Wednesday, October 5, 2022
Home उत्तराखंड देहरादून की सड़कों पर उतरे विभिन्न संगठनों के कर्मचारी, पुलिस ने बैरिकेडिंग...

देहरादून की सड़कों पर उतरे विभिन्न संगठनों के कर्मचारी, पुलिस ने बैरिकेडिंग से रोका तो धरने पर बैठ गए

-आकांक्षा थापा

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में आज यानि मंगलवार को विभिन्न संगठनों के कर्मचारियों ने सचिवालय कूच किया। इन सरकारी कर्मचारियों की 18 सूत्री मांगों को लेकर बनाए साझा मंच उत्तराखंड अधिकारी-कर्मचारी शिक्षक समन्वय समिति को पुलिस ने सैंट जोजफ्स के पास बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। वहीँ, कर्मचारी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से बात करने की मांग कर रहे थे। आपको बता दें आजकी इस महारैली के लिए ज्यादातर विभागों और निगमों से जुड़े कर्मचारी प्रदेशभर से देहरादून पहुंचे, जिसमे कलक्ट्रेट, तहसील, जल संस्थान, आरटीओ, विकास भवन, पेयजल निगम, उद्यान, पशुपालन, कृषि विभाग और रोडवेज आदि के कर्मचारी शामिल हुए हैं।

आपको बता दे की राज्य कर्मचारी, शिक्षक व अधिकारियों के साझा मंच के तहत प्रदेशभर में आंदोलन को लेकर पहले चरण में सभी सरकारी दफ्तरों में गेट मीटिंग की गई। इस दौरान समिति के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव से वार्ता भी की, लेकिन उचित भरोसा दिए जाने के बावजूद शासन ने समिति की मांगों पर गौर नहीं किया। दूसरे चरण में समिति ने सभी जिलों में धरना-प्रदर्शन किया व तीसरे चरण में अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी और कर्मचारियों के बीच एक अक्टूबर को वार्ता हुई। लेकिन उस वार्ता में भी सकारात्मक हल नहीं निकलने की वजह से समिति ने अपनी पूर्व प्रस्तावित महारैली को यथावत रखते हुए मंगलवार को सरकार के खिलाफ सचिवालय पर प्रदर्शन की बात कही है। प्रदेश स्तरीय हुंकार महारैली के बाद समिति बेमियादी हड़ताल करने का ऐलान भी कर सकती है।


ये है कर्मचारियों की प्रमुख मांगे –

1-प्रदेश के समस्त राज्य कार्मिकों/शिक्षकों/निगम/निकाय/पुलिस कार्मिकों को पूर्व की भांति 10, 16, व 26 वर्ष की सेवा पर पदोन्नति न होने की दशा में पदोन्नति वेतनमान अनुमन्य किया जाए।

2-राज्य कार्मिकों के लिए निर्धारित गोल्डन कार्ड की विसंगतियों का निराकरण करते हुए केन्द्रीय कर्मचारियों की भांति सीजीएसएस की व्यवस्था प्रदेश में लागू की जाय। प्रदेश एवं प्रदेश के बाहर उच्च कोटि के समस्त अस्पतालों को अधिकृत किया जाये। तथा सेवानिवृत्त कार्मिकों से निर्धारित धनराशि में 50 फीसद कटौती कम की जाए।

3-पदोन्नति के लिए पात्रता अवधि में पूर्व की भांति शिथिलीकरण की व्यवस्था बहाल की जाए।

4-केन्द्र सरकार की भांति प्रदेश के कार्मिकों के लिए 11 फीसद मंहगाई भत्ते की घोषणा शीघ्र की जाए।

5-प्रदेश में पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू की जाए।

6-मिनिस्टीरियल संवर्ग में कनिष्ठ सहायक के पद की शैक्षिक योग्यता इंटरमीडिएट के स्थान पर स्नातक की जाए। तथा एक वर्षीय कम्प्यूटर ज्ञान अनिवार्य किया जाए।

7-वैयक्तिक सहायक संवर्ग में पदोन्नति के सोपान बढ़ाते हुए स्टाफिंग पैर्टन के अन्तर्गत ग्रेड वेतन रु0 4800.00 में वरिष्ठ वैयक्तिक अधिकारी का पद सृजित किया जाए।

8-राजकीय वाहन चालकों को ग्रेड वेतन रु0 2400.00 इग्नोर करते हुए स्टाफिंग पैर्टन के अन्तर्गत ग्रेड वेतन रु0 4800.00 तक अनुमन्य किया जाए।

9-चतुर्थ वर्गीय कर्मचारियों को भी वाहन चालकों की भांति स्टाफिंग पैर्टन लागू करते हुए ग्रेड वेतन रु0 4200.00 तक अनुमन्य किया जाए।

10-समस्त अभियन्त्रण विभागों में कनिष्ठ अभियन्ता (प्राविधिक)/संगणक के सेवा प्राविधान एक समान करते हुए इस विसंगति को दूर किया जाए।

11-सिंचाई विभाग को गैर तकनीकी विभागों (शहरी विकास विभाग, पर्यटन विभाग, परिवहन विभाग, उच्च शिक्षा विभाग आदि) के निर्माण कार्य के लिए कार्यदायी संस्था के रूप में स्थाई रूप से अधिकृत कर दिया जाए।

12-राज्य सरकार की ओर से लागू एसीपी/एमएसीपी के शासनादेश में उत्पन्न विसंगति को दूर करते हुए पदोन्नति के लिए निर्धारित मापदंडो के अनुसार सभी लेवल के कार्मिकों के लिये 10 वर्ष के स्थान पर 05 वर्ष की चरित्र पंजिका देखने तथा “अतिउत्तम” के स्थान पर “उत्तम” की प्रविष्टि को ही आधार मानकर संशोधित आदेश शीघ्र जारी किया जाए।

13-जिन विभागों का पुर्नगठन अभी तक शासन स्तर पर लम्बित है, उन विभागों का शीघ्र पुनर्गठन किया जाए।

14-31 दिसम्बर तथा 30 जून को सेवानिवृत्त होने वाले कार्मिकों को 06 माह की अवधि पूर्ण मानते हुये एक वेतन वृद्धि अनुमन्य कर सेवानिवृत्ति का लाभ प्रदान किया जाए।

15-स्थानान्तरण अधिनियम-2017 में उत्पन्न विसंगतियों का निराकरण किया जाए।

16-राज्य कार्मिकों की भांति निगम/निकाय कार्मिकों को भी समान रूप से समस्त लाभ प्रदान किये जाए।

17-तदर्थ रूप से नियुक्त कार्मिकों की विनियमितिकरण से पूर्व तदर्थ रूप से नियुक्ति की तिथि से सेवाओं को जोड़ते हुये वेतन/सैलेक्शन ग्रेड/एसीपी/पेंशन आदि समस्त लाभ प्रदान किया जाए।

18-समन्वय समिति से सम्बद्ध समस्त परिसंघों के साथ पूर्व में शासन स्तर पर हुई बैठकों में किये गये समझौते/निर्णयों के अनुरूप शीघ्र शासनादेश जारी कराया जाए

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

पौड़ी के सिमड़ी में भयानक बस हादसा, दर्दनाक हादसे में 25 लोगों की मौत

बीते मंगलवार की रात हरिद्वार स्थित लालढांग के लोगों पर काल बनकर टूट पड़ी। लालढांग से बीरोंखाल पौड़ी के कांडा तल्ला गांव जा रही...

Uttarkashi Avalanche: बर्फ के तूफान में लापता हुए 28 लोग, 2 की मौत, CM Dhami ने मांगी सेना से मदद

केदारनाथ के बाद अब द्रौपदी पर्वत में आया एवलॉन्च। एवलॉन्च के चलते बर्फीली पहाड़ियों पर फंसे 28 लोग, हादसे में 2 की मौत ।...

मास्टरमाइंड हाकम का रिसॉर्ट तोड़ने पहुंची टीम, धरने पर बैठ ग्रामीणों ने जताया विरोध

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग पेपर लीक मामले में आरोपी मास्टमाइंड हाकम सिंह रावत का सांकरी स्थित रिजॉर्ट को गिराने के लिया पिछले दिनों...

शेयरों में दिखी गिरावट, अमीर लोगों की सूची में नीचे खिसके गौतम अदाणी

दुनिया के शीर्ष तीन अमीर कारोबारियों में शामिल भारतीय व्यवसायी गौतम अदाणी और एलन मस्कको एक दिन में लगभग 25 मिलियन डॉलर यानी 2...

टी20 वर्ल्ड कप में भारत को झटका, जसप्रीत बुमराह टी20 वर्ल्ड कप 2022 से हुए बाहर

सोमवार को बीसीसीआइ ने मुहर लगा दी कि तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह आगामी टी20 वर्ल्ड कप से बाहर हो गए हैं। हालांकि उनके रिप्लेसमेंट...

नवमी पर सीएम पुष्‍कर सिंह धामी ने जिमाई कन्‍या, मां दुर्गा के नौ स्‍वरूपों का लिया आशीर्वाद

नवमी के दिन मंगलवार को उत्‍तराखंड भर में मां दुर्गा के नौ स्‍वरूपों की पूजा अर्चना की जा रही है। इस क्रम में मुख्‍यमंत्री...

उत्तराखण्ड में चीन सीमा पर दशहरा मनाएंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, आज पहुंचेंगे देहरादून

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह उत्तराखंड में चीन सीमा पर स्थित अग्रिम चौकी पर सेना और आईटीबीपी के जवानों के साथ विजयादशमी मनाएंगे। इस मौके पर...

हरिद्वार को मिला देश के गंगा टाउन में पहला स्थान, लेकिन उत्तराखंड का सबसे गंदा शहर, पढिये पूरी खबर

राष्ट्रीय स्तर की ओवरआल रैंकिंग में पिछले साल 279वें स्थान पर रहा हरिद्वार इस वर्ष 300वें नंबर पर आ गया। स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में...

Indian Air Force में शामिल हुए हल्के लड़ाकू हेलीकॉप्टर ‘प्रचंड’, भारतीय वायुसेना को मिलेगी मदद

आजादी से लेकर अब तक भारत को सुरक्षित रखने में भारतीय वायु सेना की बड़ी शानदार भूमिका रही है। आंतरिक खतरे हों या बाहरी...

एसआइटी ने की रिसॉर्ट में बुकिंग करवाने वालों की पहचान, दर्ज किए जा रहे बयान

अंकिता हत्याकांड मामले में वीआईपी सर्विस देने के मामले से अभी भी पर्दा नहीं उठ पाया है। वहीं एसआइटी ने घटना से पहले व...