Tuesday, June 18, 2024
कोविड 19

कब लगेगा कोरोना का बूस्टर डोज, क्या है इससे जुड़े अपडेट, जानिए

देश में कोरोनावायरस के ओमीक्रोन वेरिएंट की एंट्री के बाद लोग एक बार फिर भय और आशंकाओं से घिर गए हैं… कोरोना की पहली और दूसरी लहर में देशभर में जो भयावह स्थितियां बनी थीं, उसे देखते हुए लोग तीसरी लहर की आशंका से डरे हुए हैं। इस बीच केंद्र सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय  की ओर से वैक्सीन के लिए पात्र लोगों से दोनों डोज लगवाने की अपील की जा रही है। वहीं कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए बूस्टर डोज की भी चर्चा होने लगी है। अक्टूबर में हेल्थ जर्नल लैंसेट में आई एक स्टडी में बताया गया था कि फिलहाल बूस्टर डोज की जरूरत नहीं है। लेकिन एक्सपर्ट्स का ये भी कहना था कि अगर कोरोना का कोई नया खतरनाक स्ट्रेन सामने आता है तो नई डोज की जरूरत पड़ सकती है….

लेकिन, बूस्टर डोज को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल उठ रहे हैं. उनमें से एक अहम सवाल वैक्सीन चेंज करने को लेकर भी है…  जैसे अगर आपने कोवैक्सीन या कोविशील्ड  या स्पूतनिक लगवा रखी है और आपकी दोनों डोज पूरी हो चुकी हैं… ऐसे में क्‍या दूसरी कंपनी की बूस्‍टर डोज ली जा सकती है? आइए समझने की कोशिश करते हैं की बूस्टर डोज पर क्या है अपडेट.. किसी भी देश में बूस्टर डोज के लिए सबसे जरूरी है कि टीके का पर्याप्त स्टॉक होना चाहिए..  भारत में यह इसलिए भी महत्‍वपूर्ण है क्योंकि फिलहाल सभी पात्र व्यस्कों के लिए टीकाकरण अभियान जारी है. . बूस्टर डोज के चक्कर में यह अभियान प्रभावित नहीं हो, इसका ध्यान रखना जरूरी है.. . बहरहाल देश की अग्रणी वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इं​स्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बूस्‍टर डोज के लिए सरकार से अनुमति मांगी है… सीरम ने ड्रग रेग्यूलेटर से कोविशील्ड को बूस्टर डोज के तौर पर मंजूरी देने का अनुरोध किया है.. कंपनी का कहना है कि देश में टीके का पर्याप्त भंडार है और संक्रमण के नए स्वरूप को देखते हुए बूस्टर खुराक की जरूरत है.. . आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक, भारतीय औषधि नियामक को भेजी एक अर्जी में सीरम इंडिया में नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने ब्रिटेन में बूस्टर डोज को अनु​मति दिए जाने का हवाला देते हुए आग्रह किया है. .

सिंगल डोज वैक्सीन स्पूतनिक लाइट को लेकर भी निर्माता कंपनी का दावा है कि यह बेहतर बूस्टर डोज साबित हो सकती है। इधर देसी कंपनी भारत बायोटेक नेसल कोरोना वैक्सीन यानि नाक के जरिए दी जाने वाली वैक्सीन पर काम कर रही है.. भारत बायोटेक के मुताबिक नेजल वैक्सीन भी बूस्टर डोज के लिए अच्छी चॉइस साबित हो सकती है…  हालांकि हर बात की मूल बात ये है कि बूस्टर डोज को लेकर जब तक सरकार फैसला नहीं लेती तब तक आमजन को इंतजार करना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *