Saturday, April 13, 2024
राष्ट्रीय

फ्रंट लाइन कोरोना वॉरियर्स तैयार करने का महाअभियान शुरु, पीएम मोदी ने किया शुभारंभ

-आकांक्षा थापा

आज प्रधानमंत्री मोदी ने देश भर के कोविड-19 हेल्थकेयर फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए क्रैश कोर्स लॉन्च कर उन्हें एक बड़ी सौगात दी है… पीएम ने 26 राज्यों के 111 ट्रेनिंग सेंटरों से कोविड-19 हेल्थकेयर फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए विशेष रूप से तैयार प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस प्रोग्राम के तहत देशभर के एक लाख फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोरोना महामारी का सामना करने के लिए तैयार किया जायेगा, जिसके लिए इन्हें कौशल से लैस किया जाएगा और नई चीजें सिखाई जाएंगी। बुधवार को प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से इस बारे में जानकारी दी गई थी। साथ ही, पीएम मोदी ने क्रैश कोर्स करने वाले हेल्थवर्कर्स को शुभकामनायें दी.

अपने सम्बोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता से कहा कि हर सावधानी के साथ, आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए हमें देश की तैयारियों को और बढ़ाना होगा। इसी लक्ष्य के साथ आज देश में करीब एक लाख फ्रंट लाइन कोरोना वॉरियर्स तैयार करने का महाअभियान शुरु हो रहा है। साथ ही पीएम मोदी ने बताया कि ये कोर्स दो से तीन महीने में ही पूरा हो जाएगा, इसलिए कम समय में हेल्थवर्कर्स तैयार हो जाते हैं…

आपको बता दें, क्रैश कोर्स करने वाले सभी फ्रंटलाइन वर्कर्स को इस विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत, उम्मीदवारों को निःशुल्क ट्रेनिंग, स्किल इंडिया का सर्टिफिकेट, भोजन व आवास सुविधा, काम पर प्रशिक्षण के साथ स्टाइपेंड और प्रमाणित उम्मीदवारों को दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा प्राप्त होगा।
यही नहीं, इन सभी को रोजगार का भी मौका मिलेगा। प्रधानमंत्री ने ये जानकारी भी दी कि कोविड-19 हेल्थकेयर फ्रंटलाइन वर्कर्स का विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा होने के बाद उम्मीदवार डीएससी/एसएसडीएम की व्यवस्था के तहत प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों, स्वास्थ्य सुविधाओं और अस्पतालों में काम कर सकेंगे।

कोविड-19 हेल्थकेयर फ्रंटलाइन वर्कर्स के विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम को PMKVY 3.0 के केंद्रीय घटक के अंतर्गत एक विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम के रूप में डिजाइन किया गया है और इसके लिए 273 करोड़ रुपए की राशि का आवंटन भी किया गया है। वहीँ, टीकाकरण अभियान में आशा कार्यकर्ताओं ने अहम भूमिका निभाई है। कोरोना महामारी के बावजूद भी दूर सुदूर के क्षेत्रों में, पहाड़ी और जनजाति क्षेत्रों में टीकाकरण अभियान को सफलतापूर्वक चलाने में हमारे आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी और गांव की तैनात स्वास्थकर्मियों ने बहुत बड़ी भूमिका अदा की है।
साथ ही, पीएम मोदी ने बताया की स्किल इंडिया मिशन देश भर में हर साल लाखों युवाओं को ज़रूरत के हिसाब से ट्रेनिंग देने में सहायता कर रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *