Monday, June 24, 2024
उत्तराखंड

खलंगा में नहीं कटेंगे साल के पेड़, जय भारत टीवी की खबर का असर

वाटर ट्रीटमेंट प्लांट के नाम पर खलंगा के जंगल में 2000 साल के पेड़ काटने के प्लान के पेयजल विभाग ने रद्द कर दिया है। एक हफ्ते पहले पेयजल विभगा ने यहां करीब 2000 साल के पेड़ों पर निशान लगा दिया था, ताकि यहां पेड़ों को काटा जा सके। जैसे ही यहां पेड़ों पर निशान लगे स्थानीय लोगों ने विरोध शुरू किया। जय भारत टीवी ने ग्रांउड पर जाकर इस मामले को प्रमुखता से उठाया था।
लेकिन पेड़ काटे जाने का मामला तूल पकड़ने लगा और अब आखिरकार सरकार को अपना फैसला बदलना पड़ा है। वन विभाग से भी इन पेड़ों को काटे जाने की स्वीकृति अभी तक नहीं मिल पाई थी,
पेयजल विभाग ने साफ कर दिया है कि यहां बनाये जाने वाला वाटर ट्रीटमेंट प्लांट अब कहीं और बनाया जाएगा, इसके लिये साल के पेड़ नहीं काटे जाएंगे।
आपको बता दें कि खलंगा की पहाड़ी पर हरे-भरे साल के हजारों पेड़ मौजदू हैं, जो देहरादून शहर को शुद्ध आबोहवा और स्वच्छ पानी मुहैया कराते हैं ऐसे में यहां पेड़ों का इतने बड़े पैमाने पर कटाना होना बड़ी बर्बादी को जन्म दे सकता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *