Saturday, April 13, 2024
उत्तर प्रदेश

गोरखपुर में चाकू की नोंक पर महिला से हुआ था दुष्कर्म

गोरखपुर जिले के रामगढ़ताल इलाके में महिला से छेड़खानी नहीं, बल्कि दुष्कर्म हुआ था। पुलिस पीड़िता के बयान का हवाला देकर छेड़खानी और पर्स लूट की घटना बता रही थी, लेकिन न्यायालय में कलम बंद बयान में महिला ने सच्चाई बता दी। अब पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उस पर दुष्कम्र की धारा बढ़ा दी है। आरोपी के पास से पुलिस ने लूटे गए बैग, आधार कार्ड और घटना में इस्तेमाल चाकू को बरामद कर लिया है। आरोपी को पुलिस ने बृहस्पतिवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से जेल भेजा गया। पकड़े गए आरोपी की पहचान रामगढ़ताल के बड़गो धोबी टोला निवासी मनीष कुमार के रूप में हुई। वह कपड़ा धोने का काम करता है। जानकारी के मुताबिक, खोराबार इलाके की रहने वाली 28 वर्षिय महिला रामगढ़ताल इलाके में स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में खाना बनाने का काम करती है।
महिला ने पहले दिन ही दुष्कर्म की सूचना पुलिस को दी थी। लेकिन, मौके पर पहुंची पुलिस कार्रवाई में तेजी दिखाने की जगह मामले को रफा-दफा करने में जुट गई यहां तक पुलिस अफसरों को भी झूठी जानकारी दी गई। महिला का छेड़कानी और पर्स लूट के बयान का वीडीयो बनाकर अफसरों को भेज दिया गया। फिर पुलिस ने इसी आधार पर केस भी छेड़खानी और लूट की धारा में ही दर्ज किया। बाद में कोर्ट में मजिस्ट्रेट के सामने 164 के बयान के लिए जब महिला गई तो उसने दुष्कर्म किए जाने का कलमबंद बयान दे दिया। बयान में महिला ने पूरी घटना सच बता दी। जिसपर कोर्ट ने पुलिस को जमकर फटकार भी लगाई। इसके बाद पुलिस अफसरों को जानकारी हुई और आननफानन पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करते हुए मामले में दुष्कर्म और आर्म्स एक्ट की धारा बढ़ाई है। आरोपी को पुलिस ने जेल भिजवा दिया है। पुलिस पूरे प्रकरण में साक्ष्यों के साथ चार्जशीट दाखिल करेगी, ताकि आरोपी को कड़ी सजा हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *