Sunday, March 3, 2024
उत्तराखंडदेहरादून

भारतीय सेना में अफसर बनीं निकिता कौल ढौंढियाल, शहीद मेजर विभूति ढौंढियाल की पत्नी हैं निकिता

देहरादून- 18 फरवरी 2019 को पुलवामा में हुये एक सैन्य अभियान में शहीद हुए मेजर विभूति ढौंढियाल की पत्नी निकिता ढौंढियाल बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल हो गई हैं। आज चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी (ओटीए) में हुई पासिंग आउट परेड में निकिता के कंधों पर स्टार सजाए गये।

मेजर विभूति ढौंढियाल की पत्नी निकिता ढौंढियाल ने आज भारतीय सेना का दामन थाम लिया है। यह बेटी इसलिये खास है क्योंकि इस बेटी की कहानी सबसे अलग है। यह अपने मां-बाप की लाडली है, प्यारी बहु है लेकिन उससे बढ़कर यह एक शहीद की पत्नी है। जी हां हम बात कर रहे हैं शहीद मेजर विभूति ढौंढियाल की पत्नी निकिता कौल ढौंढियाल की। शादी के महज कुछ महीने के भीतर निकिता को अपने जाबांज पति को तिरंगे में लिपटे हुये देखना पड़ा था। लेकिन इस भीषण दुख से वह टूटी नहीं बल्कि उसने भारत की सेना में शामिल होकर देश भक्ति की एक लंबी लकीर खींच दी है।

18 फरवरी 2019 को पुलवामा में हुये एक सैन्य अभियान के दौरान शहीद हुये मेजर विभूमि शंकर ढौंढियाल की पत्नी निकिता कौल ढौंढियाल बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल हो गईं हैं। चेन्नई की आॅफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी ओटीए में आयोजित पासिंग आउट परेड में आज निकिता के कंधों पर स्टाॅर सजाये गये। आपको बता दें दून निवासी विभूति ढौंढियाल जम्मू कश्मीर में 2019 में हुए एक सैन्य अभियान में शहीद हो गए थे।

उनके शहीद होने के बाद उनकी पत्नी निकिता ने पति के सपने को पूरा करने के लिए सेना में जाने का मन बनाया। निकिता ने दिसंबर 2019 में इलाहाबाद में वूमेन एंट्री स्कीम की परीक्षा दी थी।जिसमें वह पास हो गई थीं। इसके बाद चेन्नई की ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकेडमी से निकिता को कॉल लेटर आया। इसके बाद निकिता ने ओटीए में एक साल की कड़ी ट्रेनिंग ली।

इसी के साथ निकिता की वह प्रतिज्ञा भी पूरी हो गई जो उन्होंने पति मेजर विभूति शंकर ढौंढियाल की शहादत के बाद ली थी। निकिता ने प्रण किया था कि वह पति की शहादत से कमजोर नहीं पड़ने वाली बल्कि वह खुद भारत की जाबांज सेना का हिस्सा बनेंगी। पति की शहादत के ठीक 2 साल 3 महीने और 11 दिन के बाद निकिता ने अपना वादा पूरा कर लिया। चेन्नई ओटीए की भव्य परेड के साथ भारत की यह बेटी भी पति की राह पर देश को समर्पित हो गई है।

निकिता के सेना में शामिल होने पर उनके परिवार और रिश्ते नातेदारों ने खुशी प्रकट की। शहरी मेजर विभूूति की बहन और निकिता की ननद वैष्णवी ने बताया कि कोरोना संक्रमण के चलते अभी परिवार किसी से मिल नहीं सकता लेकिन निकिता के सेना में शामिल होते ही लोग फोन पर परिवार को बधाई दे रहे हैं। वैष्णवी ने सभी शुभचिंतकों का आभार प्रकट किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *