Home उत्तराखंड पंचतत्व में विलीन हुईं डाॅ. इंदिरा हृदयेश, हल्द्वानी में हुआ अंतिम संस्कार

पंचतत्व में विलीन हुईं डाॅ. इंदिरा हृदयेश, हल्द्वानी में हुआ अंतिम संस्कार

उत्तराखण्ड की कद्दावर नेत्री और विधानसभा में विपक्ष की नेता डाॅ.इंदिरा हृदयेश पंचतत्व में विलीन हो गईं हैं। आज हल्द्वानी के चित्रशिला घाट पर पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अंतिम संस्कार किया गया। इससे पहले स्वराज आश्रम में उनके अंतिम दर्शनों के लिये पक्ष-विपक्ष के तमाम नेता और आम लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने भी अंतिम दर्शनों के लिये हल्द्वानी पहुंचे। उन्होंने डाॅ.इंदिरा हृदयेश को श्रद्धांजलि दी।

रविवार को दिल्ली में हुआ था निधन, दिल का दौरा पड़ने से हुई थी मौत

आपको बता दें कि डॉ. इंदिरा हृदयेश का रविवार को नई दिल्ली में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था। 80 वर्षीय इंदिरा पार्टी की बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली गई थीं। वह उत्तराखंड सदन में ठहरी हुई थीं वहीं उन्होंने अंतिम सांस ली। इंदिरा इस साल अप्रैल में कोविड-19 से भी संक्रमित हुई थीं। कोरोना से ठीक होने के बाद उनके दिल की सर्जरी हुई थी।

47 सालों से राजनीति में थीं सक्रिय-

करीब 47 सालों से राजनीति में सक्रिय इंदिरा हृदयेश हल्द्वानी से कांग्रेस विधायक थीं। 7 अप्रैल 1941 को जन्मी हृदयेश 1974 में उत्तर प्रदेश विधान परिषद के लिए पहली बार चुनी गईं। इसके बाद 1986, 1992 और 1998 में भी अविभाजित उत्तर प्रदेश विधान परिषद के लिये चुनी गईं। 2000 में उत्तराखंड के अलग राज्य बनने पर विधानसभा में प्रतिपक्ष की नेता बनीं। 2002 में उत्तराखंड विधानसभा चुनाव में हल्द्वानी से जीतीं।

स्व. नारायण दत्त तिवारी की सरकार में उनका इतना बोलबाला था कि उन्हें सुपर सीएम तक कहा जाता था। 2007 में वह चुनाव हार गईं। 2012 में फिर उन्होंने विधानसभा चुनाव जीता। वह पहले विजय बहुगुणा फिर हरीश रावत सरकार में मंत्री रहीं। 2017 के चुनाव में वह हल्द्वानी से जीती और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाई गईं। इंदिरा हृदयेश का अचानक चले जाना न केवल कांग्रेस के लिये बड़ी क्षति है बल्कि उनके जाने से उत्तराखण्ड की राजनीति में भी एक निर्वात पैदा हो गया है, जिसकी भरपाई शायद ही कभी हो पाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

गौतम अडानी मामले में अब आरबीआई का दखल, विपक्ष भी कर रहा जांच की मांग

अडानी ग्रुप पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद कंपनी के शेयर लगातार गिरते जा रहे हैं। रिपोर्ट के बाद अडानी कंपनी को भारी नुकसान...

अयोध्या पहुंची नेपाल से लाई गईं दो दिव्य शालिग्राम शिला, भव्य पूजन

नेपाल के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल जनकपुर से अयोध्या लाई गई देवसिला का पूजन हुआ। नेपाल के पूर्व उप प्रधानमंत्री जानकी मंदिर के महंत ने...

देहरादून में चलेगी नियो मेट्रो, केन्द्र को भेजा गया प्रस्ताव

देहरादून में मेट्रो और केबल कार प्रोजेक्ट के रद्द होने के बाद अब मेट्रो नियो चलाने पर काम किया जा रहा है। यूकेएमआरसी ने...

अंतिम संस्कार से पहले अचानक जिंदा हो गई महिला, देखकर हर कोई हो गया हैरान

क्या आपने कभी सुना है कि अतिंम संस्कार से ठीक पहले किसी के प्राण वापस लौट आए हों. जी हां ऐसा हुआ है और...

कड़ी सुरक्षा में होगी पटवारी-लेखपाल परीक्षा, इंटेलीजेंस और पुलिस के होंगे तीन घेरे

पेपर लीक कांड के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पटवारी-लेखपाल भर्ती में इस बार पुलिस के साथ एलआईयू भी तैनात की गई है।...

क्या कहता है भारत का आर्थिक सर्वेक्षण, बजट से हटकर चर्चाओं में आर्थिक सर्वेक्षण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट से एक दिन पूर्व सदन में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। आर्थिक सर्वेक्षण वित्त मंत्रालय द्वारा जारी की गई...

बजट 2023-24ः 5 से 7लाख की गई आयकर छूट, पढ़िये क्या हुआ महंगा, क्या सस्ता

केन्द्र की मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया गया है, हालांकि इस बजट को वित्त मंत्री ने अमृत काल...

एनडीटीवी से निधि राजदान का इस्तीफा, 23 सालों से थीं एनडीटीवी के साथ

एनडीटीवी की वरिष्ठ पत्रकार निधि राजदान ने चैनल से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी से जुडे कईं कर्मचारियों ने इस बात की पुष्टि की...

5 गोल्ड जीतने वाला हॉकी प्लेयर आज मंडी में पल्लेदारी कर रहा है, शर्मनाक

भारतीय खेलों के लिये इससे शर्मनाक और क्या हो सकता है जब एक होनहार हॉकी खिलाड़ी मैदान से दूर अपना और अपने परिवार का...

अमीरों की सूची में 11वें नंबर पर पहुँचे अडानी, ग्रुप के शेयरों में गिरावट जारी

हिंडनबर्ग रिपोर्ट रिपोर्ट ने पिछले बुधवार अडानी ग्रुप पर स्टाक हेरफेर और धोकाधडी का आरोप लगाया था। रिपोर्ट के रिलीज होते ही अडानी दुनिया...