Tuesday, September 27, 2022
Home उत्तराखंड अल्मोड़ा Uttarakhand - बच्चों को खूब भा रहा है रेलगाड़ी वाला यह स्कूल

Uttarakhand – बच्चों को खूब भा रहा है रेलगाड़ी वाला यह स्कूल

देश भर मे अनोखे स्कूल आपने देखे होंगे । कही अध्यापक तो कही छात्र दिलचस्प मिल जायेगे । कई राज्यो मे रेलगाड़ी वाले सरकारी विद्यालय बने है । बिहार , राजस्थान , एमपी के बाद अब देवभूमि मे भी ऐसी ही एक यमकेश्वर एक्सप्रेस रेलगाड़ी वाला स्कूल  बन कर तैयार हुआ है जिसको लेकर छात्रो मे बेहद उत्साह दिखाई दे रहा है । इसका मकसद बच्चों में शिक्षा के प्रति रचनात्मक दिलचस्पी पैदा करना है ।

   

रुचि जागृत हो और विद्यालय जाने का उत्साह भी बना रहे, इसके लिए विभिन्न स्तर पर प्रयास होते रहे हैं और आज भी हो रहे हैं। इसकी बानगी पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लॉक स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मणझूला में देखी जा सकती है, जहां विद्यालय भवन को रेलगाड़ी (यमकेश्वर एक्सप्रेस) का स्वरूप दिया गया है। रेलगाड़ी वाला यह विद्यालय बच्चों को भी खूब भा रहा है।स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को पढ़ाई बोरिंग ना लगे, इसके लिए अलग अलग जगह तरह तरह के प्रयास किए जाते रहे हैं। कहीं रंग रोगन, कहीं दीवारों पर चार्ट्स चिपकाना तो कहीं कुछ। लेकिन ऋषिकेश के एक प्राथमिक विद्यालय से जो तस्वीरें आ रही है, उसे देख कर ऐसा लगता है ये कि यह स्कूल किसी एक्सप्रेस ट्रेन की तरह गति पकड़ने वाला है और इसके विद्यार्थी उसी ट्रेन की गति से आसमान की ऊंचाइयों तक पहुंचेंगे।

ऋषिकेश के यमकेश्वर प्रखंड के अन्तर्गत आने वाले एक प्राथमिक स्कूल ने सभी लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मण झूला में पढ़ने वाले बच्चे अब रेलवे के एहसास के साथ अपने पंखों का उड़ान देंगे। इस विद्यालय का कायाकल्प विधायक निधि से मिली धनराशि से किया गया है।

इन पैसों से यहां की दीवारों को पेंट कर उन्हें ट्रेन का स्वरूप दिया गया है। जितना रोचक यह विद्यालय बनाया गया है, इतना ही रोचक है इसका नाम, ‘ यमकेश्वर एक्सप्रेस ‘ आपको बता दे कि 1962 में स्थापित राजकीय प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मणझूला का ये भवन और चहारदीवारी लंबे समय से देखरेख न होने के कारण खराब हो चुकी थी। इसी वजह से विद्यालय की प्रधानाध्यापक लक्ष्मी बड़थ्वाल ने विद्यालय से जुड़ी ‘प्रयास एक’ सामाजिक संस्था के अध्यक्ष अश्वनी गुप्ता से इस संबंध में चर्चा की।

अश्वनी ने विद्यालय की इस समस्या से क्षेत्रीय विधायक रितु खंडूड़ी को अवगत कराया। इस पर उन्होंने विधायक निधि से चार लाख रुपये की स्वीकृति देते हुए विद्यालय भवन को इस तरह विकसित करने के निर्देश दिए, ताकि वह अन्य विद्यालयों के लिए भी एक मॉडल बन जाए। विद्यालय में परिवेश को इस तरह ढाला गया है कि बच्चों को खेल-खेल में ही कुछ न कुछ जानने-सीखने को मिले। इस विद्यालय में पौड़ी जिले के सुदूर गांवों से बच्चे पहुंचते हैं। इनमें कई बच्चे ऐसे हैं, जिन्होंने आज तक रेल नहीं देखी। इसी बात को देखते हुए विद्यालय को रेलगाड़ी का लुक दिया गया। शिक्षा को दिलचस्प बनाने वाले ऐसे अनोखे प्रयोग को और प्रोत्साहन देकर सरकार छात्रों को ज्यादा से ज्यादा स्कूल तक पहुँचा सकती है ।      

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

जौनसार में बारिश से तबाही, अमलावा नदी के उफान में बह गया भवन

जौनसार में रविवार रात हुई मूसलाधार बारिश ने भारी तबाही मचाई है। रविवार देर रात साहिया में भारी बारिश का तांडव देखने को मिला।...

नवरात्रि में सीएम धामी का तोहफा, राज्य की बालिकाओं को नंदा गौरा योजना के तहत 323 करोड़ की धनराशि हस्तांतरित

पहले नवरात्रे पर सीएम धामी ने राज्य की 80 हजार बालिकाओं को तोहफा दिया है। सीएम ने आज नंदा गौरा योजना के तहत 323...

दिल्‍ली में 12 साल के बच्चे से गैंगरेप, एक व्यक्ति गिरफ्तार अन्य तीन फरार

देश की राजधानी दिल्ली में 12 साल के एक लड़के के साथ रेप करने का मामला सामने आया है। चार लोगों ने कथित तौर...

जैकलीन को बड़ी राहत, 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट ने दी अंतरिम जमानत

सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में जैकलीन फर्नांडीज को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने जैकलीन फर्नांडीज को अंतरिम जमानत दे दी...

आज शुरू हुए शारदीय नवरात्र, नवरात्र के पहले दिन करें मा दुर्गा के प्रथम स्वरुप मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना

शारदीय नवरात्र आज से शुरू हो गए हैं। इस बार नवरात्र पूरे नौ दिन के रहेंगे। 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक। 26 सितंबर...

पिथौरागढ़ में बड़ा भूस्खलन, भरभराकर गिरा समूचा पहाड़,तवाघाट-लिपुलेख मार्ग बंद

जाते जाते भी उत्तराखण्ड में बरसात कहर बरपा रही है। बीते दिनों सीमांत क्षेत्र धारचूला में आई जबर्दस्त आपदा के बाद आज फिर यहां...

देहरादून में ‘प्रोजेक्ट पार्क वैल’, प्रोजेक्ट पार्क वैल के अनौखे ईनाम

गलत पार्क किये गये वाहनों का फोटो खींचीए और ईनाम पाइये... जी हां वही योजना जिसकी घोषणा हाल ही में केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन...

देहरादून में प्रोजेक्ट पार्क वैल के अनौखे ईनाम, जानकर रह जाएंगे हैरान

उत्तराखण्ड होमगार्ड्स एवं नागरिक सुरक्षा मुख्यालय द्वारा देहरादून में भी लागू की गई है। जिसे नाम दिया गया है प्रोजेक्ट पार्क वैल। इसमें भी...

केदारघाटी को प्लास्टिक कचरे से निजात दिलाने के लिए शुरू किया गया अभियान, अब दिखने लगे रिजल्ट

केदारघाटी को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए डेढ़ माह पहले एक अभियान चलाया गया। इस अभियान का रिजल्ट अब दिखने लगा है। चलाये गए...

रिसोर्ट में काम करने वाली अंकिता भंडारी गुमशुदा, पुलिस ने पूर्व राज्य मंत्री के बेटे समेत तीन लोगों को किया गिरफ्तार

पौड़ी गढ़वाल की एक 19 साल की युवती पिछले पांच दिनों से लापता है। युवती का नाम अंकिता भंडारी है और वह ऋषिकेश के...