Wednesday, February 1, 2023
Home अंतरराष्ट्रीय बिहार में कौन जीता कौन हारा - तेजस्वी का तेज़ क्यों हुआ...

बिहार में कौन जीता कौन हारा – तेजस्वी का तेज़ क्यों हुआ फेल 

कोरोना संक्रमण के चलते अभूतपूर्व परिस्थिति में हुए बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम की तस्वीर आधी रात के बाद साफ हो सकी। एनडीए ने भले नीतीश की अगुवाई में चुनाव लड़ा, लेकिन उनकी खुद की पार्टी जदयू को पिछले विधानसभा चुनाव से 28 सीटें कम मिली। जबकि वोट प्रतिशत घटने के बावजूद भाजपा की सीटें बढ़ी हैं। वहीं, राजद 75 सीटों पर जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी है।राजद के सहयोगी वामदलों को फायदा हुआ जबकि कांग्रेस नुकसान में रही।
कोरोनाकाल के पहले विधानसभा चुनाव में रोमांच से भरे मुकाबले में एआईएमआईएम ने विपक्षी महागठबंधन के जीत के सपने को चूर कर दिया। वहीं, एनडीए की पुरानी सहयोगी लोजपा ने खुद को ‘शहीद’ कर जदयू को तीसरे नंबर पर धकेलकर भाजपा का ‘छोटा भाई’ बनने पर मजबूर कर दिया। नतीजे पर संशय देर रात तक जारी रहा। सत्ता की चाबी कभी एनडीए के हाथ जाती दिखी तो कभी महागठबंधन के। इस बीच देर शाम राजद ने धांधली का आरोप लगाया। वहीं, चुनाव आयोग ने देर रात एक बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया।
 

देश भर में जिस एग्जिट पोल का हल्ला मचा हुआ था उसको झूठा साबित करते हुए, बिहार विधानसभा चुनाव में  एनडीए ने अपनी जीत का परचम लहरा दिया है। एनडीए गठबंधन ने 125 सीटों पर जीत हासिल की है। अब नीतीश कुमार सातवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभालेंगे।

नीतीश कुमार बिहार के 37वें मुख्यमंत्री रूप में शपथ लेंगे। भाजपा ने साफ कर दिया था कि जदयू की कम सीटें आएंगी तो भी उनके नेता नीतीश कुमार ही होंगे। भाजपा को 74 और जदयू को 43 सीटों पर जीत मिली है।
जानिए कब कब बिहार के सीएम बने नीतीश कुमार
बिहार की राजनीति में अपनी एक अलग छवि बनाने वाले नीतीश कुमार सातवीं बार राज्य के सीएम की शपथ लेंगे। 


नीतीश कुमार सबसे पहले 3 मार्च 2000 में मुख्यमंत्री बने थे, लेकिन बहुमत न होने के कारण सात दिन बाद उनकी सरकार गिर गई थी।
नीतीश ने 24 नवंबर 2005 में दूसरी बार सीएम पद की शपथ ली।
26 नवंबर 2010 को तीसरी बार वह बिहार के सीएम बने।
22 फरवरी 2015 को चौथी बार मुख्यमंत्री बने।
राजद के साथ गठबंधन में 20 नवंबर 2015 को पांचवीं बार मुख्यमंत्री बने।
राजद से रिश्ता तोड़ने के बाद भाजपा के साथ गठबंधन करने के बाद 27 जुलाई 2017 को छठी बार मुख्यमंत्री बने।

आपको बता दें, नीतीश कुमार बिहार चुनाव की कई रैलियों में ये घोषणा कर चुके हैं कि ये उनका आखिरी चुनाव होगा। नीतीश ने बिहार पर लंबे अरसे से राज किया है। इस बार नीतीश कुमार को लालू यादव के बेटे तेजस्वी से कड़ी टक्कर मिली। अब विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री पद के लिए नीतीश के नाम पर मुहर लगेगी जिसके बाद उनका शपथग्रहण होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अमीरों की सूची में 11वें नंबर पर पहुँचे अडानी, ग्रुप के शेयरों में गिरावट जारी

हिंडनबर्ग रिपोर्ट रिपोर्ट ने पिछले बुधवार अडानी ग्रुप पर स्टाक हेरफेर और धोकाधडी का आरोप लगाया था। रिपोर्ट के रिलीज होते ही अडानी दुनिया...

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के खिलाफ हुये वाम दल, पुतला फूंक जताया विरोध

जोशीमठ मामले में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट के बयान से नाराज छात्र संगठन आइसा ने प्रदर्शन करते हुए उनका पुतला फूंका। आइसा ने...

रोडवेज की हड़ताल टली, शासन से आश्वासन मिलने के बाद संयुक्त मोर्चे ने किया एलान

रोडवेज कर्मचारियों को परिवहन निगम अपने खर्च पर दस लाख तक का बीमा देगा। ऐसे ही 13 आश्वासनों के बाद सोमवार को परिवहन निगम...

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की एडवाइजरी, चैनलों को राष्ट्रीय महत्व और जनसेवा पर आधारित कार्यक्रम बनाने की सलाह

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने टीवी चैनलों के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। मंत्रालय के मुताबिक उसने कई ब्राडकास्टर्स औऱ चैनलों के एसोसियेशन...

कब बनेगा भोपालपानी पुल! 45 दिन पहले गिरा था पुल

देहरादून-जौलीग्रांट रोड पर क्षतिग्रस्त हुये भोपालपानी पुल को 1 माह बीतने के बाद भी ठीक नहीं किया गया है। तकरीबन 45 दिन पहले इस...

यमुनोत्री के राना गांव में भीषण अग्निकांड, देखते ही देखते जलकर राख हो गये गई घर

यमुनोत्री धाम से लगे राना गांव में बीती रात अचानक आवासीय मकानों में आग लग गई। रात करीब डेढ़ बजे गांव के बीचोंबीच अचानक...

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा समाप्त, 145 दिन बाद आज कश्मीर में हुआ समापन

राहुल गांधी की भारत जोडो यात्रा आज 145 दिन बाद समाप्त हो गई है। राहुल के भाषण के साथ आज कश्मीर में यात्रा का...

एनएसए अजित डोभाल पर राहुल गांधी का निशाना, समापन भाषण में दो बार लिया नाम

भारत जोड़ो यात्रा आज कश्मीर में समाप्त हो गई। यात्रा के समापन पर बीजेपी, आरएसएस, पीएम और गृह मंत्री एक बार फिर राहुल गांधी...

फिर सड़कों पर उतरे चयनित अभ्यर्थी, आयोग के गेट पर दिया धरना

कनिष्ठ सहायक भर्ती में नियुक्ति को लेकर हो रही देरी से चयनित अभ्यर्थी खासे नाराज हैं। दस्तावेज सत्यापन नहीं होने से चयनित अभ्यर्थियों का...

उत्तराखंड में कल से थम जाएंगे रोडवेज के पहिए, रोडवेज कर्मचारियों की हड़ताल कल आधी रात से

उत्तराखंड रोडवेज की बसों से सफर करने वाले हजारों यात्रियों को कल से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। 27 जनवरी को...