Home राष्ट्रीय LAKHIMPUR KHIRI: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी मामले की सुनवाई शुक्रवार तक...

LAKHIMPUR KHIRI: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी मामले की सुनवाई शुक्रवार तक टाल दी गई

कोर्ट ने उत्तर प्रदेश सरकार को शुक्रवार तक स्टेटस रिपोर्ट देने का आदेश दिया है। उत्तर प्रदेश की सरकार शुक्रवार को सुनवाई के दौरान स्टेटस रिपोर्ट में यह बताएगी कि किन-किन अभियुक्तों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है और एफआइआर जिनके खिलाफ दर्ज है वे लोग गिरफ्तार किए गए हैं कि नहीं। इसके साथ ही कोर्ट ने हिंसा में अपना बेटा गंवाने वाली मां के इलाज के लिए तुरंत इंतजाम करने का यूपी सरकार को आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट ने बताया कि चीफ जस्टिस एनवी रमना, जस्टिस सूर्यकांत और जस्टिस हिमा कोहली की बैठक इस मामले को सुनेगी।
वहीँ, लखीमपुर खीरी मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रमना ने कहा कि दो अधिवक्ताओं ने मंगलवार को अदालत को एक पत्र लिखा था, कोर्ट ने अपनी रजिस्ट्री को पत्र को जनहित याचिका के रूप में दर्ज करने का निर्देश दिया था, लेकिन गलत संचार के कारण से यह स्वत: संज्ञान मामले के रूप में दर्ज किया गया। कोर्ट ने दोनों वकीलों को पेश होने का आदेश दिया है।
आपको बता दे कि रविवार को उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों के प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसानों समेत कुल नौ लोगो की मौत हुई थीं। तीन अक्टूबर को कुछ किसान उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के विरोध में जुलूस निकल रहे थे। तभी एक तेज रफ्तार वाहन से चार किसान कुचले गए। इस घटना के बाद उग्र हुए लोगों ने भाजपा के दो कार्यकर्ताओं और वाहन के चालक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। हिंसा की इस घटना में एक पत्रकार की भी जान चली गई। इस घटना ने देश भर में राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है। कई विपक्ष उत्तर प्रदेश सरकार पर आरोपियों को बचने का आरोप लगा रहें हैं। इस मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा और अन्य के खिलाफ हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।
प्रदेश सरकार ने इलाहाबाद हाई कोर्ट के सेवानिवृत्त जज प्रदीप कुमार श्रीवास्तव को पूरे कांड की जांच का जिम्मा सौंपा है। श्रीवास्तव को दो महीने के भीतर इस पूरे मामले की जांच रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। फिलहाल दोनों वकीलों ने अपने पत्र को जनहित याचिका (पीआइएल) के रूप में मानने का आग्रह किया था ताकि दोषियों को कानून के कटघरे में लाया जा सके। उत्तर प्रदेश के गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि जांच आयोग के गठन के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। आयोग को जांच के लिए दो महीने का वक्त दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

गौतम अडानी मामले में अब आरबीआई का दखल, विपक्ष भी कर रहा जांच की मांग

अडानी ग्रुप पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद कंपनी के शेयर लगातार गिरते जा रहे हैं। रिपोर्ट के बाद अडानी कंपनी को भारी नुकसान...

अयोध्या पहुंची नेपाल से लाई गईं दो दिव्य शालिग्राम शिला, भव्य पूजन

नेपाल के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल जनकपुर से अयोध्या लाई गई देवसिला का पूजन हुआ। नेपाल के पूर्व उप प्रधानमंत्री जानकी मंदिर के महंत ने...

देहरादून में चलेगी नियो मेट्रो, केन्द्र को भेजा गया प्रस्ताव

देहरादून में मेट्रो और केबल कार प्रोजेक्ट के रद्द होने के बाद अब मेट्रो नियो चलाने पर काम किया जा रहा है। यूकेएमआरसी ने...

अंतिम संस्कार से पहले अचानक जिंदा हो गई महिला, देखकर हर कोई हो गया हैरान

क्या आपने कभी सुना है कि अतिंम संस्कार से ठीक पहले किसी के प्राण वापस लौट आए हों. जी हां ऐसा हुआ है और...

कड़ी सुरक्षा में होगी पटवारी-लेखपाल परीक्षा, इंटेलीजेंस और पुलिस के होंगे तीन घेरे

पेपर लीक कांड के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पटवारी-लेखपाल भर्ती में इस बार पुलिस के साथ एलआईयू भी तैनात की गई है।...

क्या कहता है भारत का आर्थिक सर्वेक्षण, बजट से हटकर चर्चाओं में आर्थिक सर्वेक्षण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट से एक दिन पूर्व सदन में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। आर्थिक सर्वेक्षण वित्त मंत्रालय द्वारा जारी की गई...

बजट 2023-24ः 5 से 7लाख की गई आयकर छूट, पढ़िये क्या हुआ महंगा, क्या सस्ता

केन्द्र की मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया गया है, हालांकि इस बजट को वित्त मंत्री ने अमृत काल...

एनडीटीवी से निधि राजदान का इस्तीफा, 23 सालों से थीं एनडीटीवी के साथ

एनडीटीवी की वरिष्ठ पत्रकार निधि राजदान ने चैनल से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी से जुडे कईं कर्मचारियों ने इस बात की पुष्टि की...

5 गोल्ड जीतने वाला हॉकी प्लेयर आज मंडी में पल्लेदारी कर रहा है, शर्मनाक

भारतीय खेलों के लिये इससे शर्मनाक और क्या हो सकता है जब एक होनहार हॉकी खिलाड़ी मैदान से दूर अपना और अपने परिवार का...

अमीरों की सूची में 11वें नंबर पर पहुँचे अडानी, ग्रुप के शेयरों में गिरावट जारी

हिंडनबर्ग रिपोर्ट रिपोर्ट ने पिछले बुधवार अडानी ग्रुप पर स्टाक हेरफेर और धोकाधडी का आरोप लगाया था। रिपोर्ट के रिलीज होते ही अडानी दुनिया...