Sunday, June 23, 2024
खेल समाचार

लंबी कूद में शैली सिंह ने रजत पदक जीतकर रचा इतिहास, 1 सेंटीमीटर से चूका स्वर्ण का सपना

-आकांक्षा थापा

नैरोबी में चल रहे अंडर 20 विश्व एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भारतीय एथलिट शैली सिंह ने रविवार को शानदार प्रदशन करते हुए रजत पदक जीता है। लंबी कूद की प्रतिभाशाली खिलाड़ी शैली सिंह एक सेंटीमीटर से स्वर्ण पदक चूक गई।
17 साल की इस भारतीय खिलाड़ी ने 6.59 मीटर की कूद के साथ अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया। स्वीडन की मौजूदा यूरोपीय जूनियर चैम्पियन माजा अस्काग ने 6.60 मीटर के साथ स्वर्ण पदक अपने नाम किया। आपको बता दें की शैली ने दिग्गज लंबी कूद खिलाड़ी अंजू बॉबी जॉर्ज से ट्रेनिंग ली थी…
वही लम्बी कूद प्रतियोगिता के आखिरी दिन तीसरे दौर के बाद तालिका में शीर्ष पर थी लेकिन स्वीडन की 18 साल की खिलाड़ी ने चौथे दौर में उनसे एक सेंटीमीटर का बेहतर प्रदर्शन किया, जो निर्णायक साबित हुआ। यूक्रेन की मारिया होरिएलोवा ने 6.50 मीटर की छलांग के साथ कांस्य पदक जीता।

जानिए कौन हैं शैली सिंह…

शैली सिंह का जन्म झांसी में हुआ था, शैली की मां विनीता सिंह सिंगल मदर हैं। शैली अपने परिवार की पहली खिलाड़ी हैं, परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने के बावजूद ट्रैक एंड फील्ड में करियर बनाने को प्रोत्साहित करने के लिए शैली अपनी मां को धन्यवाद देती हैं। शैली की माँ विनीता दर्ज़ी का काम करती हैं और अपनी इसी आय से वो अपनी 4 बेटियों को पालती हैं….

शैली को बड़ा ब्रेक तब मिला जब वे अंजू बॉबी जॉर्ज के पति रॉबर्ट बॉबी जॉर्ज की नजर में आईं । साल 2017 में शैली जब 14 साल की थीं, तब विजयवाड़ा में राष्ट्रीय जूनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप हुई। रॉबर्ट भी वहां मौजूद थे। शैली उस प्रतियोगिता में पदक नहीं जीत पाईं, लेकिन रॉबर्ट को पता चल गया था कि झांसी की इस नई रानी में कुछ खास है। उन्होंने शैली को बेंगलुरु स्थित अंजू बॉबी जॉर्ज एकेडमी ट्रेनिंग के लिए बुलाया और फिर शैली का सफर शुरू हो गया…
वहीँ, अंजू बॉबी जॉर्ज का मानना है कि शैली आने वाले दिनों में उनका रिकॉर्ड भी तोड़ेंगी और देश के लिए ओलिंपिक में मेडल जीतेंगी। वहीँ, जून में राष्ट्रीय (सीनियर) अंतर-राज्य चैंपियनशिप में महिलाओं की लंबी कूद स्पर्धा में 6.48 मीटर के प्रयास से जीत हासिल की थी, जो उनका पिछला व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था। वह वर्तमान अंडर-18 विश्व रैंकिंग में दूसरे स्थान पर है, जबकि अंडर 20 का राष्ट्रीय रिकॉर्ड उनके नाम है।

अंडर20 चैंपियनशिप में इतिहास रचने के बाद भारत के दिग्गजों ने उन्हें बधाइयाँ दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *