Monday, June 24, 2024
उत्तर प्रदेश

उमेश पाल मर्डर केस में पहला एनकाउंटर, पुलिस मुठभेड़ में मारा गया आरोपी अरबाज

प्रयागराज में राजू पाल मर्डर केस के गवाह उमेस पाल मर्डर केस के एक संदिग्ध आरोपी की नेहरू पार्क में यूपी पुलिस के साथ मुठभेड़ हुई। यूपी पुलिस की मुठभेड़ में पुलिस ने आरोपी को मार गिरया। गोली लगने के बाद घायल हालत में बदमाश को स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में भेजा गया, जहा पर उसकी मौत हो गई। हालांकि इस दौरान बाकी बदमास भागने में सफल रहे, आरोपी अरबाज अतीक अहमद का करीबी बताया जा रहा है।

उमेस पाल हत्याकांड के समय अरबाज ही वारदात में इस्तेमाल क्रेटा कार चला रहा था। घटना के खुलासे के लिए एसटीएफ और पुलिस की 10 से अधिक टीमें लगी हैं। अतीक की पत्नी और दो बेटों से लगातार पूछताछ की जा रही है। जिस बेटे के घटना में शामिल होने की बात सामने आई है वह फरार है।

उमेस पाल हत्याकांड के बाद यूपी की जेलों में बंद अतीक अहमद के भाई अशरफ, बेटे अली और उमर अहमद और साले मोहम्मद जकी की निगरानी और सख्त कर दी गई है। अशरफ बरेली के जिला कारगार में बंद है तो उमर अहमद लखनऊ की जेल में है। इन सबसे मिलने आने वालों का ब्योरा जुटाया जा रहा है। अतीक का दूसरा बेटा अली अहमद प्रयागराज की नैनी जेल में बंद है। दूसरी ओर, अहमदाबाद की साबरमती जेल में बंद अतीक अहमद से मुलाकात करने वालों का भी ब्यौरा जुटाया जा रहा है।

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि हम माफियाओं के खिलाफ हैं और उन्हें मिट्टी में मिला देंगे। सपा ने ही अतीक अहमद को प्रश्रय दिया है। हम किसी माफिया को नहीं छोडें़गे। राजूपाल हत्याकांड में अतीक अहमद दोषी है और उसे सपा ने विधायक बनाकर प्रश्रय दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *