Monday, June 24, 2024
उत्तर प्रदेशराजनीति

नहीं रहे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के अनुयायी और मध्य प्रदेश के राज्यपाल लाल जी टंडन

नहीं रहे देश के दिग्गज राजनेता लाल जी टंडन ….. नहीं रहे पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के अनुयायी और मध्य प्रदेश के राज्यपाल लाल जी टंडन। ….  लखनऊ के पूर्व सांसद लालजी टंडन की हालत कई दिनों से नाजुक बनी हुयी थी  लखनऊ के मेदांता अस्पताल में स्वर्गीय टण्डन इलेक्टिव वेंटिलेटर पर थे और आज मध्यप्रदेश के राज्यपाल लाल जी टंडन का 85  साल की उम्र में सुबह निधन हो गया ….

उन्होंने सुबह 5:35 बजे अंतिम सांस ली। उनके पुत्र नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने ये दुखद जानकारी ट्वीट से जानकारी दी। .

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालजी टंडन के निधन पर दुख व्यक्त किया. पीएम मोदी ने ट्वीट कर लिखा, “लालजी टंडन को उनकी समाज सेवा के लिए याद किया जाएगा. उन्होंने उत्तर प्रदेश में बीजेपी को मजबूत बनाने में अहम भूमिका निभाई. वह जनता की भलाई के लिए काम करने वाले नेता थे. वह कानूनी मामलों के जानकार थे और अटलजी के साथ उन्होंने लंबा वक्त बिताया. मैं उनके प्रति श्रद्धांजलि व्यक्त करता हूं.”

 

एक नज़र लाल जी टंडन के जीवन सफर पर – 

1. 12 अप्रैल 1935 को लालजी टंडन का जन्म उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हुआ था. लालजी टंडन शुरुआत से ही संघ से जुड़े रहे हैं.

2. उन्होंने स्नातक तक पढ़ाई की है. इसके बाद साल 1958 में लालजी की शादी कृष्णा टंडन से हुई.
3. संघ से जुड़ने के दौरान ही पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी से इनकी मुलाकात हुई थी. लालजी शुरूआत से ही अटल बिहारी वाजपेयी के करीबी रहे हैं.
4. लालजी टंडन का राजनीतिक सफर साल 1960 में शुरू हुआ. टंडन दो बार पार्षद चुने गए और दो बार विधानपरिषद के सदस्य भी रहें.

5. लालजी टंडन ने इंदिरा गांधी सरकार के खिलाफ जेपी आंदोलन में बढ़-चढ़कर भागीदारी की थी.
6. लालजी को उत्तर प्रदेश की राजनीति में कई अहम प्रयोगों के लिए भी जाना जाता है. साल 1990 में भाजपा-बसपा की गठबंधन वाली सरकार बनाने में लालजी का अहम योगदान रहा था.
7. लालजी टंडन साल 1996 से 2009 तक लगातार 3 बार चुनाव जीतकर विधानसभा जा चुके हैं.
8. साल 2009 में लालजी टंडन ने लखनऊ लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रीता बहुगुणा जोशी को 40 हजार से ज्यादा वोटों से हराया था.


9. बीजेपी के समर्थन से मायावती की सरकार बनी तो उन्होंने 22 अगस्त 2002 को भाजपा नेता लालजी टंडन को अपना भाई बनाया और उन्हें चांदी की राखी बांधी थी.
10. लालजी टंडन ‘अनकहा लखनऊ’ नाम की एक किताब लिखी है. इस किताब में उन्होंने लखनऊ को लेकर कई खुलासे किये हैं.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *