दुर्गा की नव...

जौनसार में बारिश से तबाही, अमलावा नदी के उफान में बह गया भवन

जौनसार में रविवार रात हुई मूसलाधार बारिश ने भारी तबाही मचाई है। रविवार देर रात साहिया में भारी बारिश का तांडव देखने को मिला।...

नवरात्रि में सीएम धामी का तोहफा, राज्य की बालिकाओं को नंदा गौरा योजना के तहत 323 करोड़ की धनराशि हस्तांतरित

पहले नवरात्रे पर सीएम धामी ने राज्य की 80 हजार बालिकाओं को तोहफा दिया है। सीएम ने आज नंदा गौरा योजना के तहत 323...

दिल्‍ली में 12 साल के बच्चे से गैंगरेप, एक व्यक्ति गिरफ्तार अन्य तीन फरार

देश की राजधानी दिल्ली में 12 साल के एक लड़के के साथ रेप करने का मामला सामने आया है। चार लोगों ने कथित तौर...

जैकलीन को बड़ी राहत, 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट ने दी अंतरिम जमानत

सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में जैकलीन फर्नांडीज को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने जैकलीन फर्नांडीज को अंतरिम जमानत दे दी...

आज शुरू हुए शारदीय नवरात्र, नवरात्र के पहले दिन करें मा दुर्गा के प्रथम स्वरुप मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना

शारदीय नवरात्र आज से शुरू हो गए हैं। इस बार नवरात्र पूरे नौ दिन के रहेंगे। 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक। 26 सितंबर...

पिथौरागढ़ में बड़ा भूस्खलन, भरभराकर गिरा समूचा पहाड़,तवाघाट-लिपुलेख मार्ग बंद

जाते जाते भी उत्तराखण्ड में बरसात कहर बरपा रही है। बीते दिनों सीमांत क्षेत्र धारचूला में आई जबर्दस्त आपदा के बाद आज फिर यहां...

देहरादून में ‘प्रोजेक्ट पार्क वैल’, प्रोजेक्ट पार्क वैल के अनौखे ईनाम

गलत पार्क किये गये वाहनों का फोटो खींचीए और ईनाम पाइये... जी हां वही योजना जिसकी घोषणा हाल ही में केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन...