Home अंतरराष्ट्रीय ITDA देहरादून  ने E Waist से तैयार की अनोखी Canteen 

ITDA देहरादून  ने E Waist से तैयार की अनोखी Canteen 

देहरादून में तैयार हो रही अनोखी कैंटीन 

ITDA ने आई टी पार्क में कबाड़ से सजाया कैंपस 

हज़ारों डीवीडी और कंप्यूटर मॉनिटर का हुआ इस्तेमाल 

कबाड़ हो चुकी एलसीडी और सीपीयू से बनायीं मेज़ कुर्सियां 
इन्वर्टर बैटरियों से तैयार किया गार्डेन और कैंटीन वॉल 
ITDA डायरेक्टर अमित सिन्हा की अनोखी पहल का नज़ारा 
जल्द मुख्यमंत्री करेंगे अनोखे कैंटीन का उद्घाटन 

 
इंसान अपनी सोच और क्रिएटिविटी से हमेशा कुछ अनोखा करता है …. ऐसा ही अनोखा प्रयोग दिखाई डे रहा है देहरादून के आई टी पार्क में मौजूद ITDA यानी सूचना प्रौद्योगिकी विकास एजेंसी के मुख्यालय में …. आई टी पार्क में मौजूद आईटीडीए में उत्तराखंड की पहली ऐसी कैंटीन तैयार की जा रही है  जो कि पूरी तरह से ई-कचरे से बनी हुई है।
इसमें खराब हो चुके सैकड़ों कंप्यूटर और सीपीयू का इस्तेमाल किया गया है इसके साथ ही  खराब बैटरी से बाउंड्रीवॉल और गार्डन को सजाया गया है ।आज जब वैज्ञानिक पर्यावरण बचाने के लिए अलग अलग तरीकों से जागरूकता फैला रहे हैं ऐसे में  देहरादून आईटी पार्क स्थित आईटीडीए में पर्यावरण के लिए सबसे खतरनाक माने जाने वाले ई-कचरे का सबसे बेहतर उपयोग किया गया है।
जय भारत टीवी से बात करते हुए डायरेक्टर और सीनियर आईपीएस अमित सिन्हा ने बताया कि कई महीने की मेहनत के बाद आईटीडीए के दफ्तर परिसर में यह कैंटीन तैयार की गई है जिसका उद्घाटन जल्द मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से कराने की योजना है। जब इस परिसर के अनोखेपन की बात करते हैं तो आपको बता दें कि  इसकी छत तैयार करने में करीब एक लाख खराब डीवीडी और सीडी का उपयोग किया गया है। दूर से देखने पर यह छत रंगीन नजर आती है। इसी प्रकार, कंप्यूटर के मॉनिटर का उपयोग करके कैंटीन के भीतर स्टॉल बनाया गया है।
छत पर पंखों के बजाय सीपीयू में इस्तेमाल होने वाले कूलिंग फैन को जोड़कर बड़ा पंखा बनाया गया है। कैंटीन की चारदीवारी भी खराब हुई बैटरियों से बनाई गई है। यहां टेबल में सीपीयू के मदर बोर्ड से जुड़े खराब पार्ट्स लगाए गए हैं। इसी प्रकार बैठने के लिए भी सीपीयू और दूसरे कंप्यूटर पार्ट्स की बॉडी का इस्तेमाल किया गया है। आईटीडीए का यह प्रयास प्रदेश में ई-कचरे को पर्यावरण में फैलने से बचाने की दिशा में अहम माना जा रहा है।
आईटीडीए ने फरवरी-मार्च में ई-कचरे के निस्तारण को लेकर प्रदेशभर से सुझाव भी मांगे थे। करीब 60 लोगों ने ई-कचरे के निस्तारण के सुझाव भेजे थे। ई-कचरा हमारे लिए इसलिए भी खतरनाक है कि इससे कैंसर का कारण बनने वाले कैडमियम, क्रोमियम, मर्करी जैसे हानिकारक रसायन निकलते हैं। इस लिहाज से यह कचरा सामान्य जैविक कचरे से भी अधिक खतरनाक है।
यहाँ बाहरी दीवार पर आम जनता के लिए बॉक्स भी बनाये गए हैं जिससे लोग अपने घरों का ई वेस्ट यहाँ रख सकें … तो आप भी अगर पर्यावरण बचाने की इस अनोखी मुहिम का दीदार करना चाहते हैं तो आई टी पार्क में आपका स्वागत है  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

गौतम अडानी मामले में अब आरबीआई का दखल, विपक्ष भी कर रहा जांच की मांग

अडानी ग्रुप पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट के बाद कंपनी के शेयर लगातार गिरते जा रहे हैं। रिपोर्ट के बाद अडानी कंपनी को भारी नुकसान...

अयोध्या पहुंची नेपाल से लाई गईं दो दिव्य शालिग्राम शिला, भव्य पूजन

नेपाल के प्रसिद्ध धार्मिक स्थल जनकपुर से अयोध्या लाई गई देवसिला का पूजन हुआ। नेपाल के पूर्व उप प्रधानमंत्री जानकी मंदिर के महंत ने...

देहरादून में चलेगी नियो मेट्रो, केन्द्र को भेजा गया प्रस्ताव

देहरादून में मेट्रो और केबल कार प्रोजेक्ट के रद्द होने के बाद अब मेट्रो नियो चलाने पर काम किया जा रहा है। यूकेएमआरसी ने...

अंतिम संस्कार से पहले अचानक जिंदा हो गई महिला, देखकर हर कोई हो गया हैरान

क्या आपने कभी सुना है कि अतिंम संस्कार से ठीक पहले किसी के प्राण वापस लौट आए हों. जी हां ऐसा हुआ है और...

कड़ी सुरक्षा में होगी पटवारी-लेखपाल परीक्षा, इंटेलीजेंस और पुलिस के होंगे तीन घेरे

पेपर लीक कांड के बाद उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पटवारी-लेखपाल भर्ती में इस बार पुलिस के साथ एलआईयू भी तैनात की गई है।...

क्या कहता है भारत का आर्थिक सर्वेक्षण, बजट से हटकर चर्चाओं में आर्थिक सर्वेक्षण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट से एक दिन पूर्व सदन में आर्थिक सर्वेक्षण पेश किया। आर्थिक सर्वेक्षण वित्त मंत्रालय द्वारा जारी की गई...

बजट 2023-24ः 5 से 7लाख की गई आयकर छूट, पढ़िये क्या हुआ महंगा, क्या सस्ता

केन्द्र की मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का अंतिम बजट पेश कर दिया गया है, हालांकि इस बजट को वित्त मंत्री ने अमृत काल...

एनडीटीवी से निधि राजदान का इस्तीफा, 23 सालों से थीं एनडीटीवी के साथ

एनडीटीवी की वरिष्ठ पत्रकार निधि राजदान ने चैनल से इस्तीफा दे दिया है। कंपनी से जुडे कईं कर्मचारियों ने इस बात की पुष्टि की...

5 गोल्ड जीतने वाला हॉकी प्लेयर आज मंडी में पल्लेदारी कर रहा है, शर्मनाक

भारतीय खेलों के लिये इससे शर्मनाक और क्या हो सकता है जब एक होनहार हॉकी खिलाड़ी मैदान से दूर अपना और अपने परिवार का...

अमीरों की सूची में 11वें नंबर पर पहुँचे अडानी, ग्रुप के शेयरों में गिरावट जारी

हिंडनबर्ग रिपोर्ट रिपोर्ट ने पिछले बुधवार अडानी ग्रुप पर स्टाक हेरफेर और धोकाधडी का आरोप लगाया था। रिपोर्ट के रिलीज होते ही अडानी दुनिया...