Tuesday, May 28, 2024
उत्तराखंडदेहरादून

तीरथ सरकार की नई हेल्पलाइन से साइबर क्राइम पर लगेगा अंकुश, 24 घंटे दर्ज होंगी शिकायतें..

-आकांक्षा थापा

आज शुक्रवार को मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हेल्पलाइन डायल 155260 का नरेंद्रनगर से वर्चुअल उद्घाटन किया। इस हेल्पलाइन के ज़रिये लोग 24 घंटे अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते है। पिछले दिनों उत्तराखंड में साइबर क्राइम के कई मामले देखने को मिले… जिसमे में से एक फेसबुक पर डीजीपी अशोक कुमार के जारी अकाउंट से पैसे मांगने का मामला था। बढ़ते साइबर क्राइम की रोकथाम के लिए राज्य सरकार ने अब “साइबर हेल्पलाइन” शुरू कर दी है…

वहीँ, एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि यह हेल्पलाइन नंबर ऑनलाइन वित्तीय अपराधों पर कार्रवाई करने में बेहद कारगर साबित होगा। गृह मंत्रालय के सहयोग से इसे शुरू किया गया है। यह मंत्रालय के सीएफसीएफआरएमएस पोर्टल यानि नागरिक वित्तीय साइबर धोखाधड़ी रिपोर्टिंग और प्रबंधन प्रणाली के तहत काम करेगी। अगर किसी के साथ साइबर अपराध होता है तो वह किसी भी वक्त इस नंबर पर फ़ोन कर सकता है। यही नहीं, इससे अन्य राज्यों से संचालन कर रहे संगठित साइबर अपराधियों पर भी लगाम लगाई जाएगी। वही बात करें महिलाओं और बच्चों से संबंधित साइबर अपराधों की, तो उसपर भी इससे त्वरित कार्रवाई होगी। आपको बता दें, इसका कंट्रोल रूम साइबर थाने में बनाया गया है और यहां पर 24 घंटे कर्मचारियों की ड्यूटी रहेगी। इस हेल्पलाइन के उद्घाटन के अवसर पर एएसपी चंद्रमोहन सिंह, डीएसपी अंकुश मिश्रा आदि अधिकारी मौजूद रहे।

नई साइबर हेल्पलाइन के बारे में ज़रूरी जानकारी –

कोई साइबर अपराध से पीड़ित जिसको वित्तीय हानि हुई है वह 155260 पर कॉल कर सकता है। ई-सुरक्षा चक्र हेल्पलाइन पीड़ित से जानकारी लेगी और उन्हें एक व्हाट्सएप नंबर जारी करेगी…. पीड़ित को अपनी शिकायत व्हाट्सएप पर मांगे गए विवरण में दर्ज करनी होगी। अगर अपराध गैर वित्तीय है तो पीड़ित को ईमेल के जरिए पुलिस स्टेशन केे सूचना देने के लिए कहा जाएगा। इसके बाद उसकी शिकायत को संबंधित जिले की साइबर सेल को भेजी जाएगी।  वित्तीय धोखाधड़ी के लिए पीड़ित को अपराध का पूर्ण विवरण भरने के लिए कहा जाएगा। तत्काल धन वापसी के प्रयास के लिए तुरंत साइबर हेल्पलाइन सीएफसीएफआरएमएस पोर्टल पर डिटेल दर्ज कर दी जाएगी।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *