Tuesday, June 18, 2024
अल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19चमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदेहरादूननैनीतालपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरराजनीतिराज्यराष्ट्रीयरुद्रप्रयागस्पेशलहरिद्वार

टॉप न्यूज़ में जानिए – कौन कह रहा भाजपा गद्दी छोडो ?

मुख्यमंत्री ने दिए सभी स्कूलों में पेयजल सुविधा सुधरने का टारगेट

 मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सचिवालय में जल जीवन मिशन की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिये कि इस वर्ष दिसम्बर अन्त तक सभी स्कूलों एवं आंगनबाड़ी केन्द्रों में पेयजल की उपलब्धता का टारेगट पूर्ण किया जाय। जल जीवन मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्रोें में जो कनेक्शन दिये जा रहे हैं, उसमें निर्धारित मानकों का पूरी तरह से पालन होना चाहिए इसके लिए सीएम रावत ने जिलाधिकारी को इसकी नियमित निगरीनी रखने का आदेश दिया साथ ही बैठक में ये भी तय हुआ कि पानी के नल अडंरग्राउंड किये जाय। जल जीवन मिशन के तहत निर्धारित समय में टारगेट भी पूरे हों  इसके लिए जल संस्थान और जल निगम हर दिन का टारगेट निर्धारित होना चाहिए। जिलाधिकारी भी कार्यों की प्रगति बैठक समय-समय पर लेते रहें। हर घर नल एवं शुद्ध जल के लक्ष्य को जल्द प्राप्त करने के लिए संबधित विभाग आपसी समन्वय से कार्य करें। हरिद्वार एवं उधमसिंह नगर जनपदों में इस दिशा में अधिक ध्यान देने की जरूरत है।

कोरोना पड़ा सुस्त तो खतरनाक हुयी देहरादून की प्रदूषित हवा 
देश की राजधानी ही नहीं, उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में भी वायु प्रदूषण का स्तर खतरनाक स्तर तक पहुंच गया। हालांकि हवा की तेज रफ्तार से थोड़ी राहत भी मिली। शहर का औसत प्रदूषण स्तर (एक्यूआई) 238 रहा जो सेहत के लिहाज से खतरनाक है। कनॉट प्लेस, क्लेमेंटटाउन और रायपुर में तो प्रदूषण का स्तर 315 रहा जो स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी खतरनाक रहा। एयर क्वालिटी.कॉम की ओर से दर्ज रिकार्ड में देहरादून में भी प्रदूषण का स्तर चिंताजनक हो चला है। देहरादून के वायुमंडल में कार्बन 1064 माइक्रो ग्राम प्रति यूनिट की मात्रा पाई गई।विशेषज्ञों के अनुसार देहरादून में पर्यावरण प्रदूषण की समस्या की मुख्य वजह बारिश का कम होना है
राजधानी में ध्वनि प्रदूषण का स्तर भी 62.94 रहा जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। दिवाली पर पटाखों की वजह से वायु प्रदूषण के साथ ही ध्वनि प्रदूषण का स्तर भी बढ़ सकता है। 

उत्तराखंड में आंदोलनकारियों का भाजपा गद्दी छोडो अभियान होगा शुरू 

राज्य निर्माण आंदोलनकारी जेपी पांडे की प्रथम पुण्यतिथि से चिह्नित राज्य आंदोलनकारी संघ समिति भाजपा गद्दी छोड़ो अभियान शुरू करेगी। समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक और पूर्व मंत्री धीरेंद्र प्रताप यह जानकारी दी। चिह्नित राज्य आंदोलनकारी संघ समिति द्वारा बुधवार को आयोजित ऑनलाइन बैठक में धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि जाने-माने उत्तराखंड राज्य निर्माण आंदोलनकारी और समिति के संस्थापक अध्यक्ष स्वर्गीय जेपी पांडे की प्रथम पुण्यतिथि आगामी 10 नवंबर को हरिद्वार में मनाई जाएगी। इस मौके पर राज्यभर के आंदोलनकारी पवित्र गंगा नदी के तट पर बने जयराम आश्रम पहुंचेंगे। जहां पर उनकी स्मृति में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम के बाद जयराम आश्रम से हर की पैड़ी तक जेपी पांडे की स्मृति में रैली निकाली जाएगी। यहीं पवित्र गंगा के तट पर भाजपा गद्दी छोड़ो अभियान के संकल्प के साथ इस कार्यक्रम का समापन होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *