Saturday, March 2, 2024
दिल्ली

गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुँचे मनीष सिसोदिया, दोपहर 3.50 पर होगी सुनवाई

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को रविवार को शराब नीति केस में गिरफ्तार कर लिया गया। अब डिप्टी सीएम ने अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सिसोदिया ने अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाई है। सिसोदिया के वकीलों ने इस पर तत्काल सुनवाई की मांग की। इस पर CJI चंद्रचूड़ आज 3 बजकर 50 मिनट पर सुनवाई करेंगे। इधर CBI ने सिसोदिया से पूछताछ शुरु कर दी है। सोमवार को दिल्ली की एक कोर्ट ने सिसोदिया को 4 मार्च तक 5 दिनों की रिमांड पर भेजा।

सिसोदिया की गिरफ्तारी के खिलाफ कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगवाई। सिंघवी ने चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की बैंच में यह याचिका लगवाई, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया।

शराब नीति मामले में सीबीआई ने रविवार को 8 घंटे की पूछताछ के बाद सिसोदिया को गिरफ्तार किया था। सोमवार दोपहर करीब ढाई बजे उन्हें दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया था। सीबीआई ने कोर्ट से सिसोदिया की पांच दिन की रिमांड मांगी थी। सिसोदिया के वकील ने यह कहकर इसका विरोध किया कि एक डिप्टी सीएम को रिमांड पर भेजने से गलत मैसेज जाएगा। वहीं, सीबीआई ने हवाला दिया कि सिसोदिया पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं। इसके बाद कोर्ट ने सीबीआई की दलीलों को मानते हुए सिसोदिया को 4 मार्च तक रिमांड दे दी।

बता दें कि दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया लिकर पॉलिसी घोटाले में सीबीआई की गिरफ्त में हैं। इस पॉलिसी में फैसला किया गया था कि दिल्ली में शराब बेचने के लिए सिर्फ प्राइवेट दुकानें होंगी। सीबीआई सूत्रों के हवाले से बताया गया कि 19 अगस्त को सीबीआई ने दिल्ली एक्साइज डिपार्टमेंट की छानबीन की। वहां से एक डिजीटल डिवाइस सीज की गई थी, जिससे पता चला कि लिकर पॉलिसी का एक दस्तावेज एक ऐसे डिपार्टमेंट को भेजा गया, जो एक्साइज डिपार्टमेंट के नेटवर्क में नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *