Thursday, November 30, 2023
Home कोविड 19 कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट ज़्यादा घातक और देश में दूसरी लहर...

कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट ज़्यादा घातक और देश में दूसरी लहर का जिम्मेदार

-आकांक्षा थापा

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर अब थमने लगी है। जहाँ कुछ समय पहले हालात एकदम बेकाबू हो चुके थे, वहीँ अब संक्रमण पहले के मुकालबे कम फ़ैल रहा है। देश में आई कोरोना की दूसरी लहर को लेकर जानकारों ने अब एक बड़ा खुलासा किया है। जी हाँ, एक शोध के आधार पर जानकारों ने दावा किया है कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर के लिए “डेल्टा वैरिएंट” को जिम्मेदार माना जा सकता है। इसे “अल्फा वैरिएंट” से भी ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है।INSACOG की ओर से किए गए एक शोध में जानकारों द्वारा इसका दावा किया गया है। भारत में इस वैरिएंट चिंता का विषय बताया गया है। आपको बता दें की देश में डेल्टा वैरिएंट के अब तक 12,000 से ज्यादा मामले सामने आये हैं, यह जानकारी नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ने दी है। वहीँ इस शोध की बात की जाए तो, INSACOG ने यह शोध किया है। बता दें की INSACOG भारत में जीनोम अनुक्रमण करने वाली प्रयोगशालाओं का संघ है।

क्या है कोरोना का डेल्टा वैरिएंट ?
देश में मिले कोरोना वैरियंट्स के वैज्ञानिक नाम B.1.617.2 और B.1.618 हैं। इनमे से B.1.617.2 वैरियंट सबसे पहले पाया गया था, जिसे डबल म्यूटेंट स्ट्रेन भी कहा गया था। आपको बता दें की यहाँ हम जिस डेल्टा वैरिएंट की बात कर रहे है वो B.1.617.2 ही है। इसके अलावा B.1.618 वैरियंट को कप्पा के नाम से जाना जाएगा।

डेल्टा वैरिएंट अल्फ़ा वैरिएंट से ज़्यादा खतरनाक
डेल्टा वैरिएंट यानि B.1.617.2, अल्फा वैरिएंट यानि B.1.1.7 की तुलना मे 50% तेजी से फैलता है। यहाँ गौर करने वाली बात यह है की वैक्सीन लेने के बावजूद भी कोरोना के इस वैरिएंट से संक्रमित होने की संभावनाएं कम नहीं बल्कि काफी ज़्यादा है। दूसरी तरफ बात करें कोरोना के अल्फा वैरिएंट की, तो अक्सर देखा गया है की वैक्सीन लगाने के बाद इस वैरिएंट से एक भी व्यक्ति कोरोना से संक्रमित नहीं हुआ है।

देश के इन हिस्सों में डेल्टा वैरिएंट की मौजूदगी
भारत में आई दूसरी लहर में कोरोना के डेल्टा वैरिएंट ने वायरस के बाकी सभी वैरिएंटों को पीछे छोड़ दिया। आपको बता दें कि कुल 29,000 जीनोम अनुक्रमण (सिक्वेंसिंग) में 1000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। जबकि अबतक डेल्टा वैरिएंट के 12,200 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। डेल्टा वैरिएंट का सबसे ज्यादा असर दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और तेलंगाना में देखने को मिला है हालाँकि, इस वैरिएंट की मौजूदगी लगभग देश के सभी राज्यों में है…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चीन में फैली बच्चों की बीमारी, उत्तराखंड में जारी हुआ अलर्ट

चीन में छोटे बच्चों में फैल रहे निमोनिया और इन्फ्लूएंजा फ्लू को लेकर उत्तराखंड में भी स्वास्थ्य महकमे ने अलर्ट जारी किया है। स्वास्थ्य...

सिलक्यारा टनल पर कांग्रेस के सवाल, कहा दोषी कंपनी के खिलाफ कार्यवाई कब?

सिलक्यारा टनल से बचकर बाहर आये मजदूरों को दी गई आर्थिक मदद को कांग्रेस ने नाकाफी करार दिया है। कांग्रेस की मांग है कि...

उत्तराखंड को नये डीजीपी की तलाश शुरू, 30 नवंबर को सेवानिवृत हो रहे हैं वर्तमान डीजीपी आशोक कुमार

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार 30 नवंबर को सेवानिवृत हो रहे हैं। उससे पहले उत्तराखंड में डीजीपी के नाम का चुनाव करना है,...

जब फेल हुआ विज्ञान तो देवदूत बनकर पहुंचे रैट माइनर्स, सिलक्यारा रेस्क्यू के हीरो

सिलक्यारा टनल में 17 दिनों तक फंसे सभी 41 मजदूर सकुशल बाहर निकल आये हैं, सभी स्वस्थ्य हैं और जल्द ही इन्हें अस्पताल में...

उत्तराखंड में बदला मौसम का मिजाज, चारो धामों में जमकर हो रही बर्फबारी

उत्तराखंड में बीते बुधवार से मौसम का मिजाज बदल गया है। इस दौरान राज्य के पर्वतीय इलाकों में कहीं कहीं बारिश तो कहीं ओला...

सिलक्यारा टनल में ऑपरेशन जिंदगी सफल, 16 दिन बार सकुशल बाहर निकल रहे हैं 41 मजूदर

16 दिनों से सिलक्यारा टनल में फंसे 41 मजदूर जीत गये, जी हां उनके जज्बे की जीत हुई, उनका धैर्य जीत गया। जिंदगी और...

रोबोटिक से 100 सर्जरी पूरी कर मैक्स हॉस्पिटल ने बनाया रिकार्ड

रोबोटिक सर्जरी के मामले में मैक्स हॉस्पिटल ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है। मैक्स हॉस्पिटल ने ग्यारह महीनों की अवधि में 100 रोबोटिक सर्जरी...

उत्तरकाशी टनल में हाथों से खुदाई करने रैट माइनर्स पहुंचे:12 मीटर बची है हॉरिजॉन्टल ड्रिलिंग, पतले पाइप में घुसकर ड्रिल करने में माहिर

उत्तराखंड की सिल्क्यारा-डंडालगांव टनल में सोमवार 27 नवंबर से मैनुअली हॉरिजॉन्टल ड्रिलिंग भी शुरू हो सकती है। इसके लिए रैट माइनर्स को बुलाया गया...

सिलक्यारा टनल हादसे को 15 दिन पूरे, टनल के उपरी हिस्से से शुरू हुई वर्टिकल ड्रिलिंग

सिलक्यारा टनल में फंसे मजदूरों को आज 15 दिन हो चुके हैं आज 16वां दिन है। टनल के मुहाने से हो रही हॉरिजॉन्टल ड्रिलिंग...

पूर्व सीएम हरीश रावत ने की मैक्स हॉस्पिटल की सराहना, स्वस्थ्य होकर अस्पताल से लौटे रावत

देहरादून- उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री श्री हरीश सिंह रावत ने हाल ही में देहरादून में स्वास्थ्य सेवाओं के साथ अपने सकारात्मक अनुभव साझा किए,...