Wednesday, July 17, 2024
राष्ट्रीय

व्हीलचेयर पर दिल्ली की अदालत पहुंचे लालू यादव, ‘नौकरी के बदले जमीन’ घोटाले की सुनवाई आज

नौकरी के बदले जमीन घोटाले मामले में राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू यादव व्हीलचेयर पर दिल्ली की अदालत पहुंचे हैं। साथ में पत्नी राबड़ी देवी और बेटी मीसा भारती भी पहुंचीं हैं। दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में आज मामले पर सुनवाई होनी है। कोर्ट ने 27 फरवरी को सभी 16 आरोपियों को समन जारी कर पेश होने का आदेश दिया था।

बता दें कि 2004 से 2009 के बीच रेल मंत्री रहते हुए लालू यादव और उनके परिवार पर रेलवे में नौकरी के बदले लोगों से जमीन लेने का आरोप है। सीबीआई ने इस मामले में पिछले दिनों चार्जशीट दाखिल की थी। सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में आरोप लगाया है कि रेलवे की ग्रुप-डी में भर्ती के लिए भारतीय रेलवे के निर्धारित मानदंडों और प्रक्रियाओं का उल्लंघन करते हुए रेलवे में अनियमित नियुक्तियां की गईं।

तीसरी बार नोटिस भेजने पर भी सीबीआई मुख्यालय नहीं पहुंचे तेजस्वी यादव

मामले में बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सीबीआई के तीसरे नोटिस के बावजूद भी पूछताछ के लिए सीबीआई मुख्यालय नहीं पहुंचे। तेजस्वी को सोमवार को सीबीआई ने तीसरी बार नोटिस भेजा था और उन्हें मंगलवार को पेश होना था, हालांकि वे मुख्यालय नहीं पहुंचे। वहीं, सीबीआई इसे पूछताछ में असहजता के रुप में देख रही है और तेजस्वी यादव पर  कार्रवाई के लिए कानूनी राय ले रही है। इससे पहले सीबीआई ने 4 और 11 मार्च को तेजस्वी यादव को पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन उस समय भी वे व्यस्तता का हवाला देते हुए पूछताछ के लिए नहीं पहुंचे।

क्या है जमीन के बदले नौकरी घोटाले का पूरा मामला ?

लालू यादव और उनके परिवार पर आरोप है कि 2004-2009 की यूपीए-1 सरकार में रेलमंत्री रहते हुए लालू यादव और उनके परिवार ने रेलवे में नौकरी के लिए लोगों से जमीन ली थी। इसके तहत किसी ने तोहफे में अपनी जमीन दी थी तो किसी ने कम दामों में अपनी जमीन लालू परिवार को बेच दी थी। इस घोटाले में लालू यादव सहित राबड़ी देवी, बेटे तेजस्वी प्रसाद सहित उनकी बेटियों के नाम भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *