Wednesday, May 22, 2024
उत्तराखंडराज्यराष्ट्रीय

अब श्रद्धालु हेलीकाप्टर से पहुंच सकेंगे केदारनाथ, शुरू हो गयी है हेलीकाप्टर यात्रा

-आकांक्षा थापा

उत्तराखंड की चार धाम यात्रा पर समय बाद खुल चुकी है। कोरोना महामारी की वजह से चारधाम यात्रा पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा। पर्यटन व्यवसाय के साथ ही लोकल दुकानदारों के बीच यात्रा शुरू होने से काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। इस बीच केदारनाथ धाम जाने वाले सभी तीर्थयात्रियों के लिए भी एक अच्छी खबर है.. आज यानी शुक्रवार से हेली सेवा शुरू हो गयी है… आपको बता दें की उत्तराखंड सरकार ने 18 सितंबर से चार धाम की यात्रा शुरू करवा दी थी, हालाँकि हेली सेवा शुरू नहीं हुई थी… लेकिन आज से तीर्थ यात्रिओं को हेली सेवा की सुविधा मिलेगी।
इस हेलीकाप्टर यात्रा के लिए 28 सितंबर से ऑनलाइन बुकिंग शुरू कर दी गयी थी… और अब एक अक्टूबर से हेली सेवा का संचालन शुरू कर दिया गया है.. साथ ही इसके लिए श्रद्धालुओं के पास ई-पास होना अनिवार्य है. .
वहीँ, हेली सेवा की शुरुआत से पहले रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मनुज गोयल ने बताया कि नागरिक उड्डयन निदेशालय (डीजीसीए) की टीम हेलीपैड का निरीक्षण कर चुकी है… साथ ही, सेवा संचालित करने वाली कंपनियों ने सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं.. . जिलाधिकारी मनुज गोयल ने जानकारी दी की सामान्य तौर पर नौ कंपनियां हेली सेवा का संचालन करती हैं, लेकिन अभी पांच कंपनियों के हेलीकाप्टर उड़ान भरेंगे… इन कंपनियों में पवनहंस, आर्यन, थम्बी, क्रिस्टल और ऐरो शामिल हैं…


इतना होगा हेलीकाप्टर का किराया –
सिरसी से केदारनाथ 4680 रुपए प्रति सवारी
फाटा से केदारनाथ 4720 रुपए प्रति सवारी
गुप्तकाशी से केदारनाथ 7750 रुपए प्रति सवारी

 

 

 


यह किराया आने-जाने दोनों साइड का है… गढ़वाल मंडल विकास निगम के बुकिंग इंचार्ज संजय सिंह ने बताया कि हेली सेवाओं के लिए 28 सितंबर से बुकिंग शुरू कर दी गई थी और फिलहाल लोग सिर्फ 15 अक्टूबर तक बुकिंग कर सकते हैं… साथ ही उन्होंने बताया कि एक दिन में सिर्फ 480 श्रद्धालु ही हेलीकाप्टर से यात्रा कर सकते हैं। कोरोना गाइडलाइन के तहत सिर्फ केदारनाथ ही नहीं लेकिन हर एक धाम के लिए प्रतिदिन अधिकतम यात्रियों की संख्या तय की गई है…. वहीँ अबतक करीब 1348 यात्री बुकिंग करा चुके हैं। केदारनाथ में प्रतिदिन अधिकतम आठ सौ यात्री केदारनाथ धाम जा सकते हैं….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *