Wednesday, July 17, 2024
अंतरराष्ट्रीयउत्तराखंडदिल्लीभूकंप

उत्तराखण्ड में भूकंप, जम्मू-कश्मीर और पंजाब की धरती भी डोली, एक केन्द्र उत्तरकाशी तो दूसरा अफगानिस्तान बॉर्डर रहा

देहरादून- भूकंप के दो अलग अलग झटकों से आज उत्तर-पश्चिम भारत की धरती डोल गई और लोग दहल उठे। पांच फरवरी को भूकंप के दो झटके आए। पहला झटका उत्तराखंड के उत्तरकाशी और आसपास के क्षेत्र में आया। हालांकि इसकी तीव्रता कम रही। वहीं, दूसरा झटका दिल्ली एनसीआर, जम्मू कश्मीर, पंजाब आदि स्थानों पर महसूस किया गया। इसकी तीव्रता भी 5.7 दर्ज की गई। नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी की वेबसाइट के मुताबिक, उत्तराखंड में तड़के करीब 3 बजकर 15 मिनट 59 सैकेंड में भूकंप का झटका महसूस किया गया। इसकी तीव्रता रिक्टर स्कैल पर 3.6 दर्ज की गई। इसका केंद्र उत्तरकाशी जिले में जमीन के भीतर दस किमी की दूरी पर था। इससे पहले 25 जनवरी को उत्तराखंड में भूकंप का तेज झटका महसूस किया गया था। तब पिथौरागढ़ जिले और आसपास के इलाके में 4.3 तीव्रता का भूकंप आया था। फिलहाल आज के भूकंप से किसी नुकसान की सूचना नहीं है। इधर जम्मू-कश्मीर और पंजाब में भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं। शनिवार की सुबह 9.49 बजे ये झटके महसूस किए गए। इधर, दिल्ली-एनसीआर और चंडीगढ़ में भी भूकंप के झटके आने के बाद लोग डरकर घरों से बाहर निकल आए। हालांकि, देश में अभी तक भूकंप से किसी तरह के जान-माल के नुकसान की खबर नहीं आई है। इधर, पाकिस्तान में भी 5.7 तीव्रता के भूकंप की खबर है। जानकारी के मुताबिक, भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान और ताजिकिस्तान बॉर्डर पर हिंदुकुश की पहाड़ियों के नजदीक था। हालांकि, पहले जानकारी यह आई थी कि पाकिस्तान में आए भूकंप की तीव्रता 7.3 रही और इसका केंद्र इस्लामाबाद से करीब 189 किलोमीटर दूरी पर था। बाद में नेशनल सेंटर फॉर सीस्मोलॉजी ने जानकारी दी कि भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान-ताजिकिस्तान बॉर्डर पर था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *