Monday, June 24, 2024
अल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19क्राइमचमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदिल्लीदेहरादूननैनीतालपंजाबपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरबिहारराजनीतिराज्यरुद्रप्रयागहरिद्वार

DEHRADUN – मित्र पुलिस के लिये कैसे साल का पहला दिन यादगार बन गया ?

UTTARAKHAND  की मित्र पुलिस के लिये साल का पहला दिन यादगार बन गया और इसमे अहम भूमिका निभाई नगर कोतवाली की धारा चौकी के प्रभारी शिशुपाल राना ने , दरअसल जब देहरादून मे साल के आखिरी दिन यानि 31 दिसम्बर को देर रात धारा चौकी के प्रभारी शिशुपाल राना गश्त पर थे उस वक़्त उन्हे एक व्यक्ति संदिग्ध रूप से घूमते हुए मिला जिसको लोग चोर समझ रहे थे लिहाजा शिशुपाल राना ने पूछताछ की तो वो मानसिक रूप से परेशान लग रहा था और काफी डरा हुआ था।

लिहाजा पुलिस टीम उस युवक को चौकी धारा लेकर आई और खाना खिलाने के बाद पूरे भरोसे मे लेकर पूछताछ की तो पता चला की ये शख्स 24 दिसम्बर से अपने घर से बिना बताए आया है जो पानीपत का रहने वाला है इस संबंध में तुरन्त संबंधित थाना से जानकारी की गई और तब पता चला कि इसके परिजनों ने गुमसुदगी भी दर्ज कराई है ।

इसके बाद धारा चौकी के प्रभारी शिशुपाल राना ने इस युवक के परिजनों से संपर्क किया तो परिजन अपने भाई के मिलने की खबर पाकर बहुत खुश हुए और तुरंत घर से देहरादून पहुँचे और नये साल के पहले दिन देहरादून पहुँचकर सकुशल अपने भाई को पाकर रो पदे 

इसके बाद युवक के भाई गगन बटला ने देहरादून पुलिस और शिशुपाल राना और उनकी टीम को धन्यवाद दिया और बताया देहरादून पुलिस द्वारा मुझे नववर्ष पर अपने गुमसुदा भाई से मिलाकर नए साल का शानदार तोहफ़ा दिया गया लिहाजा उनका परिवार  उत्तराखंड पुलिस का हमेशा आभारी रहेगा ….

इस तरह से देहरादून पुलिस के संवेदनशील अधिकारी शिशु पाल राना ने राज्य की मित्र पुलिस की पहचान को और मजबूत बना दिया 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *