Thursday, April 25, 2024
उत्तराखंडदेहरादून

उत्तराखंड में आईटीएटी की सर्किट बेंच को एक साल पूरे, करदाताओं को मिली सहूलियत

इनकम टैक्स से जुड़े वादों के निपटारे के लिए 1 साल पहले देहरादून में बेहद ज़रूरी मानी जाने वाली इनकम टैक्स अपीलेट ट्रिब्यूनल की सर्किट बेंच की स्थापना की गई थी…. जिसके 1 साल पूरे होने पर आज एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में ट्रिब्यूनल के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित प्रदेश भर के चार्टर्ड अकाउंटेंट शामिल हुए। आईटीएटी के अध्यक्ष जस्टिस पीपी भट्ट और उपाध्यक्ष जीएस पन्नू ने बातचीत में बताया कि इस तरह के ट्रिब्यूनल बनने के बाद दिल्ली की दौड़ में परेशान रहने वाले वादों से जुड़े करदाताओं के अधिवक्ता और सीए को अब दिल्ली के चक्कर नहीं काटने पड़ते हैं। आपको यहां बता दें कि सर्किट बेंच का ऑफिस जोगीवाला के बद्रीपुर रोड में उत्तराखंड शुगर के कैंपस में बनाया गया है और उत्तराखंड से जुड़ी लगभग 900 अपीलों के सभी दस्तावेज अब इसी ऑफिस से संचालित किए जा रहे हैं। आज आयोजित हुए इस कार्यक्रम में इस क्षेत्र में प्रवेश करने वाले नए सीए को भी बाकायदा ट्रिब्यूनल से जुड़ी कार्यवाही की प्रक्रिया से रूबरू कराया गया और उन्हें सभी अहम जानकारी भी दी गई।

इनकम टैक्स अपीलेट ट्रिब्यूनल (आईटीएटी) देश की सबसे पुरानी ट्रिब्यूनल मानी जाती है जिसके अध्यक्ष जस्टिस पीपी भट्ट और उपाध्यक्ष जीएस पन्नू है …. आईटीएटी देहरादून शाखा के अध्यक्ष सीए रजनीश अग्रवाल ने बताया की पिछले साल से अबतक करीब 700 केसेस का निस्तारण किया गया, यह बहुत बड़ी उपलभ्दी है। साथ ही उन्होंने सेमिनार में मौजूद सभी सीए और अन्य लोगों के प्रति आभार व्यक्त किया। कोरोना के चलते कुछ मुश्किलें तो आईं लेकिन, इसके बावजूद आईटीएटी निरंतर अपने कार्यों में लगा रहा। कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए आईटीएटी देहरादून शाखा के पूर्व अध्यक्ष, सीए रजत शर्मा ने बताया कि आज के इस आयोजन से नए चार्टर्ड अकाउंटेंट को अपने वरिष्ठ अधिकारियों से मिले दिशा निर्देश और अनुभवों से काफी कुछ सीखने को मिला है, जो आगे चलकर उन्हें मामलों के निस्तारण में उन्हें काफी मदद करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *