Wednesday, February 1, 2023
Home उत्तर प्रदेश चीन कोरिया ताइवान में नहीं अब सेना की वर्दी भारत में हो...

चीन कोरिया ताइवान में नहीं अब सेना की वर्दी [ फेब्रिक्स ] भारत में हो रही तैयार 

हिंदुस्तान में एक और बड़ी उपलब्धि प्रधानमंत्री नरेंद्र माेदी के आत्मनिर्भर भारत को मिलने जा रही है …… पीएम मोदी के वोकल फॉर लोकल के मंत्र काे भारतीय सेना ने भी अपनाया है। देश की पुलिस फोर्स और मिलिट्री के लिए जो डिफेंस फैब्रिक अब तक चीन, ताइवान और कोरिया से मंगाया जाता था, आज़ाद भारत में पहली बार अब वही  कपड़ा सूरत में तैयार होगा।

जी हाँ सूरत की टेक्सटाइल मिल को सेना ने 10 लाख मीटर डिफेंस फैब्रिक तैयार करने का पहला ऑर्डर दिया  है। डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन (DRDO) की गाइडलाइन पर यह कपड़ा तैयार हो रहा है। हालांकि पुलिस फाेर्स, मिलिट्री के 50 लाख से अधिक जवानों के लिए…..  हर साल 5 कराेड़ मीटर फैब्रिक्स लगता है। मीडिया में आ रही ख़बरों की माने तो  DRDO, CII के दक्षिण गुजरात संगठन के पदाधिकारी और सूरत के कपड़ा इंडस्ट्री की सितंबर में वर्चुअल बैठक भी इसी लिए हुई थी। इसमें सूरत की टेक्सटाइल इंडस्ट्री से कहा गया था की वो  देश की तीनों सेनाओं सहित विभिन्न सैन्य दलों की जरूरत का अब खुद देश में कपड़ा तैयार करे।


दीपावली से पहले ही डिफेंस फैब्रिक का सैंपल टेस्टिंग के लिए भेज दिया गया था। अप्रूवल मिलने के बाद 5 से 7 बड़े उत्पादकों की मदद से सेना के लिए यह कपड़ा तैयार किया जा रहा है। इस कॉन्ट्रैक्ट को अगले दो महीनों में तैयार भी  करना है। ऐसे में डीआरडीओ की गाइडलाइन के हिसाब से लैब और एक्सपर्ट कारीगरों  की व्यवस्था भी की गयी और फिर विशेष निगरानी में इस आर्मी ड्रेस के फैब्रिक को तैयार किया गया।

हांलाकि इसके लिए सबसे बड़ी चुनौती थी इसकी हाई टिनै सिटी  से कोई समझौता न हो। इसलिए इसे हाई टिनैसिटी यार्न से ही तैयार किया जा रहा है। इसके बाद इस फेब्रिक को  पंजाब-हरियाणा की गारमेंट यूनिट को भेज दिया जाएगा। यहां प्रोसेसिंग के जरिये कपड़े की गुणवत्ता बढ़ाई जाएगी। इसके बाद इससे जूते, पैराशूट, यूनिफॉर्म और बुलेटप्रूफ जैकेट, बैग तैयार किए जाएंगे। आपको यहाँ ये भी बता दें कि सूरत में देश की जरूरत का 65% कपड़ा तैयार होता है।


सुरक्षा क्षेत्र के लिए कपड़ा बनाने वाले एक्सपर्ट्स का कहना है कि यह कपड़ा हाई टिनै सिटी यार्न से तैयार होता है। लिहाज़ा यह इतना मजबूत होता है कि इसे कोई हाथ से फाड़ भी नहीं सकता। यानि  अब तक जो डिफेंस फैब्रिक विदेश से हमारे देश में आते थे अब वो समय की मांग काे देखते हुए आत्मनिर्भर भारत के फार्मूले पर पहली बार हिन्दुस्तान में ही तैयार किया जा रहा है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अमीरों की सूची में 11वें नंबर पर पहुँचे अडानी, ग्रुप के शेयरों में गिरावट जारी

हिंडनबर्ग रिपोर्ट रिपोर्ट ने पिछले बुधवार अडानी ग्रुप पर स्टाक हेरफेर और धोकाधडी का आरोप लगाया था। रिपोर्ट के रिलीज होते ही अडानी दुनिया...

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ हुये वाम दल, पुतला फूंक जताया विरोध

जोशीमठ मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के बयान से नाराज छात्र संगठन आइसा ने प्रदर्शन करते हुए उनका पुतला फूंका। आइसा ने...

रोडवेज की हड़ताल टली, शासन से आश्वासन मिलने के बाद संयुक्त मोर्चे ने किया एलान

रोडवेज कर्मचारियों को परिवहन निगम अपने खर्च पर दस लाख तक का बीमा देगा। ऐसे ही 13 आश्वासनों के बाद सोमवार को परिवहन निगम...

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की एडवाइजरी, चैनलों को राष्ट्रीय महत्व और जनसेवा पर आधारित कार्यक्रम बनाने की सलाह

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने टीवी चैनलों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। मंत्रालय के मुताबिक उसने कई ब्राडकास्टर्स औऱ चैनलों के एसोसियेशन...

कब बनेगा भोपालपानी पुल! 45 दिन पहले गिरा था पुल

देहरादून-जौलीग्रांट रोड पर क्षतिग्रस्त हुये भोपालपानी पुल को 1 माह बीतने के बाद भी ठीक नहीं किया गया है। तकरीबन 45 दिन पहले इस...

यमुनोत्री के राना गांव में भीषण अग्निकांड, देखते ही देखते जलकर राख हो गये गई घर

यमुनोत्री धाम से लगे राना गांव में बीती रात अचानक आवासीय मकानों में आग लग गई। रात करीब डेढ़ बजे गांव के बीचोंबीच अचानक...

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा समाप्त, 145 दिन बाद आज कश्मीर में हुआ समापन

राहुल गांधी की भारत जोडो यात्रा आज 145 दिन बाद समाप्त हो गई है। राहुल के भाषण के साथ आज कश्मीर में यात्रा का...

एनएसए अजित डोभाल पर राहुल गांधी का निशाना, समापन भाषण में दो बार लिया नाम

भारत जोड़ो यात्रा आज कश्मीर में समाप्त हो गई। यात्रा के समापन पर बीजेपी, आरएसएस, पीएम और गृह मंत्री एक बार फिर राहुल गांधी...

फिर सड़कों पर उतरे चयनित अभ्यर्थी, आयोग के गेट पर दिया धरना

कनिष्ठ सहायक भर्ती में नियुक्ति को लेकर हो रही देरी से चयनित अभ्यर्थी खासे नाराज हैं। दस्तावेज सत्यापन नहीं होने से चयनित अभ्यर्थियों का...

उत्तराखंड में कल से थम जाएंगे रोडवेज के पहिए, रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल कल आधी रात से

उत्तराखंड रोडवेज की बसों से सफर करने वाले हजारों यात्रियों को कल से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। 27 जनवरी को...