Home उत्तराखंड अल्मोड़ा दून का शहीद स्थल उजाड़ा तो पहाड़ के भूत-प्रेत नेताओं को छोड़ेंगे नही...

दून का शहीद स्थल उजाड़ा तो पहाड़ के भूत-प्रेत नेताओं को छोड़ेंगे नही – भावना पांडे

पहाड़ का दर्द जानने के लिए 2022 तक पहाड़ में बसे त्रिवेंद्र सरकार – आंदोलनकारी  भावना पांडे
संगठन मुफ्त मुहैया कराएगा बीमार होने पर मेडिकल सुविधा –  भावना पांडे

आरामतलब नेता-अफसर समझें पहाड़ की जिंदगी है कैसी ?

दून का शहीद स्थल उजाड़ा तो बर्दाश्त नहीं करेंगी जनता –  भावना पांडे 
राज्य आंदोलनकारी भावना पांडे ने राज्य स्थापना के मौके पर सरकार को सख्त लहजे में सुझाव दिया है। आंदोलनकारी महिलाओं के संगठन ने त्रिवेंद्र सरकार से कहा है कि अगले चुनाव तक पूरी कैबिनेट और विधायक पहाड़ के गैरसैण में बसें और 2022 तक पहाड़ में ज़िंदगी ग़िज़ारें और महसूस करें कि उत्तराखंडी लोगों की ज़िंदगी कितनी मुश्किल आज भी है। महिलाओं और युवाओं ने शहीद स्थल पर एक  सुर में कहा कि यह राज्य आंदोलनकारियों ने बहुत संघर्ष, त्याग और बलिदानों के बाद हासिल किया है।
ऐसे में आज राज्य आंदोलनकारियों, बुद्धिजीवियों, युवाओं और महिलाओं को एकजुट होकर एकसाथ मिलकर काम करना होगा। भावना पांडे ने  कहा कि जिस सपने को लेकर हमने अलग राज्य की परिकल्पना की थी उसको साकार करने के लिए हमें एक बार फिर निर्णायक लड़ाई लड़नी होगी। उन्होंने नेताओं और अफसरों को कहा कि लचर नीतियों और भ्रष्ट व्यवस्था के कारण प्रदेश का विकास नहीं हो पाया है।

सोशल एक्टिविस्ट और राज्य आंदोलनकारी भावना पांडे ने कहा कि गैरसैंण में राज्य स्थापना दिवस मनाने के लिए पहुंचे हुए नेताओं और अफसरों को 2022 तक वहीं रहना चाहिए। उनके अनुसार गैरसैंण में समय बिताने के बाद ही नेताओं और अफसरों को पहाड़ की पीड़ा और समस्याओं का पता लगेगा। उन्होंने कहा कि जब नेता गैरसैंण में दो दिन नहीं बिता सकते हैं तो वो कैसे वहां रहने वाली जनता की समस्याओं से रूबरू हो सकते हैं। 
उन्होंने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश की इस टिप्पणी पर नाराजगी जतायी कि वो कहती हैं कि सीएम के पास हेलीकाॅप्टर है और हम वहां कैसे जाएंगे? भावना के मुताबिक जनता ने इंदिरा को इतनी बार विधानसभा भेजा, इंदिरा ने सत्ता की मलाई खायी और अब नेता प्रतिपक्ष का लाभ भी उठा रही हैं और गैरसैंण जाने के लिए यह सवाल कर रही हैं कि वहां जाएंगी कैसे? क्या उनके पास कार, रिक्शा या साइकिल भी नहीं है। उन्हें जनता के बारे में सोचना चाहिए कि जब वो साल में एक दिन गैरसैंण नहीं जा सकते हैं वो वहां से लोग अपनी समस्याओं को लेकर देहरादून कैसे आते होंगे?

राज्य आंदोलनकारी  पांडे ने कहा कि देहरादून के कचहरी परिसर स्थित शहीद स्मारक के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं होगी। उन्होंने कहा कि यदि शहीद स्मारक को तोड़ने का प्रयास किया तो नेताओं के घर भी टूटने चाहिए। उनके अनुसार यदि शहीद स्थल टूटा तो पहाड़ के भूत-प्रेत भी नेताओं को छोड़ेंगे नहीं। आंदोलनकारी भावना पांडे ने राज्य की जनता से ये भी अपील की है कि अब वे भाजपा-कांग्रेस के बहकावे में न आएं। और एक नयी निर्णायक लड़ाई के लिए तैयार हो जाएं 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कल से खाना नहीं खाया है, भूखा हूं… मिठाई की दुकान में मिला मासूम चोर का खत

जैसलमेर में एक दिलचस्प मामला सामने आया है। यहां मिठाई की दुकान में घुसे चोर ने मिठाई खाई और जाते हुए दुकानदार के नाम...

मध्य प्रदेश में बड़ा हादसा, मुरैना के पास सुखोई-30 और मिराज-2000 क्रैश, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी

शनिवार सुबह बड़ा हादसा हुआ। एयरफोर्स के दो फाइटर प्लेन सुखोई-30 और मिराज-2000 एयरक्रॉफ्ट आपस में टकराकर क्रैश हो गए। भास्कर को मिली अब...

अडानी ग्रुप के शेयरों में गिरावट आज भी जारी, हिंडनबर्ग की रिपोर्ट से मची तबाही

एशिया के सबसे अमीर और दुनिया के दूसरे नंबर के धनकुबेर गौतम अडानी ने शायद सपने में भी नहीं सोचा होगा कि एक दिन...

कैप्टन अमरिंदर हो सकते हैं महाराष्ट्र के अगले राज्यपाल, भगत सिंह कोश्यारी की छुट्टी, आदेश जारी, पुष्टि होनी बाकी

पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह महाराष्ट्र के अगले गवर्नर हो सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, इसकी तैयारी हो गई है और इसको...

अंडर-19 टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंची भारतीय महिला क्रिकेट टीम

साउथ अफ्रीका में खेला जा रहे अंडर-19 महिला टी20 विश्व कप में भारतीय महिला अंडर-19 टीम ने इतिहास रच दिया। पहले टी20 विश्व कप...

उत्तराखंड पहुंचे पंडित धीरेन्द्र शास्त्री, “बोले कायदे में रहोगे तो फायदे में रहोगे”

अपने दावों के कारण कई दिनों से चर्चा में आए बाबा बागेश्वर धाम धीरेंद्र शास्त्री उत्तराखंड पहुंचे हैं। इंटरनेट मीडिया पर वीडियो जारी कर...

उत्तराखंड में फिर बदलेगा मौसम का मिजाज, 29 से बर्फबारी के आसार

उत्तराखंड में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बीते दिनों हुई बर्फबारी के बाद पहाड़ से लेकर मैदान तक ठिठुरन और बढ़ गई है। वहीं, मैदानी...

रोडवेज की हड़ताल से परेशान यात्री, पहले यूपी फिर उत्तराखंड पहुंच रहे यात्री

उत्तराखंड रोडवेज की बसों से सफर करने वाले हजारों यात्रियों को आज भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। रोडवेज की हड़ताल के चलते उत्तराखंड...

उत्तराखंड में 25 लाख में बिकी खाकी, दरोगा भर्ती कांड में विजिलेंस की जांच आगे बढ़ी

विजिलेंस अब दरोगा भर्ती धांधली के आरोपियों की संपत्तियों की जांच में जुट गई है। बताया जा रहा है कि मुख्य आरोपी पंतनगर विवि...

जोशीमठ संकट के बीच बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तारीख का एलान, इस दिन खुलेंगे धाम के कपाट

बसंत पंचमी के मौके बद्रीनाथ धाम के कपाट खुलने की तारीख का एलान हो गया है. उत्तराखंड के चार धामों में एक भगवान बद्री...