Wednesday, May 22, 2024
राष्ट्रीयस्पेशल

नवरात्रि 2021: आज से शुरू हो रही है शारदीय नवरात्रि, जानिए देवी के नौ रूपों का अर्थ

नवरात्रि हिंदुओं का एक प्रमुख पर्व है। नवरात्रि शब्द एक संस्कृत शब्द है, जिसका अर्थ होता है ‘नौ रातें’। इन नौ रातों और दस दिनों के दौरान, शक्ति / देवी के नौ रूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि एक महत्वपूर्ण प्रमुख त्योहार है जिसे पूरे भारत में महान उत्साह के साथ मनाया जाता है। देवी दुर्गा की पूजा के लिए नौ दिवसीय त्यौहार अश्विन माह के हिंदू महीने में मनाया जाता है। यह महीना शारदीय नवरात्रि की शुरुआत का प्रतीक है। नवरात्रि या नौ रातें त्योहार की अवधि को दर्शाती हैं। नवरात्रि पर दुनिया भर के हिंदू, देवी दुर्गा के नौ अलग-अलग रूपों में पूजते हैं। नवरात्रि एक महत्वपूर्ण प्रमुख त्योहार है जिसे पूरे भारत में महान उत्साह के साथ मनाया जाता हैं।


ये हैं देवी दुर्गा के नौ रूप

  1. शैलपुत्री – इसका अर्थ- पहाड़ों की पुत्री होता है।

2. ब्रह्मचारिणी – इसका अर्थ- ब्रह्मचारीणी।

3. चंद्रघंटा – इसका अर्थ- चाँद की तरह चमकने वाली।

4. कूष्माण्डा – इसका अर्थ- पूरा जगत उनके पैर में है।

5. स्कंदमाता – इसका अर्थ- कार्तिक स्वामी की माता।

6. कात्यायनी – इसका अर्थ- कात्यायन आश्रम में जन्मि।

7. कालरात्रि – इसका अर्थ- काल का नाश करने वली।

8. महागौरी – इसका अर्थ- सफेद रंग वाली मां।

9. सिद्धिदात्री – इसका अर्थ- सर्व सिद्धि देने वाली।


भारत में नवरात्रि को बड़े ही विभिन्न तरीको से मनाया जाता है और अलग-अलग भागों में अलग ढंग से मनायी जाती है। गुजरात में इस त्योहार को बड़े पैमाने पर मनाया जाता है। गुजरात में नवरात्रि समारोह ‘गरबा’ के रूप में जान पड़ता है, जो की पूरी रात भर चलता है। भारत का अनुभव बड़ा ही असाधारण है। देवी के सम्मान में भक्ति प्रदर्शन के रूप में गरबा, ‘आरती’ से पहले किया जाता है और डांडिया समारोह उसके बाद। आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की तिथि पर हर वर्ष नवरात्रि आरंभ हो जाती हैं। इस साल नवरात्रि 7 अक्टूबर, गुरुवार से प्रारंभ हो गए हैं। यह मान्यता है कि नवरात्रि पर नौ दिनों के लिए देवी दुर्गा का आगमन पृथ्वी पर होता है और सभी भक्त मां को प्रसन्न करने के लिए नौ दिनों तक विशेष रूप से पूजा आराधना करते हैं और उपवास रखते हैं। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार मां दुर्गा की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। नवरात्रि के दौरान मां को प्रसन्न करने के लिए भक्त व्रत भी रखते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *