Saturday, May 18, 2024
उत्तराखंडमौसम

समूचे उत्तर भारत में शीत लहर, उत्तराखण्ड में हुई रिकॉर्ड तोड़ बर्फबारी, आज भी मौसम बना रहेगा सर्द

देहरादून- बीते दो दिनों से उत्तराखण्ड समेत समूचे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। उत्तराखण्ड के पर्वतीय इलाकों में रिकार्ड तोड़ बर्फबारी हुई है। पहाड़ सफेद बर्फ की चारद में लिपटे हैं और बारिश के चलते मैदानी इलाकों में जबर्दस्त शीत लहर चल रही है। तराई में बारिश के कारण फसलों को नुकसान पहुंचा है। फिलहाल राज्य के लोगों को मौसम से राहत मिलती नहीं दिखाई दे रही है। मौसम विभाग ने आज भी पहाड़ी इलाकों के लिए बारिश और बर्फबारी की चेतावनी जारी की है। कल राज्य के ज्यादातर पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हुई। नैनीताल में भी बर्फबारी हुई है और बर्फबारी के कारण राज्य की 62 से अधिक सड़कें बंद हो गई है। रास्ते बंद होने से लोग जगह-जगह फंस गए हैं। जानकारी के मुताबिक कर्णप्रयाग और नैनीताल जिले के कई पर्वतीय मार्ग 12 घंटे से बंद चल रहे हैं। इसके कारण पोलिंग पार्टियां भी रास्तों में फंसी हुई हैं। जबकि बर्फबारी के कारण डेढ़ महीने से बंद पड़ी मानी और नीति की सड़कों को खोलने के लिए बीआरओ को काफी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। त्यूणी-चकराता, चकराता-लखामंडल मार्ग बंद होने से स्थानीय लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
मौसम विभाग ने शुक्रवार को देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल, टिहरी, चंपावत और यूएस नगर में बारिश और ओलावृष्टि का येलो अलर्ट जारी किया है. विभाग ने शुक्रवार को भी कुमाऊं मंडल के कुछ जिलों में भारी से भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। वहीं 5, 6 और 7 फरवरी को उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर, पिथौरागढ़, देहरादून जिलों में बारिश और बर्फबारी होने की संभावना जताई है। गुरुवार को पहाड़ के साथ ही मैदानी क्षेत्र में बारिश के कारण तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। हरिद्वार, रुड़की और ऋषिकेश में बारिश के कारण तापमान में गिरावट आयी है। राज्य के पहाड़ी इलाकों में रिकॉर्ड तोड़ बर्फबारी हुई है। अल्मोड़ा, पिथौरागढ़ शहरी क्षेत्र में कई वर्षों बाद बर्फबारी हुई है। मसूरी, धनौल्टी, चकराता और नैनीताल समेत तमाम हिल स्टेशनों पर बर्फबारी से व्यापारियों और पर्यटकों के चेहरे खिल उठे हैं। हालांकि बर्फबारी और फिसलन के कारण सड़कें बंद हुई हैं और इसके कारण पर्यटकों को परेशानी का भी सामना करना पड़ा है। नैनीताल में बर्फ देखने के लिए उमड़े पर्यटकों की भीड़ के कारण लंबा जाम लग गया और मसूरी-धनौल्टी मार्ग बंद होने से कई वाहन अभी भी फंसे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *