Sunday, March 3, 2024
उत्तराखंड

चारधाम यात्रा की तैयारियां शुरू, मंडलायुक्त सुशील कुमार ने ली बैठक

देहरादून- प्रसिद्ध चार धाम यात्रा को लेकर तैयारियां शुरू हो गई है। सोमवार को आयुक्त गढ़वाल मंडल सुशील कुमार ने पुलिस प्रशासन सहित संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में चार धाम यात्रा संचालन केंद्र स्थापित किए जाएंगे। 15 अप्रैल से पहले ही यात्रा पर जाने वाली परिवहन कंपनियों की बसों की संख्या और संयुक्त रोटेशन का गठन सुनिश्चित कर लिया जाएगा। 21 मार्च तक उन्होंने सभी विभागों को तैयारियों को पूरा करने के निर्देश दिए। नगर निगम सभागार में आयोजित बैठक में आयुक्त ने सभी विभागों की सिलसिलेवार तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की असुविधा से संबंधित लिखित या फिर सोशल साइट पर मिलने वाली शिकायतों का तत्काल निस्तारण होना चाहिए। उन्होंने कहा कि परिवहन विभाग संयुक्त रोटेशन की स्थापना और बसों की संख्या का निर्धारण करेगा। रोटेशन समिति प्रतिदिन बसों और यात्रियों की संख्या संबंधित सूचना परिवहन विभाग और यात्रा प्रशासन को देगा। बसों की कमी होने पर 20 दिन पूर्व ही परिवहन विभाग को सूचित करना होगा। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड परिवहन निगम भी यात्रा सीजन में यात्रियों की संख्या वृद्धि को देखते हुए बसों का संचालन धाम के अनुसार करेगा। निर्देश दिए कि यात्रा मार्ग पर अस्थाई चिकित्सा केंद्र समय पर बन जाने चाहिये। इनमें चिकित्सकों की तैनाती और उपयोगी दवाएं भी उपलब्ध होनी चाहिए। केदारनाथ और यमुनोत्री धाम में कार्डियोलाजिस्ट विशेषज्ञ की तैनाती होगी। यात्रा मार्गों पर स्वास्थ्य निरीक्षकों को भी तैनात किया जाएगा। आयुक्त ने कहा कि जिलाधिकारियों के स्तर पर अपने यहां एयर एंबुलेंस की व्यवस्था शासन से करवाई जाएगी। यात्रा बस टर्मिनल ऋषिकेश में यात्री चिकित्सा केंद्र स्थापित होगा। 15 अप्रैल तक यात्रा मार्गों के सभी कस्बों और गांव के क्षेत्र में सफाई व्यवस्था स्थानीय निकाय की ओर से पूरी कर ली जाएगी। जरूरत के अनुसार यात्रा मार्ग पर शौचालय और कूड़ा दान की व्यवस्था होगी। चार धाम यात्रा क्षेत्र में पॉलिथीन और प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से वर्जित रहेगा। इस पर दंडात्मक कार्रवाई भी होगी। आयुक्त गढ़वाल सुशील कुमार ने यात्रा मार्ग से जुड़े सभी तहसील क्षेत्र में उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि वह मुख्य मार्गों से अतिक्रमण हटाकर यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने का काम करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *