Wednesday, February 28, 2024
अल्मोड़ाउत्तरकाशीउत्तराखंडउधम सिंह नगरकोविड 19चमोलीचम्पावतटिहरी गढ़वालदेहरादूननैनीतालपिथौरागढ़पौड़ी गढ़वालबागेश्वरराज्यराष्ट्रीयरुद्रप्रयागहरिद्वार

कुंभ में नहीं चलेगी निशुल्क बस सेवा –  उत्तराखंड सरकार , शीतकालीन सत्र  एक दिन और चलेगा 

शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन बुधवार को भी विधानसभा की कार्यवाही चलेगी। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल की अध्यक्षता में आयोजित हुई विधानसभा की कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में यह निर्णय लिया गया। 

विदित है कि सरकार ने 21 से 23 दिसम्बर तक तीन दिन तक विधानसभा का सत्र चलाने का निर्णय लिया था। लेकिन मंगलवार शाम को एक बार फिर कार्य मंत्रणा समिति की बैठक हुई जिसमें बुधवार का कार्यक्रम तय किया गया है। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने कार्य मंत्रणा समिति की बैठक के बाद पत्रकारों से बताया कि बुधवार को आधा दिन असरकारी दिवस होगा।

उन्होंने बताया कि बुधवार को प्रश्न काल होगा। उन्होंने बताया कि बुधवार को एक बार फिर कार्य मंत्रणा समिति की बैठक होगी जिसमें सदन के आगे के कामकाज पर निर्णय लिया जाएगा।

कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, संसदीय कार्य मंत्री मदन कौशिक, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदेयश, विधायक प्रीतम सिंह, विधायक खजान दास, विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल, विधायी के सचिव प्रेम सिंह खीमपाल आदि अधिकारी मौजूद थे। 

सिर्फ पुरातात्विक महत्व के मंदिरों का ही संरक्षण – 
विधायक ममता राकेश ने भगवानपुर विधानसभा क्षेत्र में जीर्णशीर्ण संत रविदास मंदिर, महर्षि वाल्मीकी मंदिर, शिव मंदिर के रखरखाव, जीर्णोद्धार को लेकर तीर्थाटन, संस्कृति विभाग की सरकारी योजना की जानकारी मांगी।

जवाब में साफ किया गया कि संस्कृति विभाग सिर्फ उन्हीं मंदिरों, स्मारकों का सौंदर्यकरण करता है, जो पुरातात्विक दृष्टि से संरक्षित और संरक्षणाधीन स्थल घोषित होते हैं।

ग्राम पंचायत, नगर निकाय अपने क्षेत्र के मंदिर, धार्मिक स्थल का विकास, सौंदर्यकरण अपने संसाधनों से करा सकते हैं। विधायक निधि से अतिरिक्त धनराशि का प्राविधान किए जाने की व्यवस्था है।

कुंभ में नहीं चलेगी निशुल्क बस सेवा –  उत्तराखंड सरकार

विधायक काजी निजामुद्दीन ने सवाल किया कि क्या सरकार कुंभ मेला 2021 में कुंभ क्षेत्र हरिद्वार शहर और ऋषिकेश शहर में तीर्थ यात्रियों के लिए निशुल्क नगर बस सेवा चलाने का विचार कर रही है। जवाब में सरकार की ओर से स्पष्ट किया गया कि ऐसी कोई भी निशुल्क बस सेवा चलाने का कोई विचार नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *