Saturday, February 24, 2024
अल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19चमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदेहरादूननैनीतालपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरराजनीतिराज्यराष्ट्रीयरुद्रप्रयागहरिद्वार

AAJ UTTARAKHAND – TOP NEWS

हिमवीरों को मुख्यमंत्री ने किया सलाम दिया सम्मान 
 
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने  देहरादून के आईटीबीपी परिसर में गंगोत्री-2 पर्वतारोहण एवं 6 पीक आरोहण फ्लैग इन सैरेमनी में बहादुर हिमवीरों को सलाम किया और उन्हें सम्मानित किया है। आईटीबीपी द्वारा बीते सितम्बर  में 06 अनाम चोटियों पर पर्वतारोहण के लिए एक टीम भेजी गयी थी जिसका नेतृत्व सैक्टर देहरादून आईटीबीपी की उपमाहानिरीक्षक अर्पणा कुमार ने किया था । 08 सदस्यों के दल ने उत्तराखण्ड के उच्च हिमालय की 06 हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाली चोटियों का आरोहण किया। आईटीबीपी द्वारा एक और पर्वतारोहण अभियान उप सेनानी दीपेन्द्र मान के नेतृत्व में उत्तरकाशी से 21615 फीट की ऊंचाई पर गंगोत्री-2 चोटी का सफलतापूर्वक आरोहण कर तिरंगा फहराया। इस दल में 26 पर्वतारोही थे।   
 
 
 
सांसत में सीएम – फ्रंट पर कांग्रेस 
उत्तराखंड की सियासत में बीते कुछ घंटे में ही हलचल तेज़ हो गयी है। हाईकोर्ट ने जहाँ मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पर लगे भ्र्ष्टाचार के आरोपों की  सीबीआई जांच कराने का फरमान सुनाया तो सुबह होते ही विपक्षी कांग्रेस को जैसे बैठे बिठाये सरकार हिलाने का मौका हाँथ लग गया  …. हरीश प्रीतम ,इंदिरा , किशोर आज एक मंच पर बैठे और मीडिया के ज़रिये पहले पूरी त्रिवेंद्र सरकार से इस्तीफ़ा  माँगा और फिर सीधे राज्यपाल बेबी रानी मौर्या से मिलकर मौजूदा घटनाक्रम पर दखल देने की मांग करने का दावा किया है। कांग्रेस ने एक सुर में नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री से तुरंत इस्तीफ़ा देने की भी मांग शुरू कर दी है 
 
मुख्यमंत्री दफ्तर ने शिकायत पर लिया  कडा फैसला
 
कुछ दिनों पह्ले उत्तराखंड के कई विधायकों ने देहरादून के विधायक हॉस्टल की सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए विधान सभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल से शिकायत की थी।  इस शिकायती मुलाक़ात में सभी वरिष्ठ विधायक हॉस्टल की दुर्व्यवस्था का भी मुद्दा उठाया गए था जिसकी जानकारी सीधे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के सामने भी पहुँच गयी और आज एक कडा फैसला लेते हुए मुख्यमंत्री ने देहरादून में तैनात राज्य अतिथि गृह व्यवस्थाधिकारी रवींद्र पांडेय को तत्काल प्रभाव से हटाकर कौसानी भेज दिया है। अब इस फैसले को मुख्यमंत्री के जीरो टॉलरेंस पालिसी से जोड़ कर भी कर्मचारी और अधिकारी देख रहे हैं
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *