Home अंतरराष्ट्रीय अब आप भी कश्मीर में घर बना सकते हैं - पुराने कानून निरस्त

अब आप भी कश्मीर में घर बना सकते हैं – पुराने कानून निरस्त

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर के पुराने 11 क़ानूनों को निरस्त कर दिया है. इसके साथ ही यहां कोई भी भारतीय बिना डोमिसाइल के कृषि भूमि को छोड़कर ज़मीन ख़रीद सकता है.

बीते वर्ष 5 अगस्त को अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद गृह मंत्रालय से आए इस आदेश को बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों ने इस अधिसूचना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह ‘कश्मीर को सेल’ पर लगाने जैसा है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने श्रीनगर में इस अधिसूचना पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि कृषि भूमि को किसानों के लिए आरक्षित रखा गया है और कोई भी इसमें हस्तक्षेप नहीं करेगा.गृह मंत्रालय ने मंगलवार को जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (केंद्रीय क़ानूनों के अनुरूप) के तीसरे आदेश 2020 के तहत 11 क़ानूनों को निरस्त किया. अधिसूचना के मुताबिक़, यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है.

जिन क़ानूनों को पूरे तौर पर निरस्त किया जा रहा है, उनमें जम्मू-कश्मीर एलिनेशन ऑफ़ लैंड एक्ट, जम्मू ऐंड कश्मीर बिग लैंडेड इस्टेट्स एबोलिशन एक्ट, जम्मू ऐंड कश्मीर कॉमन लैंड्स (रेगूलेशन) एक्ट, 1956 आदि शामिल है.

गृह मंत्रालय ने पहले के अधिकांश भूमि क़ानूनों को निरस्त कर दिया है, जिसमें जम्मू ऐंड कश्मीर ऑफ़ प्रीवेंशन ऑफ़ फ्रैग्मेंटेशन ऑफ़ एग्रीकल्चर होल्डिंग एक्ट, 1960 शामिल है.

इसके अलावा इसमें जम्मू ऐंड कश्मीर ऑन कन्वर्सन ऑफ़ लैंड ऐंड एलिनेशन ऑफ़ आर्चार्ड एक्ट, 1975; जम्मू कश्मीर राइट ऑफ़ प्रायर पर्चेज़ एक्ट, 1936; जम्मू कश्मीर टिनेंसी (स्टे ऑफ़ इजेक्टमेंट प्रोसिडिंग्स) एक्ट 1966 का खंड 3; द जम्मू ऐंड कश्मीर यूटिलाइज़ेशन ऑफ़ लैंड एक्ट 2010; और द जम्मू ऐंड कश्मीर अंडरग्राउंड यूटिलिटिज़ एक्ट शामिल हैं.

बीते वर्ष 5 अगस्त को भारत सरकार ने जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निरस्त करते हुए इसे दो केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) में विभाजित कर दिया था. अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा प्राप्त था.

बीते वर्ष अनुच्छेद 370 को हटाने से पहले, जम्मू और कश्मीर के स्थायी निवासियों को छोड़कर कोई भी यहां ज़मीन नहीं ख़रीद सकता था.

हाल ही में, भारत सरकार ने कहा था कि केवल डोमिसाइल प्रमाणपत्र धारक या यहां के स्थायी निवासी ही इन केंद्र शासित प्रदेशों में ज़मीन या संपत्ति ख़रीद सकते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा समाप्त, 145 दिन बाद आज कश्मीर में हुआ समापन

राहुल गांधी की भारत जोडो यात्रा आज 145 दिन बाद समाप्त हो गई है। राहुल के भाषण के साथ आज कश्मीर में यात्रा का...

एनएसए अजित डोभाल पर राहुल गांधी का निशाना, समापन भाषण में दो बार लिया नाम

भारत जोड़ो यात्रा आज कश्मीर में समाप्त हो गई। यात्रा के समापन पर बीजेपी, आरएसएस, पीएम और गृह मंत्री एक बार फिर राहुल गांधी...

फिर सड़कों पर उतरे चयनित अभ्यर्थी, आयोग के गेट पर दिया धरना

कनिष्ठ सहायक भर्ती में नियुक्ति को लेकर हो रही देरी से चयनित अभ्यर्थी खासे नाराज हैं। दस्तावेज सत्यापन नहीं होने से चयनित अभ्यर्थियों का...

उत्तराखंड में कल से थम जाएंगे रोडवेज के पहिए, रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल कल आधी रात से

उत्तराखंड रोडवेज की बसों से सफर करने वाले हजारों यात्रियों को कल से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। 27 जनवरी को...

कल से खाना नहीं खाया है, भूखा हूं… मिठाई की दुकान में मिला मासूम चोर का खत

जैसलमेर में एक दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां मिठाई की दुकान में घुसे चोर ने मिठाई खाई और जाते हुए दुकानदार के नाम...

मध्य प्रदेश में बड़ा हादसा, मुरैना के पास सुखोई-30 और मिराज-2000 क्रैश, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

शनिवार सुबह बड़ा हादसा हुआ। एयरफोर्स के दो फाइटर प्लेन सुखोई-30 और मिराज-2000 एयरक्रॉफ्ट आपस में टकराकर क्रैश हो गए। भास्कर को मिली अब...

अडानी ग्रुप के शेयरों में गिरावट आज भी जारी, हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से मची तबाही

एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के दूसरे नंबर के धनकुबेर गौतम अडानी ने शायद सपने में भी नहीं सोचा होगा कि एक दिन...

कैप्टन अमरिंदर हो सकते हैं महाराष्ट्र के अगले राज्यपाल, भगत सिंह कोश्यारी की छुट्टी, आदेश जारी, पुष्टि होनी बाकी

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह महाराष्ट्र के अगले गवर्नर हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, इसकी तैयारी हो गई है और इसको...

अंडर-19 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची भारतीय महिला क्रिकेट टीम

साउथ अफ्रीका में खेला जा रहे अंडर-19 महिला टी20 विश्व कप में भारतीय महिला अंडर-19 टीम ने इतिहास रच दिया। पहले टी20 विश्व कप...

उत्तराखंड पहुंचे पंडित धीरेन्द्र शास्त्री, “बोले कायदे में रहोगे तो फायदे में रहोगे”

अपने दावों के कारण कई दिनों से चर्चा में आए बाबा बागेश्वर धाम धीरेंद्र शास्त्री उत्तराखंड पहुंचे हैं। इंटरनेट मीडिया पर वीडियो जारी कर...