Wednesday, May 22, 2024
उत्तराखंडहरिद्वार

नेपाली फार्म पर टोल प्लाजा नहीं बनना चाहिए: विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल

-आकांक्षा थापा

हरिद्वार-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग पर रायवाला के समीप नेपाली फार्म तिराहे के पास टोल प्लाजा बनाए जाने को लेकर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के क्षेत्रीय अधिकारियों के साथ बैठक की। साथ ही, उन्होंने यहां प्रस्तावित टोल प्लाजा को लेकर कड़ी आपत्ति जताते हुए नाराजगी भी व्यक्त की। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा की जनता के ऊपर बेवज़ह के टैक्स का भार नहीं सौंपा जाना चाहिए। इसके अल्वा उनके मुताबिक इस टोल प्लाजा के बनने से वहाँ रहने वाले नागरिकों पर अनावश्यक आर्थिक बोझ पड़ेगा और इसके साथ समय की बर्बादी भी होगी। यही नहीं, वे नेपाली फार्म में टोल प्लाजा बनाने के निर्णय का विरोध करते नज़र आए।

दरअसल, शुक्रवार को वीरभद्र मार्ग स्थित कैंप कार्यालय में विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के क्षेत्रीय अधिकारी, सीके सिन्हा व परियोजना निदेशक, पंकज मोर्या के साथ बैठक की। इसपर प्रेमचंद अग्रवाल ने कहा है कि जनता के ऊपर बेवजह टैक्स का भार न सौंपा जाए। साथ ही, उन्होंने कहा कि इस टोल प्लाजा के बनने से जहां नागरिकों पर अनावश्यक आर्थिक बोझ पड़ेगा, वहीं समय की बर्बादी भी होगी। इसके साथ उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि नेपाली फॉर्म के पास किसी भी हालत में टोल प्लाजा नहीं बनना चाहिए, इसके लिए वह पुनरू मुख्यमंत्री से भी वार्ता करेंगे। उन्होंने पुनरू लोक निर्माण विभाग के सचिव आरके सुधांशु से भी दूरभाष पर वार्ता की और निर्देश दिया है कि इसका शीघ्र समाधान निकाला जाए। बता दें की, अग्रवाल ने एनएचएआई के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा है कि एक ही प्रोजेक्ट में दो जगह टोल प्लाजा लगाना न्यायोचित नहीं है।

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने अधिकारियों पर भी नाराजगी जताई और कहा कि जब हरिद्वार देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग पर फ्लाईओवर एवं राष्ट्रीय राजमार्ग का कार्य गतिमान था, उस दौरान भी अधिकारियों द्वारा नेपाली फार्म टोल प्लाजा के बारे में जन प्रतिनिधियों को अवगत नहीं कराया गया, यह अधिकारियों की लापरवाही को दर्शाता है। इस मामले में विभागीय अधिकारियों द्वारा जन प्रतिनिधियों के साथ कोई भी समन्वय नहीं बनाया गया है, जो उचित नहीं है। बिना स्थानीय जन प्रतिनिधियों के सलाह मशवरा के इस प्रकार का निर्णय लेना उचित नहीं है। उन्होंने कहा है कि व्यापक जनहित को देखते हुए नेपाली फार्म में टोल प्लाजा नहीं बनाना चाहिए और यह निर्णय विभाग को वापस लेना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *