Wednesday, February 28, 2024
उत्तराखंडदेहरादूनराजनीतिराज्य

अवैध खनन पर मंत्री हरक सिंह के बयान से मच गया बवाल, विपक्ष हुआ हमलावर

अवैध खनन को लेकर सीएम पुष्कर सिंह धामी के ओएसडी की चिट्ठी से मचा बवाल अभी थमा भी नहीं था कि अवैध खनन का एक और गंभीर मसला उठ खड़ा हुआ है। इस बार खुद सरकार में मंत्री हरक सिंह रावत ने नदियों में अवैध खनन होने की बात को स्वीकार किया है। जिसके बाद सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर आ गई है। हरक सिंह रावत के बयान के मुताबिक जांच में पता चला है कि उनके गृह जनपद पौड़ी में अवैध रूप से खनन किया जा रहा है। हरक ने कई गंभीर खुलासे करते हुये कहा कि लोगों को लगता था कि शायद मैं अवैध खनन करवा रहा हूं जबकि अवैध खनन से उनका कोई लेना देना नहीं है।

इस मामले में रावत ने लैंसडाउन के डीएफओ को वन मुख्यालय में एटैच कर उनके खिलाफ जांच के आदेश भी दे दिये हैं। लेकिन मामला इतने भर से शांत नहीं होने वाला था। जैसे ही मंत्री का बयान सार्वजनिक हुआ विपक्षी दलों ने इस मुद्दे पर सरकार पर सवाल उठाने शुरू कर दिये। आम आदमी पार्टी ने इस मसले पर प्रेसवार्ता कर कहा कि पांच सालों में सरकार अवैध खनन को बढ़ावा देती रही है। विपक्ष लगातार अवैध खनन के खिलाफ आवाज उठा रहा था और अब इस बात की पुष्टि खुद सरकार के मंत्री कर रहे हैं।

आपको बता दें कि अवैध खनन को लेकर विपक्ष लगातार राज्य सरकार पर सवाल खड़ा करता आया है। पूर्व सीएम हरीश रावत ने भी नदियों में हो रहे अवैध खनन को लेकर धामी सरकार पर कई सवाल खड़े किये हैं। पिछले दिनों जब बागेश्वर में खड़िये के अवैध वाहनों को छुड़ाने के लिये सीएम धामी के ओएसडी का खत सार्वजनिक हुआ तो मामले ने और तूल पकड़ लिया। अब मंत्री हरक सिंह रावत जो बात कह रहे हैं उससे अवैध खनन के मसले पर सरकार और संकट में घिरती दिखाई दे रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *