Tuesday, September 27, 2022
Home उत्तराखंड कम तीव्रता के भूकंप बने हिमलयी ग्लेशियर्स के लिए खतरा, ब्लैक कार्बन...

कम तीव्रता के भूकंप बने हिमलयी ग्लेशियर्स के लिए खतरा, ब्लैक कार्बन भी कर रहा है वातावरण को खोखला

-आकांक्षा थापा

शुक्रवार रात तजाकिस्‍तान में जोरदार भूकंप आया और उत्तर भारत में भी इसके झटके महसूस किये गए। 6.3 तीव्रता वाले इस भूकंप के झटके दिल्‍ली-एनसीआर समेत समूचे उत्‍तर भारत ने महसूस किये। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के अनुसार भूकंप का केंद्र तजाकिस्तान में था। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून समेत उत्तरकाशी, चमोली, श्रीनगर और ऋषिकेश में भी लोगो ने भूकंप की थर्राहट महसूस की। भले ही इतने कम तीव्रता वाले भूकंप से लोगो को कोई नुक्सान ना पहुंचा हो , लेकिन यही छोटे भूकंप हिमालयी ग्लेशियरों के लिए खतरा बन चुके हैं।

कम तीव्रता वाले भूकंप से कम्पन तो महसूस नहीं होती, लेकिन यह ग्लेशियरों में कम्पन पैदा कर उन्हें कमज़ोर बनाते हैं। इसी कम्पन से धीरे -धीरे ग्लेशियर कमज़ोर होते जाते हैं, और भूकंप की स्थिति में इनकी टूटने की सम्भावना सामान्य से अधिक हो जाती है। ऐसे में , हिमालय के ग्लेशियरों की स्थिति को देखते हुए इन छोटे भूकंपो को नज़र अंदाज़ नहीं किया जा सकता है।

भूकंप के अलावा, ब्लैक कार्बन और मानवीय हस्तक्षेप भी हिमालयी ग्लेशियर्स के लिए खतरा बने हुए हैं।

ब्लैक कार्बन क्यों है खतरनाक?

ब्लैक कार्बन जीवाश्म एवं अन्य जैव ईंधनों के अपूर्ण दहन, ऑटोमोबाइल तथा कोयला आधारित ऊर्जा सयंत्रों से निकलने वाला एक पार्टिकुलेट मैटर है। यह एक अल्पकालिक जलवायु प्रदूषक है जो उत्सर्जन के बाद कुछ दिनों से लेकर कई सप्ताह तक वायुमंडल में बना रहता है। वायुमंडल में इसके अल्प स्थायित्व के बावजूद यह जलवायु, हिमनदों, कृषि, मानव स्वास्थ्य पर व्यापक प्रभाव डालता है। भारत और चीन, दोनों ही दुनिया में सबसे ज्यादा ब्लैक कार्बन उत्पन्न करते हैं,  जो दुनिया का लगभग 25 -35 % होता है। आने वाले दशकों में इसकी ख़ासा वृद्धि होने की आशंका है।   ब्लैक कार्बन में “ब्लैक मैटेरियल्स” होते हैं जो अधिक  प्रकाश को अवशोषित करती है और तापमान बढ़ाने वाले इन्फ्रा-रेड विकिरण का उत्सर्जन करती है। इसलिए, जब उच्च हिमालय में ब्लैक कार्बन में वृद्धि होती है, तब हिमालय के ग्लेशियर्स बहुत तेज़ी से पिघलने लगते हैं।

ज्यादा मानवीय हस्तक्षेप भी एक बड़ा कारण….

संवेदनशील क्षेत्रों में मानवीय हस्तक्षेप और धरती के बढ़ते तापमान से लगातार प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। इन्सान हर जगह अपना विकास और अपना ही फायदा देखता आया है।  लेकिन अब समय है  सचेत होने का और सभी  प्राकृतिक संसाधनों का उचित रूप से इस्तेमाल करने का।  हमें सोच समझ के कदम उठाना होगा क्यूंकि कहीं ना कहीं हमारी इन छोटी गलतियों से पर्यावरण को बहुत बड़ा नुक्सान पहुँच सकता है।  `

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सिंगिंग रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल’13 पर लगा फेक होने का आरोप, एक कंटेस्टेंट के साथ हुआ भेदभाव!

सोनी टीवी का सिंगिंग रियलिटी शो 'इंडियन आइडल' को विशाल ददलानी, नेहा कक्कड़ और हिमेश रेशमिया जज कर रहे हैं। इंडियन आइडल 13 की...

रायपुर पुलिस के हाथ लगे ऐसे चोर, बिना चाबी के दो पहिया वाहनों की कर रहे थे चोरी

रायपुर थाना पुलिस ने तीन ऐसे युवकों को पकड़ा है, जो महंगी बाइक व स्कूटर चलाने का शौक पूरा करने के लिए दोपहिया वाहनों...

नवरात्रि का दूसरा दिन आज, नव शक्तियों के दूसरे स्वरूप माता ब्रह्मचारिणी की आज करें पूजा अर्चना

शारदीय नवरात्रि का आज दूसरा दिन है। नवरात्रि के दूसरे दिन देवी के ब्रह्मचारिणी स्वरूप की पूजा-अर्चना की जाती है। मां दुर्गा की नव...

जौनसार में बारिश से तबाही, अमलावा नदी के उफान में बह गया भवन

जौनसार में रविवार रात हुई मूसलाधार बारिश ने भारी तबाही मचाई है। रविवार देर रात साहिया में भारी बारिश का तांडव देखने को मिला।...

नवरात्रि में सीएम धामी का तोहफा, राज्य की बालिकाओं को नंदा गौरा योजना के तहत 323 करोड़ की धनराशि हस्तांतरित

पहले नवरात्रे पर सीएम धामी ने राज्य की 80 हजार बालिकाओं को तोहफा दिया है। सीएम ने आज नंदा गौरा योजना के तहत 323...

दिल्‍ली में 12 साल के बच्चे से गैंगरेप, एक व्यक्ति गिरफ्तार अन्य तीन फरार

देश की राजधानी दिल्ली में 12 साल के एक लड़के के साथ रेप करने का मामला सामने आया है। चार लोगों ने कथित तौर...

जैकलीन को बड़ी राहत, 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट ने दी अंतरिम जमानत

सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में जैकलीन फर्नांडीज को बड़ी राहत मिली है। कोर्ट ने जैकलीन फर्नांडीज को अंतरिम जमानत दे दी...

आज शुरू हुए शारदीय नवरात्र, नवरात्र के पहले दिन करें मा दुर्गा के प्रथम स्वरुप मां शैलपुत्री की पूजा अर्चना

शारदीय नवरात्र आज से शुरू हो गए हैं। इस बार नवरात्र पूरे नौ दिन के रहेंगे। 26 सितंबर से 4 अक्टूबर तक। 26 सितंबर...

पिथौरागढ़ में बड़ा भूस्खलन, भरभराकर गिरा समूचा पहाड़,तवाघाट-लिपुलेख मार्ग बंद

जाते जाते भी उत्तराखण्ड में बरसात कहर बरपा रही है। बीते दिनों सीमांत क्षेत्र धारचूला में आई जबर्दस्त आपदा के बाद आज फिर यहां...

देहरादून में ‘प्रोजेक्ट पार्क वैल’, प्रोजेक्ट पार्क वैल के अनौखे ईनाम

गलत पार्क किये गये वाहनों का फोटो खींचीए और ईनाम पाइये... जी हां वही योजना जिसकी घोषणा हाल ही में केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन...