Monday, April 22, 2024
उत्तराखंडचमोलीमौसमराज्य

BIG BREAKING: उत्तराखंड में फिर दिखा प्रकृति का कहर, चमोली जिले में बादल फटने से मची तबाही

उत्तराखंड के चमोली ज़िले से एक बड़ी खबर आ रही है। जानकारी के अनुसार आज सुबह सोमवार को चमोली जिले के नारायणबगड़ में बादल फटने की घटना से सीमा सड़क संगठन यानि बीआरओ के मजदूरों के करीब 15 टेंट मलबे में दब गए….. वहीं मलबे से कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे भी बंद हो गया है। फिलहाल, मार्ग को खोलने का काम शुरू कर दिया गया है….

आपको बता दे कि नारायणबगड़ के पंती कस्बे में करीब 6 बजे बादल फटने से मंगरीगाड़ में आई बाढ़ ने भारी तबाही मचाई है…..बरसाती नाले के सैलाब से कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे के किनारे बीआरओ के मजदूरों के करीब 15 टेंट मलबे में दब गए….हादसे के दौरान मजदूर अपने ही टेंट के अंदर थे, हालाँकि जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ है। मजदूरों के परिजनों और स्थानीय लोगों ,सभी बच्चों और महिलाओं को सैलाब से बचा लिया गया है.. वहीँ, बताया जा रहा है कि ये सभी मजदूर नेपाल और झारखंड के रहने वाले हैं। वहीँ, दोपहिया वाहन और कार के भी मलबे में दबे होने की आशंका जताई जा रही हैं। फिलहाल स्थानीय प्रशासन बचाव व राहत के कार्य में जुटा हुआ है। मजदूरों और उनके परिजनों को गांव के लोगों ने अपने घरों में शरण दी है……

जिले के आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदकिशोर जोशी के मुताबिक घटना में किसी भी जान का कोई नुकसान नहीं हुआ है…. कर्णप्रयाग-ग्वालदम हाईवे को खोलने का काम भी जारी है। मौसम विभाग ने राज्य में 23 सितम्बर तक भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है….. सभी पर्वतीय जिलों में मानसून अभी भी संकट का कारण बना हुआ है । उत्तराखंड में अचानक ही मौसम बदलने के कारण आय इस सैलाब से सभी जिले परेशान और भयभीत है….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *