Sunday, March 3, 2024
राष्ट्रीय

महाराष्ट्र की राजनीति में भूचाल, शरद पवार ने एनसीपी अध्यक्ष पद छोड़ा, सुनते ही रो पड़े समर्थक

महाराष्ट्र के साथ ही देश की राजनीति के मजबूत पीलर रहे शरद पवार ने एनसीपी अध्यक्ष पद छोड़ने का ऐलान कर दिया है। अपनी बायोग्राफी के विमोचन के दौरान शरद पवार द्वारा अचानक लिये गये इस फैसले के बाद एक पल के लिये बैठक में सन्नाटा पसर गया। और अगले ही पल वहां मौजूद एनसीपी के तमाम पदाधिकारी और कार्यकर्ता रोने लगे। और इसके बाद कार्यकर्ता और नेता एक के बाद एक शरद पवार से ऐसा न करने का आग्रह करने लगे।
आपको बता दें कि शरद पवार की बेटी सुप्रिया सुले ने 17 अप्रैल को कहा था कि 15 दिन में महाराष्ट्र की राजनीति में दो बड़े विस्फोट होंगे। बयान के ठीक 16वें दिन यानी आज शरद पवार ने पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया है। शरद पवार ने अपने इस्तीफे में लिखा, ’मेरे साथियो! मैं एनसीपी के प्रेसिडेंट का पद छोड़ रहा हूं, लेकिन सामाजिक जीवन से रिटायर नहीं हो रहा हूं। लगातार यात्रा मेरी जिंदगी का अटूट हिस्सा बन गया है। मैं पब्लिक मीटिंग और कार्यक्रमों में शामिल होता रहूंगा। मैं पुणे, बारामती, मुंबई, दिल्ली या भारत के किसी भी हिस्से में हूं, आप लोगों के लिए हमेशा की तरह उपलब्ध रहूंगा।
पवार ने 1999 में कांग्रेस से अलग होकर एनसीपी बनाई थी। उसके बाद से ही वे पार्टी के अध्यक्ष थे। पवार के ऐलान के बाद पार्टी कार्यकर्ता उनके समर्थन में नारे लगाने लगे। वे उनसे अपना फैसला वापस लेने की मांग कर रहे हैं। अब शरद पवार एनसीपी के मार्ग दर्शक के रूप में काम करेंगे। और जल्द ही नये अध्यक्ष का चुनाव किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *