Saturday, April 13, 2024
राष्ट्रीय

क्या है डेल्मिक्रॉन? जानिए किन लोगों को है डेल्मिक्रॉन से अधिक खतरा

कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामले दुनियाभर में तेजी से बढ़ रहे हैं। यूरोप और अमेरिका में तेजी से पैर पसार रहा ओमिक्रॉन, भारत में भी फैलने लगा है। इसी बीच पिछले कुछ दिनों से कोरोना के सुपर स्ट्रेन डेल्मिक्रॉन की चर्चा शुरू हो गई है। माना ये भी जा रहा है कि डेल्मिक्रॉन ही अमेरिका और यूरोप में कोरोना के तूफानी गति से बढ़ने के लिए जिम्मेदार है। इस सुपर स्ट्रेन को लेकर कई विशेषज्ञ चिंता जता चुके हैं। वहीं डेल्मिक्रॉन को लेकर भारत में भी चिंता जताई जा रही है।

आपको बता दे डेल्मिक्रॉन कोरोना का कोई नया वैरिएंट नहीं है, दरहसल कुछ विशेषज्ञों का यह मानना है की कोरोना के डेल्टा वैरिएंट और ओमिक्रॉन वैरिएंट मिलकर एक सुपर स्ट्रेन बना रहे है जिसे ‘डेल्मिक्रॉन’ कहा जा रहा है। एक ही व्यक्ति में डेल्टा और ओमिक्रॉन दोनों के संक्रमण से पैदा होने वाली स्थिति को ही डेल्मिक्रॉन कहा जा रहा है। वहीं डॉक्टर्स का मानना है की कमजोर इम्यूनिटी वाले लोग डेल्टा और ओमिक्रॉन दोनों ही वेरिएंट से संक्रमित हो सकते है। ऐसे ही लोगों के अंदर डेल्टा और ओमिक्रॉन के वायरस मिलकर नया सुपर स्ट्रेन डेल्मिक्रॉन बना रहे है। माना जा रहा है कि डेल्मिक्रॉन में डेल्टा और ओमिक्रॉन के जुड़वां स्पाइक प्रोटीन हैं जिसकी वजह से ही डेल्मिक्रॉन ज्यादा घातक असर दिखा रहा है।

किन लोगों को है डेल्मिक्रॉन का सबसे अधिक खतरा?

विशेषज्ञों के अनुसार, डेल्मिक्रॉन फैलने का खतरा कमजोर इम्यूनिटी वाले, बुजुर्गों और एक से अधिक बीमारियों से जूझ रहे लोगों में सबसे ज्यादा है। इसी के साथ ऐसे लोग जिन्हे अभी तक कोरोना वैक्सीन नहीं लगी है और ऐसे क्षेत्रों में जहा अभी वैक्सीनेशन की रफ्तार धीमी है, वहां डेल्मिक्रॉन कहर बरपा सकता है। ऐसे में इससे बचने के लिए सबसे आवश्यक है कि वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *